मास्क पहनने को लेकर WHO ने जारी की नई गाइडलाइन, कहा बेहतर सुरक्षा के लिए पहनें 3-layer Mask

Updated at: Aug 09, 2020
मास्क पहनने को लेकर WHO ने जारी की नई गाइडलाइन, कहा बेहतर सुरक्षा के लिए पहनें 3-layer Mask

मास्क पहनने को लेकर WHO ने नए दिशानिर्देश दिए हैं कि अगर आप घर में बना कपड़े वाला मास्क भी इस्तेमाल कर रहे हैं, तो वो तीन परतों वाल हो।

Pallavi Kumari
लेटेस्टWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jun 09, 2020

भारत में कोरोनावायरस (Covid-19 in india) का कहर लगातार जारी है। स्वास्थ मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में मरीजों की संख्या 21,53,010 हो गई हैं, जबकि अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित 14,80,884 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं दुनियाभर में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) लगातार नए नए गाइडलाइन्स (WHO guidelines on face masks) दे रहा है। हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सार्वजनिक स्थान पर तीन-परत वाले मास्क (3-layer Mask) को ही पहनने दिशानिर्देश जारी किए हैं। 

insidefacemask

फेस मास्क को पहनने को लेकर नई गाइडलाइन (WHO guidelines on face masks)

मास्क पहनना कोरोनावायरस से खुद को बचाने या वायरस फैलने से रोकने के लिए जरूरी है, लेकिन मास्क का प्रकार भी मायने रखता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक, बेहतर सुरक्षा के लिए, तीन-परत वाले कपड़े के मास्क का उपयोग करें। मास्क पहनने को लेकर दिशानिर्देश में, विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सभी के लिए संक्रामक बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए सार्वजनिक रूप से तीन-परत वाले मास्क को पहनने को अनिवार्य रूप से पालन करने को कहा है। 

इसे भी पढ़ें : घर पर बने और कपड़ों वाले मास्क को इन 4 तरीकों से साफ करके ही करें दोबारा इस्तेमाल, वर्ना बना रहेगा खतरा

कपड़े से बने मास्क पर WHO का नया दिशानिर्देश

WHO ने कपड़े से बने मास्क को लेकर भी नए सुझाव दिए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) का कहना है कि भले ही आप अपने घर का बना ही मास्क क्यों न पहन रहे हों, पर ध्यान रखें कि ये तीन लेयर कपड़ों से बना हो। यानी कि आप कपड़े के तीन परत के साथ इसे बनाएं। संगठन का सुझाव है कि  कपड़े के मास्क में विभिन्न सामग्रियों की कम से कम तीन परतें होनी चाहिए:

  • -पहली परत (Inner layer) कॉटन जैसे आरामदायक हाइड्रोफिलिक (Hydrophilic Material) का हो, जिसमें हल्के रंग के कपड़े का चुनाव करें।
  • -दूसरी परत (Middle layer) पॉलीप्रोपाइलीन वाली चीज से बनी हो, जो कि फिल्टर की तरह काम करे।
  • -तीसरी परत (Outer layer) बाहरी पॉलिएस्टर जैसे किसी मिक्सड कपड़े (Hydrophobic Material) की बनी हो, जो कि पानी के कणों और नमी को चिपकने न दें।
 
 
 
View this post on Instagram

This is an explainer about the three layers a fabric mask should have to protect you from #COVID19. #WearAMask

A post shared by World Health Organization (@who) onAug 8, 2020 at 3:09pm PDT

डब्ल्यूएचओ के अधिकारियों के अनुसार, इस तरह का फैब्रिक संयोजन वास्तव में किसी भी एयर ड्रोपलेट्स को आप तक पहुंचने नहीं देगा। इस तरह आप संक्रमण से बचे रहेंगे। डब्ल्यूएचओ के अधिकारियों ने भी दोहराया कि चेहरे के मास्क को सही तरीके से पहना जाना चाहिए और बार-बार इसकी सफाई का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। वहीं बार-बार मास्क को छुआ भी संक्रमण के खतरे को बढ़ा सकता है। इसलिए डब्ल्यूएचओ ने मास्क पहनने पर इन बातों का विशेष ध्यान रखने को कहा है :

  • -मास्क पहनने से पहले अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं।
  • -सुनिश्चित करें कि आपका मास्क आपके मुंह, नाक और पूरे मुंह को कवर करता हो।
  • -मास्क को हटाने से पहले, अपने हाथों को साफ करें।
  • -कानों या सिर के पीछे से मास्क निकालें।
  • -ढीले या खराब मास्क का उपयोग न करें।
  • -गंदा या गीला मास्क न पहनें।
  • -अपने मास्क को दूसरों के साथ साझा न करें।

इसे भी पढ़ें : तेज गर्मी और पसीने के कारण फेस मास्क पहनने में हो रही है परेशानी, तो ये 5 टिप्स आपके जरूर काम आएंगी

डब्ल्यूएचओ  की सलाह है कि सामुदायिक संचरण (community transmission) वाले क्षेत्रों में, 60 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों मेडिकल मास्क पहनना चाहिए। साथ ही बाकी लोगों को घर से बाहर जाते हुए तीन-परत वाले कपड़े का मास्क पहनना चाहिए। नई सिफारिशें वैश्विक स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा किए गए एक शोध के निष्कर्षों पर आधारित हैं, जिसमें पाया गया कि श्वासयंत्र या मेडिकल मास्क या अन्य मास्क से मुंह कवर कर के, कोरोनावायरस के संचरण में बड़ी कमी लाई जा सकती है। अध्ययन ने यह भी सुझाव दिया कि श्वासयंत्र और मल्टी-लेयर मास्क सिंगल-लेयर मास्क की तुलना में अधिक सुरक्षात्मक हैं, इसलिए लोगों को कोशिश करनी चाहिए कि वो मल्टी लेयर मास्क ही पहनें।

Read more articles on Health-News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK