कोलेजन प्रोटीन क्या है? एक्सपर्ट से जानिए इसके प्रमुख स्त्रोत और किस तरह शरीर के लिए करता है कार्य

क्या आपने कभी कोजेलन प्रोटीन का नाम सुना है? अगर नहीं, तो आइए विस्तार से जानते हैं इस बारे में।

Kishori Mishra
स्वस्थ आहारWritten by: Kishori MishraPublished at: Dec 31, 2020
Updated at: Dec 31, 2020
कोलेजन प्रोटीन क्या है? एक्सपर्ट से जानिए इसके प्रमुख स्त्रोत और किस तरह शरीर के लिए करता है कार्य

कोलेजन हमारे शरीर में सबसे अधिक होने वाला एक प्रोटीन है। यह हमारी मांसपेशियों, हड्डियों और स्किन में मौजूद होता है। इस प्रोटीन की सबसे खास बात ये है कि  कोलेजन पूरे शरीर में मौजूद प्रोटीन का 25 से 35 फीसदी अंश बनाता है। इस प्रोटीन की मदद से हमारे शरीर को ताकत मिलती है। साथ ही यह शरीर को एक बेहतरीन बनावट प्रदान करता है। हमारे शरीर में कोलेजन दो तरह का होता है। पहला एंडोजीनस कोलेजन (Endogenous collagen) और दूसरा एक्सोजेनस कोलेजन (Exogenous collagen)। एंडोजीनियस (Endogenous collagen) एक प्राकृतिक कोलेजन है, जो शरीर में खुद ब खुद बनता है। वहीं, एक्सोजीनयस कोलेजन (Exogenous collagen) एक सिंथेटिक प्रोटीन है, जो शरीर में बाहरी कारणों द्वारा बनता है। यानी यह शरीर में बाहरी कारकों और दवाओं के जरिए बनता है। एंडोजीनियस कोलेजन हमारे शरीर में कई कार्यों में अहम भूमिका अदा करते हैं। कोलेजन स्किन और बालों का मुख्य घटक होता है। यह हमारी स्किन को लोच और शक्ति प्रदान करता है। शरीर में कोलेजन की कमी से उम्र बढ़ने और चेहरे पर झुर्रियां आने लगती हैं। इतना ही नहीं आंखों के लैंस और कॉर्निया में कोलेजन क्रिस्टलीय रूप में मौजूद होता है। इसके साथ ही यह बालों के विकास में मुख्य भूमिका निभाता है। अगर बालों में पर्याप्त रूप से कोलेजन होता है, तो बालों की ग्रोथ काफी अच्छी होती है। इतना ही नहीं इससे हमारे बाल मजबूत होते हैं। बहुत कम लोग इस कोलेजन के बारे में जानते हैं। आइए डायट मंत्रा क्लीनिक की डायटिशियन कामिनी कुमारी से खाने की किन चीजों में कोलेजन होता है। 

खाने की किन चीजों में होता है कोलेजन प्रोटीन (Best foods for Collagen in Hindi) 

डायटिशियन कामिनी बताती हैं कि शरीर में कोलेजन का उत्पादन बढ़ाने के लिए आप अपने डाइट में कई पदार्थों को शामिल कर सकते हैं। आप ऐसे पदार्थों का सेवन करें, जिसमें एंटीऑक्सीडेंट की मात्रा भरपूर हो। इसके साथ ही आप भरपूर पोषक तत्वों का सेवन करें। यह आपके शरीर में कोलेजन को संश्लेषित और अवशोषित करने में आपकी मदद कर सकता है। आइए जानते है कुछ ऐसे ही खाद्य पदार्थों के बारे में-

हरी सब्जियां

हरी सब्जियां संपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होता है। सभी तरह की हरी सब्जियों में क्लोरोफिल भरपूर रूप से होती है, इसी वजह से सब्जियों का रेग हरा होता है। कई अध्ययनों में इस बात का खुलासा हुआ है कि हरी सब्जियों में पाया जाने वाले क्लोरोफिल का सेवन करने से स्किन में कोलेजन का स्तर बढ़ता है। ऐसे में हरी सब्जियों के सेवन से आप अपने स्किन में कोलेजन की मात्रा को बढ़ा सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - पेट साफ करते हैं ये 5 फल, रोजाना खाएं तो कब्ज और अपच जैसी परेशानियां रहेंगी दूर

खट्टे फलों

खट्टे फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं। उदाहरण के लिए नींबू, संतरा, कीवी, मौसमी ऐसे फल हैं, जो शरीर को एंटीऑक्सीडेंट प्रदान करने के साथ-साथ विटामिन सी भी भरपूर रूप से प्रदान करते हैं। आपको बता दें कि विटामिन सी की मदद से शरीर के स्किन सेल्स का निर्माण होता है। इसी वजह से चेहरे की स्किन का ग्लो बरकरार रखने के लिए विटामिन सी का इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही कई ब्यूटी एक्सपर्ट्स आपको खट्टे फल खाने की सलाह देते हैं। 

अंडा में कोलेजन की है प्रचुरता

शरीर में कोलेजन का स्तर बढ़ाने के लिए अंडा आपकी मदद कर सकता है। यह कोलेजन का बेहतरीन स्त्रोत होता है। अंडे की सफेदी और जर्दी में कोलेजन भरपूर रूप से कोलेजन भरपूर रूप से होता है। 

बैरीज कोजेलन लेवल को करे बूस्ट

बैरीज हमारे शरीर में कोलेजन लेवल को बूस्ट करने में मदद करता है। बैरीज में एलीजिक एसिड नामक तत्व होता है, जो अल्ट्रा वायलेट किरणों से डैमेज होने वाले  कोलेजन ब्रेकडाउन को टूटने से रक्षा करने में हमारी मदद करता है। इसके साथ ही खट्टे फलों की तरह बैरीज में भी विटामिन सी की प्रचुरता होती है। जो हमारी स्किन के लिए एंटीऑक्सीडेंट की तरह कार्य करता है। 

टमाटर कोलेजन टूटने से करता है बचाव

पके यानी लाल रंगों के टमाटर में एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपीन नामक तत्व होता है, जो स्किन को सूरज की किरणों से बचाव करने में हमारी मदद करता है। इसके साथ ही यह कोलेजन टूटने से भी बचाव करता है। इतना ही नहीं, टमाटर में विभिन्न तरह के एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो सेलुलर लेवल बढ़ने पर स्किन की रक्षा करने में आपकी मदद करते हैं। इस वजह से अपने डाइट में कोलेजन को जरूर शामिल करें।

कद्दू के बीज

कद्दू के बीज सेहत के लिए बहुत ही गुणकारी मानें जाते हैं। इस बात से आप अच्छी तरह वाकिफ होंगे। कद्दू के बीजों में जिंक की प्रचुरता होती है, जो कोलेटन को टूटने की दर को धीमा करने में आपकी मदद करते हैं। स्किन के लिए जिंक एक महत्वपूर्ण तत्व माना जाता है। इसके साथ ही बींस, अखरोट, पालक, बादाम, पिस्ता और काजू में जिंक की मात्रा भरपूर रूप से होती है। 

इसे भी पढ़ें - क्या आपको पता है ओरेगेनो खाने के फायदे? अगर नहीं, तो आइए जानते हैं यहां

कोलेजन शरीर में किस तरह करता है कार्य

शरीर में मौजूद कई तरह के टिश्यूज से कोलेजन निकलता है, लेकिन संयोजी ऊतक इसके मुख्य रूप स्त्रोवित माने जाते हैं। यह हमारे शरीर के एक्स्ट्रा सेल्यूलर मेट्रिस में सबसे अधिक पाया जाता है। ये मैक्रोमोलीक्यूल्स का एक जटिल नेटवर्क है, जो हमारे शरीर में मौजूद टिश्यूज के भौतिक गुणों को निधारित करता है। वहीं, मैक्रोमोलीक्यूल एक अणु की तरह है, जो एक बड़ी संख्या में एटम होते हैं।

उम्र बढ़ने के साथ-साथ हमारे शरीर का कोलेजन कमजोर होने लगता है। इसी कारण शरीर पर झुर्रियां दिखने लगती हैं। हमारे शरीर के स्किन के बीच परत में कोलेजन फाइब्रोक्लास्ट नामक एक रेशेदार कोशिकाओं का जाल बनाता है, जिस पर समय के साथ नई-नई कोशिकाएं बनती हैं। डेड स्किन सेल्स को पुर्नस्थापित करने और बदलने में कोलेजन मुख्य भूमिका निभाता है।  

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

 

 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK