यामी गौतम ने शेयर की नेक इंजरी से उभरने का अपना नेचुरल एक्सपीरिएंस, आप भी जानें योग से पेन मैनेजमेंट का तरीका

Updated at: Aug 25, 2020
यामी गौतम ने शेयर की नेक इंजरी से उभरने का अपना नेचुरल एक्सपीरिएंस, आप भी जानें योग से पेन मैनेजमेंट का तरीका

योग से पेन मैनेजमेंट करने का यामी गौतम का ये तरीका आपको भले ही दर्दनाक और धीमा लग सकता है, पर ये शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है।

Pallavi Kumari
योगाWritten by: Pallavi KumariPublished at: Aug 25, 2020

रोजमर्रा के जीवन में हम अक्सर छोटी-मोटी चोटों का शिकार होते हैं, और कभी कभी अनजाने में लगी चोट भी गंभीर हो जाती है। पर क्या आप गंभीर चोट लगने पर भी इसका इलाज खुद कर सकते हैं या शरीर को इसे खुद ही ठीक करने का मौका दे सकते हैं? पर अभिनेत्री यामी गौतम ने ये कर दिखाया है। बॉलीवुड अभिनेत्री यानी गौतम ने अपने इंस्टाग्राम पर ऐसा ही कुछ एक्सपीरिएंस शेयर किया है। उन्होंने अपने इसे पोस्ट में नेक इंजरी के बारे में खुलासा किया और साथ ही बताया कि उन्होंने इस चोट से कैसे खुद की रिकवरी करवाई। आपको जानकर हैरानी होगी कि यामी ने इसके लिए किसी दवाई और थेरेपी की मदद नहीं ली, बल्कि योग पर फोकस बनाए रखते हुए पेन मैनेजमेंट सीखा। 

insideyamigautam

नेक इंजरी से उभरने का नेचुरल एक्सपीरिएंस

अभिनेत्री यामी गौतम ने अपने पोस्ट में लिखा कि लॉकडाउन में, मुझे कुछ ऐसा एक्सप्लोर करने को मिला जो मैं पहले कभी नहीं कर सकती थी। यानी ने लिखा ''ये पोस्ट बहुत पर्सनल है...मुझे नेक इंजूरी का सामना करने के बाद मुझे हमेशा एक्स्ट्रा सतर्क रहने की जरूरत पड़ी है। खासकर डांस पर पड़ने वाले फिजिकल एक्जर्शन, वर्कआउट, नॉन स्टॉप ट्रैवल और फिजिकल एक्ट‍िविटी के दौरान...खैर, अपने इस दर्द को कभी जताए बिना अंदर ही अंदर सहकर खुद को उसके प्रति एडजस्ट किया। हर बार मैं योग करने की कोश‍िश करती लेक‍िन हर बार मैं खुद को और ज्यादा दर्द देती...इसल‍िए मेरा अनुभव मुझे कभी इसे कन्ट‍िन्यू रखने को प्रेरित नहीं करता था। लेक‍िन इस बार मैंने खुद के तरीके से अपने आप को टॉर्चर किया और अपनी बॉडी के घाव को अंदर से उभरने दिया और ये ऐसा काम किया जैसे पहले कभी नहीं हुआ था।''

 
 
 
View this post on Instagram

This post is very personal... Having suffered a serious neck injury, Iv always had to be extra cautious - esp owing to the fact the amount of physical exertion due to dance , workout, non stop travel, physical activity, action, painful footwear etc etc & this list is endless, resonates with being an actor... somehow it’s always been about never expressing the pain beneath the surface & rather conditioning your ownself to bear it & like its said,,,the show must go on... But this lockdown, I got to explore something which I couldn’t before ! Everytime I would try practising Yoga, I would be left more in pain owing to my condition, hence my experience never encouraged me to continue.. but this time I self-tutored my way through & allowed my body to heal itself inside out and it has worked like never before ! This lockdown was not about ‘looking fit’ or ‘ workout of the day’ ... it was the time where I listened & just went with the flow ! I am no expert (which you shall clearly see in the images😋) ! I took my first baby step towards this journey, which shall not stop ... A special thanks to @sarvesh_shashi & @smeghe for being instrumental in this soulful endeavour.. I am sure you can’t wait to meet & make those necessary corrections which you shall be tempted to make as soon as you see them 😋☺️

A post shared by Yami Gautam (@yamigautam) onAug 22, 2020 at 11:15pm PDT

इसे भी पढ़ें : Yoga Myths: योगासन के बारे में ये 5 बातें हैं पूरी तरह गलत और भ्रामक, इन्हें सच मानने वाले ही नहीं करते योग

योग से पेन मैनेजमेंट का तरीका

यामी की इस पोस्ट से आप समझ गए होंगे कि यामी ने चोट लगने के बाद तुरंत डॉक्टर की मदद नहीं ली और न ही दवाओं की। उन्होंने कोई पैनिक नहीं किया और दर्द को सहते हुए अपने काम और फिजिकल एक्ट‍िविटी को लगातार करती रहीं। दरअसल इसे आप पेन मैनेजमेंट का एक तरीका भी मान सकते हैं। जब हम शरीर को खुद से हीलिंग करने का मौका देते हैं। यामी ने यही किया और इसमें योग की मदद ली। यामी ने ट्री-पोज (Tree Pose Yoga) की भी मदद ली है और दूसरे पोस्ट में इसके बारे में बताया है। यामी ने इस पोज के फायदे भी बताए। उन्होंने लिखा कि ये योगा पोज बैलेंस और पैरों में स्टेबिलिटी बढ़ाती है, इसी के साथ इसके कई और फायदे भी हैं।

पेन मैनेजमेंट के लिए किस प्रकार के योग करें?

विनीयोग (Viniyoga) 

जब आपका शरीर घायल होता है या दर्द होता है, तो आप निश्चित रूप से धीमी गति से चलने वाले, कोमल अभ्यास चाहता है। सौम्य योग दिनचर्या, जिसे विनीयोग (Viniyoga) के रूप में जाना जाता है, एक स्व-देखभाल का तरीका है, जो भौतिक चिकित्सक द्वारा डिजाइन किया गया व्यायाम है। विनियोग योग का एक अनुकूलित रूप है, जो धीमी गति से फैलने और गहरी सांस लेने पर केंद्रित है। इस तरह के योग का उपयोग अक्सर पीठ दर्द और गठिया के दर्द को कम करने के लिए किया जाता है।

इसे भी पढ़ें : क्‍या आप रोजाना ध्‍यान करते हैं? तो जानिए कहीं आप भी तो नहीं हो रहे ध्‍यान से जुड़ी इन 5 गलतफहमियों का शिकार

अयंगर योग (Iyengar yoga)

अयंगर योग एक और धीमी गति वाला प्रकार का योग है, जो सटीक शारीरिक संरेखण (precise bodily alignment) पर केंद्रित है। वहीं इसमें पट्टियां, ब्लॉक और कंबल आदि का उपयोग भी किया जाता है, जो विशेष रूप से तब सहायक हो सकता है, जब आपको बहुत दर्द हो रहा हो।

इस तरह आप यामी गौतम से पेन मैनेजमेंट की ये नेचुरल कला सीख सकते हैं और साथ ही इन दोनों योग पोज की भी मदद ले सकते हैं। ये आपके शरीर में दर्द को संतुलित कर सकते हैं और आपकी स्टेबिलिटी और सहनशीलता को बढ़ा सकते हैं।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK