सर्दी के मौसम में स्कूली बच्चों के माता-पिता बरतें ये सावधानियां ताकि इन बीमारियों से दूर रहे बच्चे

Updated at: Dec 27, 2019
सर्दी के मौसम में स्कूली बच्चों के माता-पिता बरतें ये सावधानियां ताकि इन बीमारियों से दूर रहे बच्चे

अगर आप भी अपने बच्चे को सर्दी के मौसम में स्वस्थ रखना चाहते हैं तो कुछ सावधानियां जरूर बरतें, नहीं तो आपका बच्चा भी हो सकता है बीमार 

Vishal Singh
परवरिश के तरीकेWritten by: Vishal SinghPublished at: Dec 27, 2019

सर्दी के मौसम के बढ़ते के साथ-साथ बीमारियों का खतरा भी बढ़ता रहता है। कई लोग पहले से बीमारियों के खतरे से बचाव करने के बारे में सोच लेते हैं, लेकिन जो लोग बचाव नहीं कर पाते कई बार उन्हें इसका शिकार होना पड़ता है। सर्दी के मौसम में स्कूली बच्चों को बचा कर रखना बहुत ही जरूरी हो जाता है क्योंकि स्कूल में बच्चों के साथ खेलने में और एक दूसरे का जाने अनजाने में झूठा खाने से बीमारियों का खतरा काफी ज्यादा होता है। 

सीएमआई अस्पताल के नियोनेटोलॉजी और पिडियाट्रिक्स डॉ. परीमला वी थीरूमलेश ने एक लेख में बताया कि सर्दी का मौसम आपके स्कूली बच्चों के लिए कैसे खतरनाक और कैसे इस मौसम में बीमारियों का खतरा बना रहता है। सर्दी के मौसम में जब आपके बच्चे सर्दी जुकाम जैसी चीजों का शिकार हो जाते हैं तो कई लोग इसे गंभीरता से नहीं लेते जिसके कारण कई बार ये चीजें बच्चों के शरीर में संक्रमण फैलाने में कामयाब हो जाती है। ठंड के मौसम में बच्चों में या फिर किसी को भी सर्दी और जुकाम काफी आम होता है। लेकिन कई बार ये सर्दी और जुकाम आसानी से चला भी जाता है और कई बार ये काफी समय तक नहीं जाता। 

child

ऐसे में शरीर में संक्रमण फैलने का खतरा और भी बढ़ जाता है। जिसकी वजह से वो लंबे समय तक बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। बच्चों में इसी तरह से ये चीजें फैलती है जो लंबे समय तक उन्हें बीमार करके रखती है इस दौरान शरीर में संक्रमण फैल जाता है। 

डॉ. परीमला वी के मुताबिक, जरूरी नहीं की ये अपने आप ही हो जाए, कई बार बच्चे स्कूल में किसी के साथ रहते हैं जिसे पहले से सर्दी, जुकाम जैसी चीजें हो तो भी इसका असर आपके बच्चे में पड़ता है जिसकी वजह से उन्हें इसका शिकार होना पड़ता है। स्कूल ही नहीं बल्कि बच्चे को इस तरह के खतरे घर पर भी हो सकते है या फिर जहां वो खेलते है वहां। 

ऐसा अक्सर देखा जाता है कि एक बच्चे से दूसरों तक ये चीजें बहुत ही आसानी से फैल जाती है ये कोई हैरानी वाली बात नहीं है। इसलिए ऐसे में बहुत जरूरी हो जाता है कि हम अपने बच्चे को इस तरह की बीमारियों और खतरों से कैसे दूर रख पाएं या फिर इनसे बचाव कैसे किया जाए। इसके लिए बच्चों को आपस में ज्यादा संपर्क में नहीं रहना चाहिए। इससे किसी बच्चे के संक्रमण दूसरे बच्चों तक पहुंच नहीं पाते। 

child

जैसा की हमने आपको पहले ही बताया की सर्दी के मौसम में सर्दी, जुकाम और नाक का बहना बहुत ही आम होता है।  डॉ. परीमला वी ने बताया कि जिसको अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक्ट इंफेक्शन(Upper Respiratory Tract Infection) के नाम से भी जाना जाता है जो कि बच्चों की बीमारी का एक आम कारण माना जाता है। इसके लक्षण नाक बंद होना, कफ होना, नाक बहना, खांसी होना और सिर दर्द होना है।

इसे भी पढ़ें: सर्दी में खुद को रखना है गर्म और रहना है बीमारी से दूर, तो आजमाएं ये 5 देसी सुपरफूड

ये चीजें कितने दिन तक रहती है ये आपके बच्चे के इम्यून सिस्टम पर निर्भर करता है। इन सबसे बच्चे का सबसे आसान और बेहतर तरीका है कि आप ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी या फिर पेय पदार्थ का सेवन करें। जो आपको डिहाईड्रेशन से बचाने में मदद करता है। 

अक्सर हम सब जिन चीजों को 'फ्लू' के नाम से जानते हैं। उसमें ज्यादा बुखार, कफ रहना, जुकाम, लगातार सिर दर्द रहना जैसी चीजें होती है। इन सबसे बचने के लिए आपको बचाव करने की जरूर है। इसके लिए आप तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं, इसके साथ ही आप ज्यादा से ज्यादा आराम करें और पेय पदार्थ का सेवन करें। 

सर्दी, बुखार, कफ रहना, जुकाम, लगातार सिर दर्द रहना ये सब खासकर उन बच्चों में ज्यादा दिखाई देती है जो स्कूल जाने वाले बच्चे होते हैं। जिसकी वजह से स्कूल में बच्चों में एक दूसरो में फैलता है। बच्चों में रेस्पिरेटरी इंफेक्शन काफी आम होता है और रेस्पिरेटरी सिंक्टिक्ल वायरस(Respiratory Syncytial Virus) जो बच्चों की बीमारी का बहुत आम कारण माना जाता है। 

child

इसे भी पढ़ें: जुकाम, सर्दी, खांसी और कफ से चुटकियों में राहत दिलाता है प्याज का ये देसी नुस्खा, जानें तरीका

बचाव के तरीके 

  • ये पैरेंट्स की जिम्मेदारी है कि वो बच्चों को इन बीमारियों के खतरे से बचाने के लिए क्या उपाय कर रहे हैं या फिर बच्चों को कितना जागरुक कर रहे हैं। आप इन चीजों से बचने के लिए आप अपने बच्चे की लाइफस्टाइल में थोड़ा बदलाव करें। 
  • आप अपने बच्चों को आदत डाले की नाक बहते समय वो बार-बार हाथ से साफ ना करें और इसके साथ ही वो हाथ भी साबुन से धोएं। इसके साथ ही आप उसे खाने से पहले हाथ धोने की आदत जरूर डालें क्योंकि बिना हाथ धोए खाना खाने से कई तरह के बैक्टीरिया हमारे शरीर में पहुंचते हैं। 
  • जिसकी वजह से बीमारियों का खतरा और भी बढ़ जाता है। आप अपने बच्चों को बताएं कि वो स्कूल में किसी के साथ भी अपनी पानी की बोतल साझा ना करें। 
  • इसके साथ ही वो किसी का झूठा ना खाएं इसके लिए उसे बताएं। 
  • आप अपने बच्चों को ज्यादा से ज्यादा मात्रा में विटामिन सी की चीजों का सेवन कराएं जिससे की उसका इम्यून सिस्टम मजबूत हो। 
  • इन सबसे अलावा आप कोशिश करें कि आप अपने बच्चे को एक मास्क पहनने के लिए बोले जिससे वो किसी भी वायरस से दूर रहने में कामयाब रहे। 

Read more articles on Tips For Parents in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK