ये चीजें एक-साथ खाने से शरीर को मिलेगा ज्यादा फायदा, डायटीशियन से जानें पोषक तत्वों की शक्ति बढ़ाने के तरीके

पारंपरिक तौर पर बताए गए फूड कॉम्बिनेशन हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी बेहतर साबित होते हैं। चलिए जानते हैं इस बारे में-

Kishori Mishra
स्वस्थ आहारReviewed by: स्वाती बाथवाल, इंटरनैशनल स्पोर्ट्स डायटीशियनPublished at: Jul 02, 2021Written by: Kishori Mishra
Updated at: Jul 02, 2021
ये चीजें एक-साथ खाने से शरीर को मिलेगा ज्यादा फायदा, डायटीशियन से जानें पोषक तत्वों की शक्ति बढ़ाने के तरीके

ऑर्गेनिक फूड्स हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। इस बात से हम सभी अच्छे से वाकिफ हैं। इतना ही नहीं नैचुरल रूप से प्राप्त फल और सब्जियां स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होती हैं। इस बात से भी हम बहुत ही अच्छे से वाकिफ हैं। लेकिन डायटीशियन स्वाती बाथवाल जैसे-जैसे हमारी पीढ़ी आगे बढ़ती जा रही है, वैसे-वैसे खाना पकाने  और खाने के तौर तरीकों में भी काफी बदलाव देखा जा रहा है। आधुनिक जीवनशैली के चलते सही पोषक तत्वों का संयोजन करना भूल चुके हैं। हम में से कई लोग आधुनिकता के चलते खानपान के प्राचीन तौर-तरीके बिल्कुल भूल चुके हैं। इस लेख में आज हम आपको बताएंगे कि किन पोषक तत्वों का एक साथ सेवन करना चाहिए और किसका कॉम्बिनेशन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है। चलिए डालते हैं ऐसे ही कुछ फूड्स कॉम्बिनेशन पर एक नजर -

आयरन और दूध

कैल्शियम और आयरन का सेवन एक साथ नहीं करना चाहिए। नॉनवेज फूड्स की तुलना में वेज फूड्स में तुलनात्मक रूप से आयरन की मात्रा काफी कम होती है। वेज में आयरन के प्रमुख स्त्रोत बीज, ड्राई फ्रूट्स, दालें और हरी पत्तेदार सब्जियां होती हैं। अगर आप इन खाद्य पदार्थों का सेवन दूध, दही या फिर कैल्शियम युक्त किसी भी आहार के साथ करते हैं, तो यह आयरण के अवशोषण को कम कर देता है। इतना ही नहीं अगर आप इन चीजों को चाय के साथ लेते हैं, तब भी यह आयरन का अवशोषण कम कर देती है। क्योंकि चाय में टैनिन होता है, जो आयरन के अवशोषण को कम करती है। इसलिए नट्स के साथ दूध वाली चाय या फिर दही के साथ पत्तेदार सब्जियों का सेवन करना सही कॉम्बिनेशन नहीं  माना जाता है। अगर आप अपने शरीर में आयरन के अवशोषण को बढ़ाना चाहते हैं, तो विटामिन सी युक्त आहार के साथ आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें। उदाहरण के लिए धनिया की पत्तियों पर नींबू का रस छिड़कें, दाल में नींबू डालें, इससे आयरन का अवशोषण बढ़ता है।

इसे भी पढ़ें - सलाद खाते समय न करें ये 7 गलतियां, कम हो जाते हैं सलाद के पोषक तत्व और सेहत को होता है नुकसान

विटामिन ए, डी, ई के और फैट

स्वाती बाथवाल बताती हैं कि अपने आहार में हमेशा सही फैट का चुनाव करें। सही फैट का मतलब है घुलनशील वसा, यह फैट स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। घुलनशील वसा में मूंगफली का तेल, घी, एक्स्ट्र वर्जिन ऑलिव ऑयल जैसे तेल शामिल हैं। घुलनशील फैट और विटामिंस का एक साथ सेवन करना स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है। दरअसल, इन दिनों कई लोग विटामिन डी की कमी से जूझ रहे हैं, इसका प्रमुख कारण गलत फैट का चुनाव है। रिफाइंड और प्रोसेस्ड फैट सेहत के लिए अच्छे नहीं माने जाते हैं। साथ ही ये विटामिन डी के अवशोषण को कम करते हैं। जो सेहत के लिए बिल्कुल सही नहीं है। अगर आप अपने शरीर में विटामिंस की पूर्ति चाहते हैं, तो अपने आहार में विटामिंस के साथ घुलनशील फैट को शामिल करें। उदाहरण के लिए गाजर के सूप के साथ एक्स्ट्रा वर्जिल ऑलिव ऑयल लें, सरसों साग के साथ घी खाएं, दूध के साथ विटामिन डी लें। यह फूड कॉम्बिनेशन आपके लिए काफी बेहतरीन हो सकता है।

कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन

डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन स्वास्थ्य के लिए एक बेहतरीन कॉम्बिनेशन है। यह दोनों कॉम्बिनेशन हमारे शरीर को उर्जा देने का कार्य करते है। हाल ही में हुई स्टडी में बताया गया है कि दिमाग की कई समस्याओं को दूर करने में कार्बोहाइड्रेट बेहद उपयोगी पोषक तत्व है। यदि दिमाग को भरपूर रूप से कार्बोहाइड्रेट नहीं मिलता है, तो व्यक्ति चिड़चिड़ा या अन्य किसी मानसिक समस्याओं से ग्रसित हो सकता है। यही कारण होता है कि जब महिलाएं पीएमएस का अनुभव कर रही होती है या वे फिर वो काफी फील करती हैं, तो उन्हें कार्बोहाइड्रेट खाने की क्रेविंग होती है। लेकिन ध्यान रखें कि हमें अपने आहार में प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट को शामिल नहीं करना है। जैसे - वाइट पास्ता और ब्राउन शुगर आदि। आप दाल के साथ ब्राउन राइस या चिकन के साथ ब्राउन राइस का सेवन कर सकते हैं, यह प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का बेहतरीन कॉम्बिनेशन होता है। जो आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा है। 

इसे भी पढ़ें - अरारोट किस तरह किया जाता है तैयार? जानें इसके इस्तेमाल के 9 फायदे और नुकसान

काली मिर्च और हल्दी

हम सभी हल्दी के बेमिसाल फायदों से अच्छी तरह वाकिफ हैं। समय के साथ हम सभी जान चुके हैं कि हल्दी किस तरह हमारे इम्यून पावर को बूस्ट करने में हमारी मदद करता है। हल्दी के इस्तेमाल से एजिंग के साथ-साथ हेल्थ से जुड़ी कई अन्य दूर की जा सकती हैं। स्वाती बाथवला बताती हैं कि हल्दी न सिर्फ सामान्य बीमारियों को दूर करने में मददगार है, बल्कि इसके सेवन से डिप्रेशन और कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से भी बचाव किया जा सकता है। स्वाती बाथवाल कहती हैं कि हल्दी में करक्यूमिन नामक यौगिक होता है, जो हल्दी का रंग पीला करता है। यह यौगिक हमारी आंत में सही से अवशोषित नहीं होता है। इसलिए शरीर में हल्दी की उपयोगिता को बढ़ाने के लिए काली मिर्च का सेवन करना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। दरअसल, काली मिर्च में पेपराइन नामक यौगिक होता है, हल्दी में अगर एक चुटकी काली मिर्च पाउडर मिला दिया जाए, तो शरीर में करक्यूमिन का अवशोषण करने की क्षमता लगभग 200 फीसदी बढ़ जाती है।

फोलिक एसिड और विटामिन बी12

डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि विटामिन बी12 अकेले लेने के बजाय सही कॉम्बिनेशन के साथ लें। यह आपके लिए और अधिक फायदेमंद हो सकता है। अगर आप अपने शरीर में रेड ब्लड सेल्स को बढ़ाना चाहते हैं, तो विटामिन बी12 के साथ फोलिक एसिड का सेवन करें। अगर आप फोलिक एसिड के साथ विटामिन बी6 या विटामिन बी12 का सेवन करते हैं, तो यह हमारे शरीर में होमोसिस्टीन का स्तर (homo cysteine levels) बढ़ाए रखने में काफी बेहतर तरीके से कार्य करता है। उदाहरण के लिए अंडे के साथ पालक, अंडे के साथ दाल, चिकन के साथ पालक का कॉम्बिनेशन आपके स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है। 

विटामिन डी और कैल्शियम 

ये दोनों ही पोषक तत्व हड्डियों को स्वस्थ रखने में हमारी मदद करता है। विटामिन डी हमारी आंतों में मैग्नीशियम के अवशोषण को बढ़ाता है। मैग्नीशियम विटामिन डी के संश्लेषण में मदद करता है। साथ ही मैग्नीशियम शरीर में विटामिन डी को सक्रिय रूप में बदलने में मददगार होती है। आप विटामिन डी के साथ मैग्नीशियम ले सकते हैं। यह एक बेहतरीन कॉम्बिनेशन है। उदाहरण के लिए फ्राईड अंडे के साथ काजू, मछली के साथ बादाम, कद्दू के बीज के साथ अंडे, मछली के साथ बादाम प्यूरी जैसी चीजों का आप सेवन कर सकते हैं।  

चिया सीड्स और फ्लैक्स सीड्स

चिया सीड्स और फ्लैक्स सीड्स में ओमेगा-3 भरपूर रूप से होता है। इसमें मौजूद फाइबर शरीर को भरपूर रूप से विटामिंस और मिनरल्स प्रदान करते हैं। डायटीशियन स्वाती बाथवाल बताती हैं कि जब आप इन दोनों फूड्स का एक साथ सेवन करते हैं, तो आपकी भूख कम होती है। भूख कम लगने से हमारे शरीर का वजन भी कम होता है। इन दोनों फूड्स का कॉम्बिनेशन आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा हो सकता है। लेकिन आप इनके संपूर्ण पोषक तत्वों को लेना चाहती हैं, तो इसे पीसकर पाउडर बनाकर इसका सेवन करें। दरअसल, अलसी के बीज में लिग्नान नामक एक बाहरी परत होता है, जो आंत सही ढंग से अवशोषित नहीं कर पाता है। ऐसे में इसका पीसकर सेवन करना आपके स्वास्थ्य के लिए ज्यादा बेहतर साबित हो सकता है। वहीं, अगर हम चिया सीड्स का सेवन पीसकर करते हैं, तो इससे हमारे शरीर को ओमेगा-3 अधिक मिलता है। इन दोनों का पीसा हुआ कॉम्बिनेशन स्वास्थ्य के लिए बेहतर हो सकता है। 

यदि आप कभी अपना फेवरेट डिश तैयार कर रहे हों, तो ऊपर बताई गई न्यूट्रीएंट पेयरिंग कॉम्बिनेशन को जरूर ट्राई करें। यह आपके शरीर में पोषक तत्वों को बढ़ाने का कार्य कर सकेगा।  साथ ही इससे आपके स्वास्थ्य को काफी फायदा पहुंच सकता है।

Image Credit : freepik image

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK