Yoga For Immunity: इम्‍यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ, शरीर की जाम पड़ी सारी नसों को खोल देते हैं ये 2 योगासन

Updated at: Apr 21, 2020
Yoga For Immunity: इम्‍यूनिटी बढ़ाने के साथ-साथ, शरीर की जाम पड़ी सारी नसों को खोल देते हैं ये 2 योगासन

Yoga For Immunity: योग करने से न केवल आपका तन और मन स्‍वस्‍थ रहता है बल्कि इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता का भी विकास होता है।  

Atul Modi
योगाWritten by: Atul ModiPublished at: Apr 21, 2020

योग आसन और ध्यान का अभ्यास प्रतिरक्षा प्रणाली को प्राकृतिक सहायता प्रदान करता है। आपके शरीर में तनाव हार्मोन को कम करके, योग प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर होने से बचाता है। इसके अलावा, योग फेफड़ों और श्वसन पथ को ठीक करता है, लसीका प्रणाली को उत्तेजित करते हुए शरीर से विषाक्त पदार्थों को हटाता है, और आपके अंगों के इष्टतम कामकाज को सुनिश्चित करता है। यह साबित करने के लिए पर्याप्त शोध है कि नियमित रूप से बीस मिनट का ध्यान भी एंडोर्फिन (आपके शरीर के रसायन जो आपको अच्छा महसूस कराते हैं) को बढ़ा सकता है- और कोर्टिसोल (रसायन जो तनाव का कारण बनते हैं) के स्तर को कम करता है। यह, बदले में, मन की स्थिति सकारात्मक बनाता है और बेहतर स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है। योग और ध्यान अभ्यास आपकी प्रतिरक्षा सुधारने के लिए जाने जाते है। यहां कुछ आसन हैं जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बना सकते हैं। 

धनुरासन (Dhanurasana)

dhanurasana

योग करने की विधि:

  • अपने पेट के बल लेटकर शुरुआत करें
  • अपने घुटनों को मोड़ें और अपनी हथेलियों से अपनी एड़ियों को पकड़ें
  • मजबूत पकड़ हो
  • जितना हो सके अपने पैरों और भुजाओं को ऊपर उठाएं
  • ऊपर देखिए और कुछ देर तक आसन में रहें

लाभ

  • कंधो को खोलता है
  • पेट की चर्बी को जलाता है
  • पेट के अंगों की मालिश करता है
  • पीठ और पेट की मांसपेशियों को मजबूत बनाता है
  • प्रजनन प्रणाली उत्तेजित होती है
  • छाती, गर्दन और कंधे खुलते है
  • रीढ़ को लचीला बनाता है
  • मासिक धर्म की परेशानी से राहत दिलाता है
  • कब्ज को कम करने में मदद करता है 

सावधानी

  • यदि अपके कंधों, कलाई, पीठ या गर्दन घायल हैं तो इस आसन को न करें 
  • गर्भवती महिलाओं को यह आसन नहीं करना चाहिए
  • अगर आपको हाल ही में पेट या गर्दन की कोई सर्जरी हुई हो तो इस आसन न करें 

चक्र आसन (Chakrasana)

chakrasana

योग करने की विधि: 

  • लेट जाईए
  • अपने घुटनों को मोड़ें और सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर मजबूती से रखे हों
  • अपनी हथेलियों को अपने कानों के बगल में रखें, उँगलियाँ आगे की ओर
  • श्वास लें, अपनी हथेलियों और पैरों पर दबाव डालें और अपने पूरे शरीर को ऊपर उठाएं
  • अपने सिर को धीरे से पीछे गिरने दें और अपनी गर्दन को आराम से रखें
  • अपने शरीर के वजन को अपने चार अंगों के बीच समान रूप से वितरित रखें 

श्वास क्रिया की विधि

शरीर को ऊपर उठाते समय श्वास लें

लाभ

  • छाती का विस्तार होता है और फेफड़ों को अधिक ऑक्सीजन मिलती है- यह अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है
  • यह शरीर में तनाव को कम करता है
  • आंखों की रोशनी तेज करता है
  • पीठ को मजबूत बनाने में मदद करता है और रीढ़ की लोच को बढ़ाता है
  • यह पेट क्षेत्र में वसा को कम करता है
  • यह हाथों और पैरों की मांसपेशियों को मजबूत करता है
  • यह अंतःस्रावी ग्रंथियों को उत्तेजित करता है और शरीर के चयापचय को इष्टतम स्तर पर बनाए रखता है
  • यह यकृत, प्लीहा और गुर्दे की प्रक्रियाओं को उत्तेजित करता है
  • यह रक्त की शुद्धि और परिसंचरण को बढ़ाता है
  • शांति और विचार की स्पष्टता देता है
  • यह थकान को दूर करता है और आपको ऊर्जावान महसूस कराता है
  • बांझपन के लिए अच्छा है
  • सहनशक्ति का निर्माण करता है
  • शरीर और मन से नीरसता को दूर करता है

सावधानी

किसी भी तरह की पीठ की चोट या रीढ़ की समस्याओं से पीड़ित चिकित्सकों के लिए यह आसन की सिफारिश नहीं की जाती है। जिन लोगों की रक्तचाप उच्च है, इस आसन को न करें।

श्वास क्रिया की विधि

श्वास लेते हुए आप अपने शरीर को ऊपर उठाएं। साँस छोड़ते हुए आप आसन से बाहर निकलें

आप स्वस्थ और प्राकृतिक खाद्य पदार्थों को शामिल करके अपने आहार को संशोधित कर सकते हैं। विटामिन सी से भरपूर फलों और सब्जियों का सेवन करके अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को विकसित करें। विटामिन सी के लिए ब्रोकोली, फूलगोभी, ब्रसेल स्प्राउट्स और शिमला मिर्च जैसी सब्जियां, और संतरे, कीवी, नींबू, अमरूद, अंगूर जैसी फल चुनें। विटामिन डी के लिए डेयरी उत्पाद, संतरे का रस, सोया दूध, और अनाज शामिल करें। भूरा चावल, बाजरा, गहरे रंग की पत्तेदार सब्जियां विटामिन बी के लिए एक बढ़िया स्रोत हैं। सूरज की रोशनी भी आपके लिए बेहद फायदेमंद है। जल्दी जागने की कोशिश करें।

INPUTS: YOGA MASTER/ SPIRITUAL GURU/ LIFESTYLE COACH- GRAND MASTER AKSHAR

Read More Articles On Yoga In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK