डब्‍लूएचओ: अगले 12 महीनों में मिट जाएगा पोलियो का नामोनिशान

डब्‍लूएचओ: अगले 12 महीनों में मिट जाएगा पोलियो का नामोनिशान

हाल ही में आए ताजा आंकड़ों के बाद डब्‍लूएचओ ने घोषणा की है कि अगले 12 महीनों में पोलियो का नामोनिशान मिट जाएगा।

पोलियो एक लाइलाज बीमारी है जिसके एक बार हो जाने के बाद उसका कोई इलाज नहीं बचता। पोलियो की इसी गंभीरता को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने पिछले कई सालों से इसके खिलाफ अभियान चलाया हुआ है। इसी अभियान के तहत हाल ही में डब्लूएचो ने घोषणा की है कि अगले 12 महीनों में पोलियो का नामोनिशान मिट जाएगा।

पोलियो

 

अब तक दर्ज किए केवल नौ मामले

इस साल डब्लूएचओ ने अब तक केवल दो देशों में पोलियो के मामले दर्ज किए हैं। इन दो देशों में भी कुल मिलाकर नौ मामले दर्ज किए गए हैं। पोलियो के ये नौ मामले पाकिस्तान और अफगानिस्तान में दर्ज किए गए हैं। अफगानिस्तान में दो और पाकिस्तान में पोलियो के सात मामले दर्ज किए गए हैं।

भारत से पोलियो खत्म हो गया है लेकिन पड़ोसी राज्य होने के कारण डब्लूएचओ ने सतर्क रहने को कहा है। क्योंकि 1980 के बाद से पोलियो का वायरस स्मॉल पॉक्स के बाद सबसे अधिक फैलने वाला दूसरा वायरस है।

 

डब्लूएचओ 2000 में हुआ था विफल

डब्लूएचओ ने पिछले कई सालों से पोलियो के खात्मे के लिए अभियान चलाया हुआ था। गौरतलब है कि डब्लूएचओ ने इसे खत्म करने का पिछला टार्गेट 2000 रखा था जो विफल रहा था। लेकिन इस बार डब्लूएचओ ने इस साल के अंत तक इसके खत्म होने की घोषणा कर दी है।

डब्लूएचओ के पोलियो इरैडिकेशन के डायरेक्टर मिशेल ज़ाफरान ने कहा है कि “ये एक अलग तरह की उपल्बधि और एहसास है। ये अभियान 1988 में 150 देशों के साथ शुरू हुआ था और अब हमारे पास केवल दो देश हैं वो भी नौ मामलों के साथ।”

 

Read more Health news in Hindi.

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।