World No Tobacco Day 2020: जानें धूम्रपान से किन बीमारियों का बढ़ता है खतरा और कैसे छोड़ें सिगरेट की लत?

Updated at: May 27, 2020
World No Tobacco Day 2020: जानें धूम्रपान से किन बीमारियों का बढ़ता है खतरा और कैसे छोड़ें सिगरेट की लत?

31 मई को विश्‍व तंबाकू निषेध दिवस या‍ World No Tobacco Day मनाया जाता है जिसका लक्ष्‍य अधिक से अधिक लोगों को इससे मुक्‍त करवाना है। 

Sheetal Bisht
अन्य़ बीमारियांWritten by: Sheetal BishtPublished at: Jun 01, 2011

आज दुनियाभर में धूम्रपान व तंबाकू के सेवन के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कई अभियान चलाए जा रहे हैं। जिनमें से एक विश्‍व तंबाकू निषेध दिवस है। हर साल 31 मई को विश्‍व तंबाकू निषेध दिवस या‍ World No Tobacco Day मनाया जाता है ताकि ज्‍यादा से ज्‍यादा लोग इस बारे में जागरूक हो सकें। तंबाकू और धूम्रपान के कारण आज लाखों लोग कई गंभीर बीमारियों का शिकार होते जा रहे है। तंबाकू के सेवन से कैंसर जैसी घातक बीमारियों का खतरा बढ़ता है, जो कि समय से पहले मृत्‍यु का कारण भी बन रहा है। तमाम जानकारियों के बाद भी किशोर तंबाकू, बीड़ी या सिगरेट की लत के आदि होते जा रहे हैं। इसलिए जितनी जल्‍दी हो सके आप इस बुरी आदत का त्‍याग कर एक स्‍वस्‍थ और खुशहाल जिंदगी बिताएं। 

पूरी दुनिया में तम्बाकू के खिलाफ अभियान चलाये जा रहे हैं और लोगों को इसके प्रति सचेत किया जा रहा है कि तम्बाकू जीवन के लिए खतरनाक और जानलेवा है। हाल ही में भारत सरकार ने तंबाकू उत्पादों की बिक्री को कम करने के लिए तंबाकू उत्पादों पर छपने वाली चेतावनी को अधिक ग्राफिकल बनाने की घोषणा की है। यह आदेश आने वाले 1 दिसंबर से लागू होगा जिसके तहत फेंफड़ो और मुंह के कैंसर से ग्रसित लोगों की फोटो तंबाकू उत्पादों पर लगाई जाएंगी, जिससे तंबाकू खरीदने वालों पर इसका ज्यादा प्रभाव पड़े।

गौरतलब है कि इसी के तहत सरकार ने धूम्रपान निषेध कानून बनाया जिसमें सार्वजनिक जगहों पर धूम्रपान करने वालों के खिलाफ दंड का प्रावधान है। हालांकि यह अभी तक निश्चित नहीं है कि सार्वजनिक जगहों में किस किस जगह को शामिल किया गया है। धूम्रपान के सेवन से कई दुष्‍‍परिणामों को झेलना पड़ सकता है। इनमें फेफड़ें का कैंसर, मुंह का कैंसर, हृदय रोग, स्ट्रोक, अल्सर, दमा, डिप्रेशन आदि भयंकर बीमारियां भी हो सकती हैं। इतना ही नहीं महिलाओं में तंबाकू का सेवन गर्भपात या होने वाले बच्चे में विकार उत्पन्न कर सकता है। विश्व स्वास्‍थ्य संगठन के मुताबिक निको‍टीन से हर साल 54 लाख मौतें होती है।

मालूम हो तंबाकू में कैंसर पैदा करने वाले तत्व निको‍टीन , नाइट्रोसामाइंस, बंजोपाइरींस, आर्सेनिक और क्रोमियम अत्यधिक मात्रा में पाए जाते हैं जिनमें निकोटिन, कैडियम और कार्बनमोनो ऑक्साइड स्वा‍स्‍थ्‍य के लिए बेहद हानिकारक है। गौरतलब है कि तंबाकू, धूम्रपान, नशा,अल्‍‍कोहल इत्यादि को छोड़ने के लिए मजबूत विल पॉवर का होना बेहद जरूरी है लेकिन नामुमकिन कुछ भी नहीं है। हालांकि ध्रूमपान की लत छुड़ाने के लिए आज के समय में कई चिकित्सीय विधियां उपलब्ध है।

इसे भी पढें: धूम्रपान व तंबाकू करता है हड्डियां कमजोर

धूम्रपान से होने वाली बीमारियों के लक्षण

  • सांस लेन में दिक्कत होना ।
  • सीने में दर्द की शिकायत रहना ।
  • भूख ना लगना।
  • हमेशा थकान, नींद की कमी और तनाव महसूस होना ।
  • गले संबंधी समस्याएं या फिर लंबे समय तक खांसी रहना या फिर खांसी में खून का निकलना।
  • मुंह में छाला पड़ना या शरीर में कोई जख्म होना जो लंबे समय से ठीक न हो रहा हो ये भी अलग-अलग कैंसर के लक्षण है।

धूम्रपान से बचने के उपाय

  • धूम्रपान से बचने के लिए जरूरी है कि विल पॉवर मजबूत की जाए। यानी दृढ़ संकल्प किया जाना जरूरी है। इसके साथ ही चिकित्सीय विधियों को अपानाया जा सकता है।
  • नशामुक्त केंद्र पर जाकर इलाज कराया जा सकता है।
  • ध्रूमपान छोड़ने के लिए च्यूइंगम, स्प्रे और इनहेलर जैसी चीजों का सेवन किया जा सकता है।
  • समय रहते डॉक्टर्स की सलाह लेकर तुरंत इलाज शुरू करवाया जा सकता है।
  • अपने आहार में सुधार लाकर भोजन में एंटीऑक्सीडेंट्स युक्त फलों और सब्जियों को खूब खाना चाहिए। आंवला, आम और हल्दी के सेवन से मुंह संबंधी बीमारियों से छूटकारा पाया जा सकता है।
  • रेशेदार यानी फाइबर युक्त आहार पर्याप्त मात्रा में लेना चाहिए।
  • अपने आपको तनाव से दूर रख अधिक से अधिक व्यस्त रहना चाहिए।
  • तंबाकू और धूम्रपान से होने वाले नुकसान को ध्यान में रख इससे दूर रहना चाहिए।
  • कैलोरी युक्त चीजों का सेवन कम करें और पेय पदार्थों का अधिक।
  • प्रतिदिन व्यायाम और योगा करें।
  • घर में किसी भी तरह का नशीला पदार्थ न रखें और ऐसी जगहों पर जाने से बचें जहां नशीले पदार्थों का सेवन किया जाता हो।
  • अपने समय को व्‍यतीत करने के लिए परिवार के साथ अधिक से अधिक समय बिताएं।

इसे भी पढें: सावधान! सिगरेट की तरह ही हानिकारक है स्‍मोकलेस तंबाकू और हुक्‍का

तम्बाकू निषेध दिवस के अवसर पर तम्बाकू के प्रयोग के खिलाफ ऐसा माहौल तैयार करें जिससे लोग अधिक से अधिक तंबाकू, धूम्रपान और नशीले पदार्थों का सेवन करने से अपने को रोक पाएं।

Read More Article On Other Diseases

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK