• shareIcon

त्‍वचा पर ऊभरी हुई गांठें लिपोमा का है संकेत, जानें क्‍या हैं इसके खतरे और उपचार

अन्य़ बीमारियां By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 06, 2019
त्‍वचा पर ऊभरी हुई गांठें लिपोमा का है संकेत, जानें क्‍या हैं इसके खतरे और उपचार

लिपोमा एक त्‍वचा संबंधी समस्‍या है। लिपोमा को आमतौर पर लोग कैंसर समझ बैठते हैं, जबकि ऐसा नहीं है। इस लेख में हम आपको लिपोमा क्‍या है, इसके लक्षण और उपचार के बारे में विस्तार बता रहे हैं।

लिपोमा एक धीमी गति से बढ़ने वाली, वसायुक्त गांठ है जो अक्सर आपकी त्वचा और मांसपेशियों (अंदरूनी) की परत के बीच स्थित होती है। एक लिपोमा, जो फूला हुआ महसूस करता है और आमतौर पर यह मुलायम नहीं होती है, उंगली के हल्‍के से दबाव के साथ आसानी से पता चल जाती है। आमतौर पर मिडिल एज  यानी 45 से 55 साल की उम्र में इसके होने का पता चलता है। कुछ लोगों में एक से अधिक लिपोमा होते हैं।

हालांकि इस बात पर ध्यान देना जरूरी है कि लिपोमा कोई कैंसर नहीं है और आमतौर पर हानिरहित है। इसका उपचार भी आमतौर पर आवश्यक नहीं है, लेकिन यदि लिपोमा आपको परेशान करता है, दर्दनाक है या बढ़ रहा है, तो आप इसे हटा सकते हैं।

लिपोमा के लक्षण- Lipoma Symptoms

लिपोमा शरीर में कहीं भी हो सकता है। वे आम तौर पर हैं:

  • यह सिर्फ त्वचा के नीचे स्थित होते हैं: वे आम तौर पर गर्दन, कंधे, पीठ, पेट, हाथ और जांघों में होते हैं।
  • छूने पर नरम लगते हैं: वे उंगली के दबाव से भी आसानी से इधर-उधर चलते हैं।
  • आमतौर पर यह छोटे होते हैं: लिपोमा आमतौर पर व्यास में 2 इंच (5 सेंटीमीटर) से कम होता है, लेकिन वे बढ़ सकते हैं।
  • लिपोमा दर्दनाक हो सकता है: अगर वे बढ़ते हैं और पास की नसों पर दबाते हैं या यदि उनमें कई रक्त वाहिकाएं होती हैं, तो यह दर्दनाक भी हो सकते हैं। 

लिपोमा के कारण- Lipoma Causes 

लिपोमा का कारण पूरी तरह से समझा नहीं गया है। ये परिवारों में एक व्‍यक्ति से दूसरे व्‍यक्ति में चलते रहते हैं, इसलिए आनुवांशिक कारक उनके विकास में भूमिका निभाते हैं। स्तन में गांठ कहीं कैंसर तो नहीं

लिपोमा के जोखिम- Lipoma Risk Factors

कई कारकों में लिपोमा विकसित होने का खतरा बढ़ सकता है, जिसमें शामिल हैं:

ये आमतौर पर 40 से 60 साल के बीच होते हैं, यद्यपि लिपोमा किसी भी उम्र में हो सकता है, वे इस आयु वर्ग में सबसे आम हैं। इसके अलावा ये फैमिली में चलते रहते हैं।

इसे भी पढ़ें: त्वचा में असामान्य परिवर्तन, थकान एवं कमजोरी व लगातार दर्द हो सकते हैं कैंसर के लक्षण

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए? 

लिपोमा शायद ही कभी एक गंभीर चिकित्सा स्थिति है। लेकिन अगर आपको अपने शरीर पर कहीं भी गांठ या सूजन दिखाई देती है, तो आपको अपने डॉक्‍टर को दिखाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: त्‍वचा पर लाल पपड़ीदार घाव है स्किन कैंसर के संकेत, जानें इसके प्रकार और बचाव के तरीके

लिपोमा का इलाज- Lipoma Treatment

आमतौर पर लिपोमा के लिए कोई उपचार आवश्यक नहीं है। हालांकि, यदि लिपोमा आपको परेशान करता है, दर्दनाक है या बढ़ रहा है, तो आपका डॉक्टर सिफारिश कर सकता है कि इसे हटा दिया जाए। लिपोमा उपचार में शामिल हैं:

  • सर्जरी कर निकालना: अधिकांश लिपोमा को शल्यचिकित्सा से काटकर निकाल दिया जाता है। हटाने के बाद इसकी पुनरावृत्ति आवर्ती असामान्य हैं। संभावित दुष्प्रभाव जख्म और घाव हैं। 
  • लिपोसक्शन: यह उपचार वसायुक्त गांठ को हटाने के लिए एक सुई और एक बड़े सिरिंज का उपयोग करता है।
Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK