Oily Skin: कुछ लोगों की स्किन क्यों ऑयली होती है? जानें ऑयली त्वचा की परेशानियों और देखभाल से जुड़ी सभी बातें

Updated at: Dec 02, 2020
Oily Skin: कुछ लोगों की स्किन क्यों ऑयली होती है? जानें ऑयली त्वचा की परेशानियों और देखभाल से जुड़ी सभी बातें

ऑयली त्वचा के पीछे लाइफस्टाइल से जुड़े कारणों के अलावा कई और परेशानियां भी होती हैं, जिन्हें नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।

Pallavi Kumari
त्‍वचा की देखभालWritten by: Pallavi KumariPublished at: Dec 02, 2020

ऑयली स्किन (Tips for Oily Skin) वाले लोगों को बाकी स्किन वाले लोगों की तुलना में अपने स्किन की ज्यादा देखभाल करनी पड़ती है। ऐसा इसलिए कि ऑयली स्किन वाले लोगों को ज्यादा एक्ने, पिंपल्स और स्किन से जुड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऑयली स्किन वाले इसे कम करने के लिए कई उपचारों की मदद भी लेते हैं पर फिर भी वो इसे परेशानी से पार नहीं पा पाते। पर क्या आपने कभी सोचा है कि आपकी स्किन ऑयली क्यों है (why my skin is oily)। इसी बारे में जानने के लिए हमने डर्मेटोलॉजिस्ट प्रियदर्शनी सिंह, श्री राम हॉस्पिटल चंडीगढ़ से बात की।

insidecleaningface

ऑयली स्किन क्यों होती है (What Causes of Oily Skin)?

ऑयली स्किन के कारणों को लेकर डर्मेटोलॉजिस्ट प्रियदर्शनी सिंह लाइफस्टाइल के अलावा कई अन्य कारकों के बारे में बताती हैं। इनकी मानें, तो हर किसी का शरीर अलग-अलग ढंग से वर्क करता है। इसी फंक्शन में आई कमी का असर आपके चेहरे पर भी दिखता है। जैसे कि हमारा खान-पान, लाइफस्टाइल और हमारा ब्लड सर्कुलेशन। दरअसल हमारी त्वचा में सेबेशियस ग्लैंड्स (sebaceous glands) होते हैं, जो कि सीबम यानी कि फैट युक्त ऑयली तत्वों का प्रोडक्शन करते हैं, जिसके कारण हमारी त्वचा और ऑयली नजर आती है। जिन लोगों में इसका प्रोडक्शन ज्यादा होता है उनकी त्वचा उतनी ही चिपचिपी और ऑयली नजर आती है। सीबम का ज्यादा प्रोडक्शन के पीछे कई कारक हो सकते हैं, जैसे कि

1.जेनेटिक्स

सबसे पहले तो उन लोगों की स्किन ज्यादा ऑयली होती है, जिनके परिवार में बाकी लोगों का भी स्किन ऑयली रहा हो। यानी कि आपके पारिवारिक इतिहास के कारण भी आप लोगों की त्वचा ऑयली नजर आती है। 

2.आपकी उम्र

आपकी त्वचा वास्तव में आपकी उम्र के अनुसार कम या ज्यादा सीबम का उत्पादन करती है। एजिंग के साथ त्वचा प्रोटीन को खो देती है, जैसे कोलेजन और हाइड्रेशन। इसी दौरान वसामय ग्रंथियां धीमा हो जाती हैं और ऑयल प्रोडक्शन बंद हो जाता है। पर जवान होने के साथ यानी कि टीनएच की शुरुआत से शरीर ज्यादा सीबम का उत्पादन करता है, जिसके कारण 15 साल की उम्र से लेकर 30 की उम्र तक एक्ने और पिंपल्स की परेशानी रहती है।यही कारण है कि उम्र बढ़ने वाली त्वचा वाले कई लोगों की त्वचा शुष्क होती है और चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं।

इसे भी पढ़ें : Winter Night Skin Care: सर्दियों में अपने रात के स्किन केयर रूटीन में जरूर शामिल करें ये 7 बातें

3.हॉर्मोनल डिसबैलेंस

जीवन के विभिन्न स्तरों पर शरीर में कई तरह के हॉर्मोनल बदलाव होते हैं। फिर चाहे वह लड़के हों या लड़कियां। लड़कों में जहां 20 के बाद और 30 की उम्र तक टेस्टोस्टेरोन हार्मोन के अधिक सक्रिय होने के कारण त्वचा अधिक ऑयली होती है, वहीं लड़कियों में आप किशोरावस्था, गर्भावस्था और मेनपॉज के दौरान इसका ज्यादा अनुभव कर सकते हैं। इसी हॉर्मोनल उतार-चढ़ाव के कारण शरीर ज्यादा सीबम प्रोड्यूस करता है और चेहरे ऑयली नजर आता है। इसके अलावा शरीर में ग्रोथ हॉर्मोन यानी कि प्रोटीन का अधिक होना ऑयली स्किन का कारण हो सकता है। 

4.स्किन पोर्स का बड़ा होना

कभी-कभी उम्र, वजन में उतार-चढ़ाव और पिछले ब्रेकआउट के कारण आपके स्किन पोर्स बड़े हो जाते हैं। ये बड़े स्किन पोर्स अधिक तेल का उत्पादन करते हैं। आप अपने छिद्रों को सिकोड़ नहीं सकते हैं, लेकिन आप इन छिद्रों और चेहरे के दाग धब्बों का अतिरिक्त देखभाल कर सकते हैं।

5.मौसम और खान-पान

मौसम में बदलाव आपके शरीर के साथ आपकी स्किन पर भी नजर आता है। सीबम का उत्पादन वातावरण और मौसम के अनुसार भी बदलता रहता है। आर्द्र जलवायु (humid climate) में सीबम का प्रोडक्शन बढ़ जाता है, जो आपकी ऑयली स्किन और खराब कर देता है। इसके अलावा तैलीय त्वचा होने का एक कारण आपकी डाइट भी हो सकती है। जैसे कि अधिक ऑयली खाना खाना सीबम के प्रोडक्शन को बढ़ा देता है। साथ ही पौष्टिक तत्व युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन न करना भी ऑयली स्किन का कारण बन सकता है।

insidefoodsforskin

ऑयली स्किन से बचाव के उपाय

  • -सल्फर एक ऐसा खनिज है जो, स्किन में ऑयल के उत्पादन को कम कर सकता है। यह नट्स, फलियां, गोभी, प्याज और ब्रोकोली में पाया जाता है। इसलिए सल्फर और ओमेगा-3 युक्त खाद्य पदार्थों की मात्रा अपने खाने में बढ़ाएं। साथ ही कोशिश करें कि ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियां खाएं।
  • -शुगर और कार्बोहाइड्रेट युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कमने से त्वचा में सीबम का उत्पादन ज्यादा होता है। इसलिए  जंकफूड और अधिक तैलीय एवं मिर्च-मसाले युक्त भोजन का सेवन न करें।
  • -खूब पानी पिएं इससे चेहरे में अंदरे हाइड्रेशन रहेगा और चेहरे को अतिरिक्त सीबम प्रड्यूस करने की जरूरत नहीं होगा।
  • -धूल एवं धूप से चेहरे का बचाव करें इसके लिए घर से बाहर निकलने पर चेहरा ढक कर जाएं।
  • -दिन में 3-4 बार चेहरे को ताजे पानी से धोएं और चेहरा साफ रखें।
  • -चेहरे को अच्छी प्रकार मॉश्चराइज करें ताकि चेहरे में अंदर से नमी बनी रहे।

इसे भी पढ़ें : आपका रूप दमकाने में मदद करेंगे संतरे के बचे हुए छिलके, इन 3 तरीकों से बनाएं बेहतरीन फेस मास्क

ऑयली स्किन के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies for Oily Skin in Hindi)

1.ऑयली स्किन के लिए हल्दी का इस्तेमाल (Turmeric for Oily Skin in Hindi) 

एक चौथाई चम्मच हल्दी पाउडर, आधा चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद मिलाकर पेस्ट तैयार कर लें। इसे चेहरे पर लगाकर सूखने दें जब यह सूख जाए तो गुनगुने पानी से चेहरा धो लें। ऑयली स्किन केयर के लिए आप इस उपाय को आजमा सकती हैं।

2. ऑयली स्किन के लिए ग्रीन टी (Green Tea for Oily Skin in Hindi) 

ग्रीन टी पीने के साथ-साथ चेहरे पर लगाने से भी लाभ करती है। इसमें पॉलीफोलिक और एन्टी इंफ्लैमटोरी गुण पाए जाते हैं जो त्वचा सम्बन्धी रोगों से हमारी रक्षा करते हैं। दो चम्मच ग्रीन टी, एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच चावल का आटा लेकर पेस्ट बना लें। 15-20 मिनट तक इसे चेहरे पर लगाएं रखें और इसके बाद चेहरे को ताजे पानी से धो लें। कुछ दिनों तक इसे इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा का सीबम प्रोडक्शन कम हो जाएगा।

insideoilyskinhomeremedies

3.अंडे का इस्तेमाल (Egg Face Mask for Oily Skin in Hindi)

अंडे को स्किन टेक्सचर के लिए बेहतरीन माना गया है। अंडे का पीला हिस्सा फैटी एसिड से भरपूर होता है। जिसकी वजह से स्किन को जरुरतभर नमी मिल जाती है। इसके अलावा अंडे के सफेद हिस्से में प्रोटीन का दूसरा रूप एल्बूमिन होता है। एल्बूमिन की वजह से त्वचा के पोर टाइट होते हैं, जिससे कि ऑयल प्रोडक्शन में कमी आ जाती है। इसलिए अंडे का फेस मास्क लगाएं।

ऑयली स्किन वाले लोगों अपनी डाइट के साथ एक्सरसाइज का भी खास ध्यान रखना चाहिए। इससे शरीर में तनाव कम होगा और त्वचा में सीबम का उत्पादन कम हो जाएगा। तो अपने स्किन को रखें साफ और स्वस्थ और चेहरे को मुंहासों से बचाएं रखें।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK