• shareIcon

क्‍या आप बहुत ज्‍यादा गैस छोड़ते हैं, इन 6 तरीकों से पाएं समस्‍या से छुटकारा

विविध By Atul Modi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 09, 2018
क्‍या आप बहुत ज्‍यादा गैस छोड़ते हैं, इन 6 तरीकों से पाएं समस्‍या से छुटकारा

आमतौर पर गैस निकलने की इस समस्‍या को लोग हंसी में टाल देते हैं या फिर इसे सीरियस नहीं लेते हैं। कई बार छोटे-छोटे बच्‍चे भी आपस में गैस निकलने को लेकर चुटकुले या मजाक बनाते हैं। जबकि इसकी वजह कुछ और नहीं ब

पेट में गैस बनने की समस्या काफी तकलीफदेह साबित होती है। भरी महफिल में यह कई बार आपको शर्मिदा भी कर देती है। गैस आपके पाचन तंत्र की भी सेहत बिगाड़ सकती है। हर व्यक्ति के शरीर में गैस बनती है। यह शरीर से बाहर या तो डकार द्वारा या गुदा मार्ग से निकलती है। अधिकतर लोग 1 से 4 पिंट्स गैस पैदा करते हैं और एक दिन में कम-से-कम 14 से 23 बार गैस पास करते हैं। आमतौर पर गैस निकलने की इस समस्‍या को लोग हंसी में टाल देते हैं या फिर इसे सीरियस नहीं लेते हैं। कई बार छोटे-छोटे बच्‍चे भी आपस में गैस निकलने को लेकर चुटकुले या मजाक बनाते हैं। जबकि इसकी वजह कुछ और नहीं बल्कि आपकी खराब जीवनशैली है, हालांकि ज्‍यादा समय बीतने पर यह किसी बीमारी का भी रूप ले सकती है। आज यहां हम आपको बताएंगे कि लोग बार-बार गैस क्‍यों छोड़ते हैं और इससे बचने का तरीका क्‍या हो सकता है। 

पेट में गैस बनने के लक्षण और इससे होने वाली बीमारी  

पेट में गैस बनने पर उसके पास न होने पर जी मिचलाना, खाना खाने के बाद पेट ज्यादा भारी लगना और खाना हजम न होना, भूख कम लगना, पेट भारी-भारी रहना और पेट साफ न होने जैसा महसूस होता है। वहीं दूसरी ओर गैस को पेट में रोकना कई अन्‍य बीमारियों को भी जन्‍म दे सकता हैं। जैसे एसिडिटी, कब्ज, पेटदर्द, सिरदर्द, जी मिचलाना, बेचैनी आदि। लंबे समय तक गैस को रोकने से बवासीर भी हो सकती है। अक्सर पेनकिलर खाने से, कब्ज, अतिसार, खाना न पचने व उलटी की वजह से भी पेट में गैस बनती है। 

पेट में गैस बनने का कारण और बचाव 

व्यायाम करें

आप जितना अधिक सक्रिय होंगे, उतनी बार और बुद्धिमानी से आप अपने आंतों से गैस को खत्म कर देंगे। पाचन तंत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए एक्‍सरसाइज करना बहुत जरूरी है। योग और ध्‍यान भी पेट की गैस को बनने से रोकता है। प्रत्येक सप्ताह कम से कम चार दिन रोजाना 30 से 60 मिनट के लिए एक्‍सरसाइज जरूर करें। एक्‍सरसाइज न करने वालों को गैस की समस्‍या ज्‍यादा होती है। 

फाइबर का सेवन कम करें 

हेल्‍दी पाचन क्रिया के लिए हरी सब्जियां फल और ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने के लिए कहा जाता है लेकिन कुछ सब्जियां या आहार ऐसे होते हैं जो पेट में गैस बनाते हैं। खासकर क्रूसीफेरस प्रजाति की सब्जियां जैसे गोभी, पत्‍ता गोभी, ब्रॉकली, स्‍प्राउट्स आदि आहार ज्‍यादा गैस बनाते हैं। अगर आप इनका सेवन ज्‍यादा करते हैं तो इसकी कटौती करें। 

डेयरी प्रोडक्‍ट के कारण 

कुछ लोगों में लैक्‍टोस पचाने की क्षमता नहीं होती है। लैक्‍टोस डेयरी प्रोडक्‍ट से मिलता है, जैसे- दूध, पनीर, दही आदि से। जिसके कारण गैस बनती है। अगर आपको इस प्रकार की समस्‍या होती है तो तुरंत किसी विशेषज्ञ की सलाह लीजिए। 

कब्‍ज से बचें 

कई बार लोग कब्‍ज की समस्‍या से परेशान रहते हैं जो बार-बार गैस निकलने का कारण बनती है। अगर आप इस समस्‍या से परेशान हैं तो सबसे पहले कब्‍ज से छुटकारा पाने की कोशिश करें। इसके लिए जरूरी है कि आप हाइड्रेट रहें यानी घूंट-घूंट कर के पानी पीते रहें। सुबह 2 ग्‍लास गुनगुना पानी जरूर पीएं। इसके अलावा एक्‍सरसाइज करना बहुत जरूरी है। जो लोग किसी तरह की फिजिकल एक्टिविटी नहीं करते हैं उन्‍हें कब्‍ज की समस्‍या बनी रहती है। 

इसे भी पढ़ें: कब पड़ती है अल्‍ट्रासाउंड कराने की जरूरत, जानें शरीर पर कैसे डालता है असर

दवाओं के कारण 

अगर आप नियमित रूप से किसी मर्ज की दवा खाते हैं या पेन किलर लेते हैं तो भी आपको गैस की प्रॉब्‍लम हो सकती है। अगर आपको ऐसी समस्‍या से दो-चार होना पड़ता है तो अपने डॉक्‍टर से ये बात बताएं जिससे वह आपको सही सलाह दे सकें। 

इसे भी पढ़ें: ठीक से नहीं पचता है आपका भोजन तो हो सकती हैं ये 5 बीमारियां

अन्‍य कारण 

गैस आपके शरीर की और स्थितियों के बारे में भी बताती है। लीवर में सूजन, गॉल ब्लेडर में स्टोन, फैटी लीवर, अल्सर या मोटापे से। डायबीटीज, अस्थमा या बच्चों के पेट में कीड़ों की वजह से। अक्सर पेनकिलर खाने से। कब्ज, अतिसार, खाना न पचने व उलटी की वजह से भी बार-बार गैस की समस्‍या हो जाती है। 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।