Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

विश्व मोटापा दिवस

लेटेस्ट
By अनुराधा गोयल , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 23, 2011
विश्व मोटापा दिवस

मोटापे से बचने के लिए जरूरी है इस पर नियंत्रण, जिससे भविष्य में होने वाली गंभीर समस्याओं से आसानी से बचा जा सके।

vishwa motapa diwas in hindi

मोटापा यानी ओबेसिटी आज एक आम बीमारी बन गई है, मोटापा एक अभिशाप है। मोटापे के कारण पूरी काया खराब हो जाती है और आप कई गंभीर बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। विश्व मोटापा विरोधी दिवस मनुष्य के मोटापा रोकने की ओर पहल है। मोटापे से बचने के लिए जरूरी है कि शुरूआत में ही इस पर नियंत्रण पा लिया जाए ताकि भविष्य में होने वाली गंभीर समस्याओं से आसानी से बचा जा सके। इस बीमारी से ग्रस्त लोग मानसिक रूप से भी अस्वस्थ होते है। आइए जानें विश्व मोटापा दिवस के बारे में।

 

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया भर में एक अरब 20 करोड़ लोग मोटे लोगों की श्रेणी में हैं। यह समस्या भारत जैसे विकासशील देशों में भी तेजी से बढ़ रही है। एक अनुमान के अनुसार केवल भारत में ही ढाई करोड़ लोग मोटापे से ग्रस्त हैं।
  • विश्व मोटापा दिवस मोटापे की समस्या को कम करने के लिए मनाया जाता है। यह तो सभी जानते हैं मोटापा शरीर में चर्बी इकट्ठी होने के कारण होता है।
  • मोटापे यानी शरीर में बढ़ी अधिक चर्बी को कम करने के लिए आपको अधिक से अधिक शारीरिक श्रम करना चाहिए।
  • मोटापा कम करने के लिए आप सुबह के सैर कर सकते हैं, लेकिन सैर भी आपको कम से कम 30-40 मिनट करनी जरूरी है।
  • विश्व मोटापा दिवस का लक्ष्य है लोगों को मोटापे से होने वाली बीमारियों के विषय में जागरूक करना। मोटापा बढ़ने के कारण है, आपका असंतुलित खानपान, ज्यादा तला-भुना और जंकफूड इत्यादि से आपका वजन बढ़ता है।
  • ज्यादा तला-भुना खाने से शरीर की नाडि़यों में चर्बी जमने लगती है और फिर हृदय रोग, मधुमेह जैसी भयंकर बीमारियां पनपने लगती हैं।
  • मोटापा हृदय रोगों, मधुमेह और उच्च रक्तचाप के अलावा जोड़ों की समस्याओं, संतानहीनता और कुछ तरह के कैंसर की आशंका को भी बढ़ाता है। साथ ही मोटापा आयु को भी कम कर देता है। मोटापे के लिए सबसे अधिक जिम्मेदार होते हैं फास्ट फूड जो दिल के दौरे, मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों के मुख्य कारण हैं।
  • समय रहते आप चाहे तो अपने मोटापे को कंट्रोल कर सकते हैं। आपको कम वसा और हरी पत्तेदार सब्जियों से युक्त भोजन लेना चाहिए।
  • खाना स्वादिष्ट होने पर भी अधिक नहीं खाना चाहिए बल्कि अपनी जीभ पर नियंत्रण करते हुए भूख से थोड़ा कम ही खाना चाहिए।
  • यदि आप शुरू से ही अपनी जीवनशैली में व्यायाम और खानपान पर ध्यान देंगे तो मोटापे की समस्या आएगी ही नहीं।
  • वर्तमान समय में भारत में मोटापा एक गंभीर समस्या बनता जा रहा है। लाखों लोग आज इस बीमारी से ग्रस्त है। भारत में 30 प्रतिशत स्कूली बच्चे, 47 प्रतिशत पुरुष और 33 प्रतिशत महिलायें मोटापे के शिकार हैं। ऐसे में आपको चाहिए की मोटापा होने के कारणों को ध्यान में रख उनसे बचाव करें।


    मोटापे से बचने के उपाय

  • सुबह का नाश्ता पौष्टिक हो।
  • दिन में दो बार अधिक खाने से अच्छा है कि तीन या चार बार थो़ड़ा-थो़ड़ा कर खाएं।
  • चॉकलेट, चिप्स, पिज्जा, बर्गर, कोल्डड्रिंक आदि से परहेज करें।
  • सुबह की सैर व व्यायाम को दिनचर्या में शामिल करें।
  • धूम्रपान को त्याग दें।
  • नियमित स्वास्थ्य जांच कराएं।

Written by
अनुराधा गोयल
Source: ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभागOct 23, 2011

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Trending Topics
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK