क्या आपका बच्चा भी पैर हिलाने या उंगलियां चटकाना जैसी अजीब आदतों का है शिकार? जानें कैसे करें इसे कंट्रोल

Updated at: Oct 30, 2020
क्या आपका बच्चा भी पैर हिलाने या उंगलियां चटकाना जैसी अजीब आदतों का है शिकार? जानें कैसे करें इसे कंट्रोल

खराब आदतों पर समय रहते काबू नहीं पाया गया, तो ये आपके बच्चे की पर्सनालिटी का हिस्सा बन सकते हैं। इसलिए इन पर काबू करें।

Pallavi Kumari
बच्‍चे का स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Pallavi KumariPublished at: Oct 30, 2020

बच्चों पर अगर शुरुआत से ही ध्यान न दिया जाए, तो उनमें कुछ गंदी आदतें घर कर लेती हैं। जैसे कि नाखून खाना, सिर पटकना, दांत पीसना, हाथ और पैरों को बेवजह हिलाना आदि। पर साइंस इसे किसी और नजर से देखता है और इसकी भाषा में इसे स्टिमिंग (Stimming)कहता है। स्टिमिंग मतलब होता है कि कोई ऐसी गतिविधि जिसे आप बिना सोचे समझे लगातार करते जाएं। पर ये गतिविधियां आदत बनने में एक लंबा समय लेती है, इसलिए जरूरी है कि समय रहते ही इसकी पहचान की जाए और इस पर कंट्रोल किया जाए। आज हम आपको कुछ ऐसे ही टिप्स बताएंगे जिसकी मदद से आप अुने बच्चों में स्टिमिंग (Stimming)वाली मूवमेंट्स या गतिविधियों को कम कर सकते हैं। पर आइए सबसे पहले समझते हैं कि क्या है स्टिमिंग (Stimming)और लोग इसे क्यों करते हैं।

stimming habits in kids

क्या है स्टिमिंग (Stimming)?

स्टिमिंग, स्वयं-उत्तेजक व्यवहारों को संदर्भित करता है, जिसमें आमतौर पर दोहरावदार मूवमेंट्स या ध्वनियों को शामिल किया जाता है। इसे करने वाला व्यक्ति इसे क्यों करता है, उसे ये खुद भी मालूम नहीं होता है। पर बच्चों में इस आदत को ऑटिज्म से जोड़ कर देखा जाता है, जो कि न्यूरल गतिविधियों से जुड़ा हुआ विकार है। इस दौरान  लगभग हर कोई आत्म-उत्तेजक व्यवहार के किसी न किसी रूप में संलग्न होता है। पर आम तौर पर इसे आप इन हरकतों के रूप में पहचान सकते हैं। जैसे कि

  • नाखून खाना
  • अपने बालों को घुमाना
  • पैर हिलाना
  • हाथों को हिलाना
  • उंगलियां चटकाना
  • चुटकी बजाना इत्यादि।

इसे भी पढ़ें : बच्चों की सीढ़ी पर चढ़ने की आदत है हो सकती है बहुत फायदेमंद, जल्द चलने और बेहतर संतुलन में मिलती है मदद

हालांकि इसके कारणों की बात करें, तो ज्यादातर लोग इसे तनाव दूर करने के लिए करते हैं। वहीं कुछ लोग ये सोचने के दौरान करते हैं और उन्हें ये पता भी नहीं होता कि वो वैसा कर रहे हैं और वो इसे करते जाते हैं। ऐसे में जरूरी है आप अपने बच्चों में ये आदत आने से पहले उस पर काबू करें। वो कैसे आइए हम आपको बताते हैं।

बच्चों में कैसे कंट्रोल करें स्टिमिंग?

नाखून खाने और चुटकी बजाते समय हाथ पर मारे या डांटे

बच्चों को अगर आपको इन गतिविधियों को करने से रोकना है आपको उन पर रिएक्ट करना होगा, वो भी उसी वक्त जब वो इस काम को कर रहे हों। दरअसल बच्चे अक्सर नाखून पढ़ते सनय या टीवी देखते समय चबाते हैं। ऐसे में आपको तुंरत बिना कुछ बोले उनके हाथों पर मारना चाहिए या तेज से डांटे। आपकी इस गतिविधि का उस पर गहरा असर होगा और वो डर जाएगा और आपके सामने ये नहीं करेगा। इस तरह धीमे-धीमे उसकी ये आदत ठीक हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें : 3 से 12 साल के बच्चों में शरीर का दर्द हो सकता है 'ग्रोइंग पेन', जानें ऐसे दर्द के लिए आसान घरेलू नुस्खे

kids bad habits and stimming

पैर हिलाने पर तुरंत टोक दें

आपका बच्चा जैसे ही कहीं बैठे और पैर हिलाने लगे उन्हें तुरंत टोक दें। इस तरह बार-बार आपका ऐसा करना उन्हें इस तरह की गतिविधियों को करने से रोकेगा। वहीं आप जब भी उन्हें स्ट्रेस में देखें और वो इसे कर रहे हों उनसे बैठकर बात करें और उनका ध्यान बांटने की कोशिश करें।

इसी तरह अगर आपका बच्चा उंगलियां चटकाने की आदत रखता है या अपने बालों के साथ खेलता है, तो बार-बात पर उन्हें टोक दें और समझाएं कि उन्हें ये नहीं करना चाहिए। आगे जाकर ये उनकी आदत बन जाएगी और उनकी पर्सनालिटी का हिस्सा बन जाएगी। तो आगे भी उनकी पर्सनालिटी को हमेशा डेवलप करने के लिए उननें अच्छी आदतों का विकास करें। साथ ही शुरु से ही टेंशन फ्री और स्टेस मैनेजमेंट करने के लिए उन्हें योग करने की सलाह दें।

Read more articles on Children's Health in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK