बेवजह बीमारी का वहम पालने की है आदत? तो आप हैं हॉस्पिटल सिंड्रोम समस्या के शिकार

Updated at: Sep 28, 2020
बेवजह बीमारी का वहम पालने की है आदत? तो आप हैं हॉस्पिटल सिंड्रोम समस्या के शिकार

मन में बड़ी समस्या को लेकर भ्रम पैदा होता है? अगर हां, तो इस आदत को हल्के में न लें। हो सकता है कि आपको हॉस्पिटल सिंड्रोम की समस्या हो...

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Sep 28, 2020

किसी समस्या को बार-बार सोचना भी एक बीमारी है। खासकर तब जब वह समस्या आपको हो ही नहीं। वह केवल आपका वहम हो। उदहारण के रूप में अगर आपके सर में दर्द है तो जरूरी नहीं कि आपको ब्रेन ट्यूमर हो, ये आम गैस से भी हो सकता है। जिसके लिए आप काली मिर्च और नींबू का सेवन करेंगे तो मिनटों में ठीक भी हो सकते हैं। 

आजकल बेहद आधुनिक डायग्नॉस्टिक टेक्निक्स मार्केट में आ गई है। लेकिन बात उस समय की है जब इस तरह के टेस्ट नहीं थे। इसके लिए विदेशी यात्रा करनी पड़ती थी। उस वक्त के लोगों को अपने अंदर हो रहे छोटे से बदलाव को देखकर किसी बड़ी समस्या की आशंका होने लगती थी। बता दें कि बेवजह बीमारी का वहम पालने की यह समस्या आधुनिक जीवन शैली की ही देन है, इसका नाम है हॉस्पिटल सिंड्रोम। आइए इस लेख के माध्यम से जानते हैं, इस बीमारी के बारे में सब कुछ।

क्या है हॉस्पिटल सिंड्रोम या मंचूसियन (Hospital Addiction Syndrome)

पूरी तरह से स्वस्थ होते हुए भी बीमार होने का एहसास होना असल में एक तरह की मानसिक समस्या है, जिसे डॉक्टर हॉस्पिटल सिंड्रोम या मंचूरियन सिंड्रोम कहते हैं। अब यह समस्या से ग्रस्त लोगों की तादात अपने देश में भी बढ़ रही है। लोग हर छोटे से छोटी बीमारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करते हैं।

क्यों होता है हॉस्पिटल सिंड्रोम (hospital syndrome causes)

पहले के समय में संयुक्त परिवार में छोटी-मोटी बीमारियां होने पर बड़े बुजुर्ग घरेलू उपचार बता देते थे। और छोटे उसके जरिये ठीक भी हो जाते हैं। वहीं आज की बात करें तो लोग परिवार से अलग दूर शहर में रहे है। ऐसे में बीमारी के जरा से भी लक्षण दिखने पर सलाह के लिए इंटरनेट पर सर्च करना शुरू कर देते हैं। बता दें कि इंटरनेट के पास हर सवाल का जवाब है लेकिन इसके आधार पर खुद को बीमार समझ लेना गलत है। चिकित्सकों की मानें तो हॉस्पिटल सिंड्रोल समस्या से ग्रस्त मरीजों में सबसे ज्यादा संख्या स्त्रियों की होती है। कुछ परिवारों में स्त्रियों को घर से निकलने की फ्रीडम नहीं दी जाती। ऐसे में भी बीमारी का बहाना करती हैं और वे इस बहाने को कब सच समझ लेती हैं पता ही नहीं चलता।

इसे भी पढ़ें- क्या आपको भी जल्दी-जल्दी होने लगी है गले में खराश की समस्या? इसका कारण हो सकती है मास्क पहनने में ये बड़ी गलती

हॉस्पिटल सिंड्रोम के लिए उपचार (Hospital Syndrome treatment)

  • हॉस्पिटल सिंड्रोम एक दिमागी बीमारी है। मानसिक रूप से बीमार लोगों के लिए काउंसर की मदद ली जाती है। 
  • अगर घर में किसी को यह समस्या है तो उसे यकीन दिलाएं कि उसे कुछ नहीं हुआ है।  
  • घर के किसी सदस्य के मन में अवसाद पैदा न होने दें क्योंकि हॉस्पिटल सिंड्रोम का सबसे बड़ा कारण है। घर के लोगों पर ज्यादा पाबंदी लगाकर न रखें बल्कि और स्वस्थ माहौल बनाकर रखें। 
  • एक दूसरे को आपसी सहयोग देने की कोशिश करें और उचित देखभाल भी, जिससे इस बीमारी को दूर किया जा सके।

Read More Articles On other diseases in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK