World Hepatitis Day: वैक्सीन से हेपेटाइटिस B को कंट्रोल करने में मिली मदद, अब सिर्फ 1% बच्चे हैं प्रभावित: WHO

Updated at: Jul 28, 2020
World Hepatitis Day: वैक्सीन से हेपेटाइटिस B को कंट्रोल करने में मिली मदद, अब सिर्फ 1% बच्चे हैं प्रभावित: WHO

WHO का कहना है कि यहां तक कि COVID-19 महामारी के बीच भी, हेपेटाइटिस बी का टीका एक एक मां और बच्चे तक पहुंचना चाहिए।

Pallavi Kumari
लेटेस्टWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jul 28, 2020

विश्व हेपेटाइटिस दिवस (World Hepatitis Day 2020) हर साल 28 जुलाई को दुनिया भर में वायरल हेपेटाइटिस के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। इस साल 2020 में विश्व हेपेटाइटिस दिवस का थीम ‘द मिसिंग मिलियंस’ (Find the Missing Millions) रखा गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मानें, तो दुनिया भर में, 290 मिलियन पीड़ित लोग हेपेटाइटिस से अनजान होते हैं। इस साल के थीम में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इन्हीं "लापता लाखों" लोगों को खोजने के लिए, दुनिया भर के लोगों से कार्रवाई करने और जागरूकता बढ़ाने का आह्वान किया है। इसके साथ ही विश्व स्वास्थ्य संगठन का एक उत्साह बढ़ाने वाला बयान भी सामने आया है। WHO की मानें, तो दुनिया भर में हेपेटाइटिस बी से संक्रमित बच्चों की आंकड़ा सिर्फ 1% तक ही बचा है।

insideWorldHepatitisDay

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के इस अनुमान के अनुसार हेपेटाइटिस बी (HBV) से ग्रसित पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों का अनुपात 2019 में प्री-वैक्सीन युग (1980 और 2000 के दशक की शुरुआत के बीच) लगभग 5% था, जो अब इससे घटकर 1% रह गया है। इसे आंकड़े को पाना वायरल हेपेटाइटिस को खत्म करने की इस राह में एक मील के पत्थर के रूप में देखा जा सकता है।

डब्लूएचओ के डॉ. टेड्रोस अधनान घेब्रेयियसस की मानें, तो “ दुनिया में किसी शिशु की बस इस कारण से मृत्यु न हो कि उस तक हेपेटाइटिस बी टीका नहीं पहुंच पाया। आज इस मील के पत्थर को पाने का मतलब ये भी है कि हमें भावी पीढ़ियों को लिवर की बीमारी और पैनक्रिएटिक कैंसर से मरने नहीं देना है।” बता दें कि हेपेटाइटिस बी के टीके का बाल संचरण रोग को नियंत्रित करने और जीवन को बचाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण रणनीतियों में से एक है। 

इसे भी पढ़ें : World Hepatitis Day 2020: लिवर का खतरनाक रोग है हेपेटाइटिस, जानें इसके लक्षण, कारण और बचाव के बारे में

क्या है वायरल हेपेटाइटिस?

वायरल हेपेटाइटिस (Viral Hepatitis) एक ऐसी बीमारी है, जो वायरस के कारण लिवर को प्रभावित करती है। वायरल हेपेटाइटिस के मुख्य रूप से दो प्रकार हैं। एक तो संक्रामक हेपेटाइटिस और दूसरा रक्त जनित हेपेटाइटिस।

  • -संक्रामक हेपेटाइटिस भोजन और पानी से फैलता है और रक्त जनित हेपेटाइटिस शरीर के तरल पदार्थों के संपर्क में आने पर फैलता है।
  • - संक्रामक हेपेटाइटिस में ए और ई आते हैं। रक्त जनित हेपेटाइटिस में बी और सी आता है। 
insideHepatitis

गौरतलब है कि डब्ल्यूएचओ गर्भवती महिलाओं के परीक्षण के माध्यम से एचबीवी के मातृ-बच्चे के संचरण को रोकने के लिए तीव्र प्रयासों के माध्यम से एकजुट और कदम बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। विश्व स्तर पर, 250 मिलियन से अधिक लोग क्रोनिक एचबीवी संक्रमण के साथ जी रहे हैं। ऐसे शिशु विशेष रूप से कमजोर होते हैं। HBV लिवर पर हमला करता है और हर साल लगभग 900 000 लोगों की जान इससे चली जाती है।

शिशुओं को एक सुरक्षित और प्रभावी वैक्सीन के माध्यम से एचबीवी से बचाया जा सकता है, जो संक्रमण के खिलाफ 95% से अधिक सुरक्षा प्रदान करता है। डब्ल्यूएचओ का सुझाव है कि सभी शिशुओं को जन्म के बाद जितनी जल्दी हो सके हेपेटाइटिस बी के टीके की पहली खुराक मिलनी चाहिए। अधिक से अधिक 24 घंटे के भीतर और कम से कम जन्म के 2 घंटे बाद।

इसे भी पढ़ें : World Hepatitis Day 2020: अमिताभ बच्चन को एक फैन की गलती के कारण हुआ था हेपेटाइटिस रोग, 75% हो चुका है खराब

हेपेटाइटिस विश्व के विकासशील देशों की सबसे बड़ी बीमारी है। खतरे के हिसाब से देखा जाए, तो हेपेटाइटिस सी सबसे ज्यादा खतरनाक होता है। पर हेपेटाइटिस बी भी सी के बराबर ही खतरनाक होता है। इसलिए वायरल हेपेटाइटिस से बचने के लिए इनके बारे में जानकारी रखना बेहद जरूरी है और तभी आप खुद को और अपने लोगों को इस बीमारी से बचा सकते हैं।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK