• shareIcon

World Iodine Deficiency Day: शरीर के लिए क्‍यों महत्‍वपूर्ण है आयोडीन, अपनी उम्र के अनुसार जानें इसकी जरूरत

विविध By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 21, 2019
World Iodine Deficiency Day: शरीर के लिए क्‍यों महत्‍वपूर्ण है आयोडीन, अपनी उम्र के अनुसार जानें इसकी जरूरत

स्वस्थ जीवन के लिए खनिज और विटामिन महत्वपूर्ण हैं। ये गर्भ से ही मनुष्यों के शारीरिक और मानसिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। मुख्य सूक्ष्म पोषक तत्व जो दुनिया भर में तमाम तरह की स्वास्थ्य समस्याएं पैदा कर रहे

21 अक्‍टूबर को हर विश्व आयोडीन अल्पता विकार निवारण दिवस (World Iodine Deficiency Day) के तौर पर मनाया जाता है। इसका उद्देश्‍य, लोगों में आयोडीन की कमी को दूर करने के साथ इससे होने वाली बीमारियों के बारे में जागरूक करना है।

आयोडीन एक महत्वपूर्ण सूक्ष्म पोषक तत्व है जो थायराइड हार्मोन के उत्पादन और गर्भाशय विकास के लिए आवश्यक है। आयोडीन बहुत कम ऐसे खाद्य पदार्थ हैं जिनमें पाया जाता है, यह आमतौर पर आयोडीन युक्त नमक, डेयरी, समुद्री आहार और कुछ ब्रेड आइटम में मिलता है। 

आयोडीन की कमी वाली महिलाओं में थायरॉयड कार्यप्रणाली बाधित होती है, जिसका असर उनके प्रजनन स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आयोडीन की कमी से हाइपोथायरायडिज्म सबसे आम समस्‍याओं में से एक है।

OMH-Worl-Iodine-Deficiency-Day-In-Hindi

आयोडीन क्‍या है- What Is Iodine: 

आयोडीन एक आवश्यक खनिज है जो थायरॉयड ग्रंथि में संग्रहीत होता है। यह थायरॉइड हार्मोन थायरोक्सिन (T3) और ट्राईआयोडोथायरोनिन (T4) के उत्पादन के लिए जरूरी है। थायराइड हार्मोन मानव शरीर की सभी कोशिकाओं को प्रभावित करते हैं; आयोडीन कोशिकाओं के समुचित विकास के लिए महत्वपूर्ण हैं। आयोडीन शरीर के चयापचय दर (Metabolic rate) को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, प्रोटीन चयापचय में; हड्डियों की वृद्धि और मस्तिष्क के विकास के लिए नियमित करता है। थायरॉइड हार्मोन कोशिकाओं में प्रोटीन, वसा और कार्बोहाइड्रेट मेटाबॉलिज्‍म से निकटता से जुड़े होते हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में आयोडीन की कमी एक वास्तविकता है क्योंकि बाकी देशों के मुकाबले भारत की मिट्टी में आयोडीन की कमी है; विशेष रूप से उत्तर और उत्तर पूर्वी राज्यों में। ऐसा अनुमान है कि 350 मिलियन लोगों को आयोडीन की कमी से होने वाले विकारों का खतरा है। इससे निपटने के लिए, आम नमक में आयोडीन शामिल कराया गया था; जो अब देश के लगभग 91% घरों में पहुंचता है। हालांकि, आयोडीन युक्त नमक की पर्याप्त खपत केवल 71% है। 

उम्र के अनुसार आयोडीन की जरूरत- How much is enough: 

आयोडीन हमारे शरीर में नहीं बनता है; हम अपने भोजन और पानी के माध्यम से आयोडीन की आपूर्ति करते हैं। विभिन्न आयु वर्ग के लिए अनुशंसित आयोडीन की मात्रा इस प्रकार है: 

राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के अनुसार, 7 माह से 5 साल के बच्‍चे को 90 माइक्रोग्राम, 6 से 12 साल के बच्‍चों को 120 माइक्रोग्राम, वयस्कों को प्रति दिन 150 माइक्रोग्राम की आवश्यकता होती है। गर्भावस्था के दौरान, रोजाना 220 माइक्रोग्राम की आवश्यकता होती है, और जो महिला स्तनपान कराती है, उसे रोजाना 290 माइक्रोग्राम की आवश्यकता होती है। (ज्‍यादातर महिलाओं में होती है इन 5 पोषक तत्‍वों की कमी, जानें क्‍या हैं ये और इसके स्‍त्रोत)

आयोडीन की कमी दूर करने के उपाय- How to overcome iodine deficiency

आइए उन खाद्य पदार्थों पर चर्चा करें जो आयोडीन के समृद्ध स्रोत हैं:

1. सब्जियां और फल

कुछ सब्जियों और फलों में भी आयोडीन होता है। शकरकंद, प्याज, पालक, केला आदि खाद्य पदार्थों में आयोडीन होता है। एक कप स्ट्राबेरी लगभग 13µg आयोडीन मिलता है। इसके आलावा आयोडीन युक्‍त नमक आपके शरीर में आयोडीन की कमी को दूर करता है।

2. डेयरी उत्‍पाद

डेयरी उत्पाद आयोडीन के समृद्ध स्रोत हैं। एक कप दूध आयोडीन की 59-112% दैनिक अनुशंसित मात्रा प्रदान करता है। इसके अलावा, पनीर और दही में भी आयोडीन की अच्छी मात्रा होती है।

इसे भी पढ़ें: शिशुओं में बौनेपन का कारण है प्रेग्नेंसी के दौरान मां के शरीर में आयोडीन की कमी, जाने इसके स्त्रोत

3. समुद्री शैवाल

समुद्री शैवाल आयोडीन के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक है। इसके अलावा, यह एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और खनिजों का एक समृद्ध स्रोत भी है। हालांकि, समुद्री शैवाल में आयोडीन की मात्रा उस क्षेत्र पर निर्भर करती है जिसमें यह उगाया जाता है और इसकी तैयारी होती है। सबसे लोकप्रिय समुद्री शैवाल में कोम्बू केल्प, वेकैम और नोरी शामिल हैं। 

4. कॉड

कॉड एक प्रकार की मछली है, जो आयोडीन का एक समृद्ध स्रोत है। कॉड में कैलोरी भी कम होती है लेकिन शरीर को कई खनिज, पोषक तत्व और साथ ही आयोडीन प्रदान करता है। हालांकि, कॉड में आयोडीन की मात्रा इस बात पर निर्भर करती है कि मछली खेत में खड़ी है या जंगली पकड़ी गई है। 

इसे भी पढ़ें: शरीर में चुपके से होने वाले ये 7 बदलाव आयोडीन की कमी के हैं संकेत 

5. अंडे

अंडे भी आयोडीन का एक समृद्ध स्रोत हैं। इसके अलावा, अंडे भी प्रोटीन, स्वस्थ वसा, विटामिन और खनिजों का एक अच्छा स्रोत हैं। हालांकि, ज्यादातर आयोडीन अंडे की जर्दी से आता है।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK