• shareIcon

न सिर्फ खाना बल्कि खाने के वक्‍त से भी होता है दिल पर असर

हृदय स्‍वास्‍थ्‍य By Shabnam Khan , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 25, 2015
न सिर्फ खाना बल्कि खाने के वक्‍त से भी होता है दिल पर असर

अपने दिल की सेहत को दुरुस्त रखने के लिए आप क्या करते हैं? व्यायाम करते हैं, खानपान का ध्यान रखते हैं, परहेज करते हैं। लेकिन क्या आप अपने खाने के समय का ख्याल करते हैंं?

भारतीय और अमेरिकी रिसर्चरों की एक टीम ने पाया कि आपकी दिल की सेहत के लिए न सिर्फ ये बात मायने रखती है कि आप क्या खाते हैं बल्कि ये बात भी बहुत जरूरी है कि आप किस वक्त खाते हैं।

एक पुरानी कहावत है, आदमी के दिल का रास्ता उसके पेट से होकर जाता है। अगर इस कहावत को असल जीवन में अपना कर चलें तो भी आजकल मुंह में पानी ला देने वाली कोई भी डिश परोसना सिर्फ कुछ मिनटों का काम रह गया है। और सिर्फ पुरुष ही क्यों, स्वादिष्ट खाना तो तकरीबन हर किसी को पसंद होता है। लेकिन इससे लोगों की खाने की सीमा और क्षमता भी सामान्य सीमा से बाहर होने लगी है। इसका नतीजा मोटापे के रूप में कहीं भी नजर आ सकता है। जरूरत से ज्यादा खाना कोई अपराध नहीं, लेकिन ऐसा कभी-कभार किया जाए तो। चिंता की बात यह है कि आजकल ऐसे मौके लोगों के लिए नियमित दिनचर्या की बात बन गए हैं। अपनी स्वाद की भूख को शांत करते समय क्या हम एक बार भी अपनी सेहत के बारे में सोचते हैं? क्या हम यह सोचते हैं कि जो हाई-कोलेस्ट्रॉल और अनसैचुरेटेड फूड खा रहे हैं, वह हमारे दिल के लिए किसी भी तरह से अच्छा है? और सबसे बड़ी बात, क्या हम टाइम देखकर खाना खाते हैं?


समय से खाना है दिल के लिए जरूरी


सैन डिआगो स्टेट यूनिवर्सिटी के बायॉलजिस्ट गिरीश मेल्कानी ने कहा, "जिन लोगों को दिल की बीमारी है उन्हें पूरी तरह से अपनी डाइट बदलने की जरूरत नहीं है, बल्कि अपने खाने के टाइम को ठीक करके भी इस बीमारी पर नियंत्रण स्थापित कर सकते हैं।" टाइम के हिसाब से खानपान के फायदे सिर्फ युवाओं को ही नहीं है। जब रिसर्चरों ने डाइट का ये तरीका उम्रदराज लोगों के साथ इस्तेमाल किया तो उनका दिल पहले से ज्यादा स्वस्थ हो गया।

इसके अलावा दिल की सेहत को बनाए रखने के लिए इन बातों का भी ख्याल रखना चाहिए।

 

घटाएं तनाव

जीवनशैली में बदलाव लाकर आप तनाव कम कर सकते हैं। रोज कम से कम 7-8 घंटे की नींद लें। व्यवस्थित रहें, काम को योजनाबद्घ तरीके से अंजाम दें और चिंता कम से कम करें।

तेल का इस्तेमाल

खाने में एक तरह के तेल का हमेशा इस्तेमाल करने के बजाए दो-तीन तरह का तेल रखें और इन्हें बदल-बदल कर इस्तेमाल करें। एक व्यक्ति को औसत रोज अधिकतम 3 चम्मच से ज्यादा तेल नहीं खाना चाहिए। एक साथ ज्यादा तेल न खरीदें। तेल हमेशा ठंडी, सूखी जगह पर रोशनी से दूर रखें।

धूम्रपान को कहें अलविदा

आपकी धूम्रपान की आदत छुड़ाने में खान-पान की भूमिका अहम होती है। विटामिन से भरपूर चीजें जैसे कि रसीले फल, शिमला मिर्च, आंवला आदि खाने से धूम्रपान करने की इच्छा कम होती है। शुगर फ्री केंडी से अपने मुंह को व्यस्त रखें। धूम्रपान की तलब लगने पर कुछ सूखे मेवों की महक आपका ध्यान भटका सकती है।

हाइपरटेंशन पर रखें नियंत्रण

जिन लोगों को हाइपरटेंशन होता है, उन्हें नमक के इस्तेमाल पर कड़ा नियंत्रण रखना चाहिए। अपनी डाइनिंग टेबल पर नमक न रखें। खाने की रेडीमेड चीजों के इस्तेमाल से बचें, क्योंकि इनमें ज्यादा मात्रा में सोडियम होता है। अपने फल, सलाद और दही में नमक का इस्तेमाल न करें।

Image Source - Getty Images
Read More Articles on Heart Health in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK