अक्सर बना रहता है पीठ और कमर दर्द में दर्द तो आज से ही शुरू करें ये 2 एक्सरसाइज, मिल जाएगी राहत

Updated at: Sep 26, 2019
अक्सर बना रहता है पीठ और कमर दर्द में दर्द तो आज से ही शुरू करें ये 2 एक्सरसाइज, मिल जाएगी राहत

पीठ और कमर दर्द कई तरह की समस्याओं के कारण हो सकता है। अगर आपके पीठ के ऊपरी हिस्से में लगातार दर्द की समस्या बनी रहती है, तो ये 2 आसान एक्सरसाइज आपको इस दर्द से छुटकारा दिलाने में मदद करेंगी।

Anurag Anubhav
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Anurag AnubhavPublished at: May 23, 2011

पीठ या कमर में दर्द होने पर बहुत परेशानी होती है। बैक पेन होने पर सोना, लेटना, बैठना, खड़े होना भी मुहाल हो जाता है। इस तरह का दर्द होने पर किसी भी पोजीशन में आराम नहीं मिलता है। कई बार मांसपेशियों में खिंचाव के कारण पीठ और कमर में दर्द की समस्या होती है। मगर यदि ये दर्द अक्सर होता है, तो आपकी समस्या गंभीर भी हो सकती है। कई बार मांसपेशियों के कमजोर हो जाने के कारण भी पीठ और कमर में दर्द की शिकायत होती है।

कमजोर मांसपेशियां सख्त होकर कठोर बैन्ड जैसी बन जाती हैं, जिससे वे मोच से खुद का बचाव कर सकें। यह मांसपेशियों के खुद को बचाने का एक कुदरती तरीका है। जैसे ही मांसपेशियां बुरी तरह से थक जाती हैं, तब ये तंतुमय (फाइब्रस) और कमजोर मांसपेशियां ऐंठने लगती हैं, जिससे कि कंधे के सिरे और गर्दन की ओर तेज दर्द का एहसास होता है। कई बार ये दर्द लंबे समय तक बना रहता है और कई बार कुछ घंटों में ठीक हो जाता है। ऐसे दर्द से आप एक्सरसाइज के द्वारा आसानी से छुटकारा पा सकते हैं। आइए आपको बताते हैं कमर या पीठ दर्द (Back Pain) से राहत पाने के लिए आसान एक्सरसाइज।

इसे भी पढ़ें:- क्यों होता है साइटिका का दर्द और क्या है इलाज, जानें एक्सपर्ट की राय

कमर दर्द के लिए स्टैंडिंग स्ट्रेच

  • अपने पैरों को समानांतर रखते हुए दीवार के बगल में खड़े हो जाएं।
  • अपने कंधे के जितनी ऊंचाई तक अपने एक हाथ की उंगलियों को दीवार पर रखें। ध्यान रखे अपनी भुजा को पूर्ण रूप से फैलाएं।
  • अपने दूसरे हाथ को आपके हिप के एक तरफ रखें।
  • अब अपनी उँगलियों को इस प्रकार हिलाएँ कि आप अपनी उँगलियों से एक प्याले का आकार बना लें।
  • अब इस बात का ध्यान रखें कि सिर्फ़ आपकी उंगलियों के पोर ही दीवार को छुएं।
  • अपनी भुजा को बाहर की दिशा की ओर हल्का घुमाएं, जिससे कि आपका अंगूठा छत की ओर संकेत करे।
  • अपने कन्धे को आपके हाथ की सीध पर रखें और सांस लेते हुए ‘कोलर बोन’ को पीछे की ओर घुमाते हुए चेस्ट को उपर उठाएं।
  • अब कमर से ट्विस्ट करते हुए आपके शरीर के ऊपरी भाग को घुमाइए, अपने हाथों और उंगलियों को इस तरह तानिए, जैसे कि दीवार आपसे दूर जा रही है।

लाभ

इस स्ट्रेच से हाथ, कन्धों और चेस्ट में होनेवाले तनाव (टाईटनेस) के गहरे स्तर को घटाया जा सकता है। इसके अभ्यास से आपके कंधों, पीठ और गर्दन यानी अपर बैक के दर्द से आसानी से राहत मिल सकती है।

स्ट्रेचिंग और ओपनिंग

  • स्ट्रेच को सही ढंग से करने के लिए अपने पीछे कोहनियों को मोड़े और अपनी उंगलियों को इस तरह मिलाएं, आपकी हथेलियां अलग अलग हो जाएं।
  • अब अपनी कोहनियों को मुड़ी हुई स्थिति में रखते हुए कन्धों को ऊपर उठाइए, अपने कन्धों को पीछे की ओर खींचे, इस बात का ध्यान रखें कि आपकी कोहनियां एक दूसरे की ओर रहें और आपकी ऊपरी भुजाएं एक दूसरे के समानांतर हों।

लाभ

ये तरकीबेें आपको कमर दर्द की तकलीफ से राहत दिला सकती हैं। इसके साथ ही आपको चाहिए कि क्रियाशील जीवनशैली अपनायें और एक्टिव रहें। अपने आहार पर‍ नियंत्रण रखें और वजन को अधिक न बढ़ने दें।

Read more articles on Exercise Fitness in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK