मसूड़ों से खून आने के पीछे छिपे हैं ये 7 कारण? जानें लक्षण और बचाव भी

Updated at: Jan 22, 2021
मसूड़ों से खून आने के पीछे छिपे हैं ये 7 कारण? जानें लक्षण और बचाव भी

मसूड़ों से खून आना एक आम समस्या है। लेकिन लगातार खून आना गंभीर समस्या के लक्षणों में से एक हो सकता है। जानते हैं कारण और बचाव

Garima Garg
अन्य़ बीमारियांWritten by: Garima GargPublished at: Jan 22, 2021

जब कोई व्यक्ति मसूड़ों की या मुंह की किसी भी परेशान से ग्रस्त होता है तो उसके आम लक्षणों में मसूड़ों से खून आना शुरू हो जाता है। लेकिन यह कई स्वास्थ्य समस्याओं का संकेत भी दे सकता है। वैसे तो मसूड़ों से खून आना बेहद ही आम है। लेकिन अगर ये खून मसूड़ों से बार बार आए तो ये गंभीर बीमारियों का  संकेत दे सकता है। बता दें कि मसूड़ों से खून लगातार तब आ सकता है जब शरीर में विटामिन की कमी हो या प्लेटलेट में कमी हो जाए। कभी-कभी गर्भावस्था के दौरान हॉर्मोनल चेंजेस की वजह से भी मसूड़ों से खून आता है। इसके अलावा पीरियडोनटाइटिस जो कि मसूड़ों से संबंधित बीमारी है इसके कारण भी ये समस्या हो सकती है। ऐसे में लगातार आ रहे खून को नजरअंदाज करना सही नहीं है। ऐसे में आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि मसूड़ों से खून आने के पीछे क्या कारण छिपे हैं। साथ ही लक्षण और बचाव भी जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

bleeding problem

मसूड़ों से खून आने के लक्षण ( symptoms of bleeding gums)

मसूड़ों से खून आने से निम्न लक्षण नजर आ सकते हैं-
1- मुंह की बदबू या मुंह का स्वाद खराब हो जाना।
2- दांतों का ढ़ीला होना या उनमें गैप आ जाना।
3- मसूड़ों में छूने मात्र से दर्द महसूस करना।
4- मसूड़ों का रंग बदलना यानि लाल या गहरी बैंगनी मसूड़े नजर आना।
5- मसूड़ों का फूलना।
6- मुंह में या मसूड़ों के आसपास दर्द महसूस करना।

मसूड़ों से खून आने के कारण ( causes of bleeding gums)

बता दें कि दांतों में संक्रमण या अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के कारण मसूड़ों से खून आ सकता है। ऐसे में इनके बारे में पता होना जरूरी है-
1- लिवर का रोग
जब भी लिवर में कोई बीमारी हो जाती है या जो लोग अत्यधिक शराब पीते हैं उसके कारण लिवर के कार्यों में रुकावट आती है, जिसकी वजह से मसूड़ों से खून आना शुरू हो जाता है।
2- विटामिन के और सी की कमी
जब शरीर में विटामिन के और विटामिन सी की कमी हो जाती है तब भी मसू़ड़ों से खून आ सकता है। बता दें कि कुछ लोग पर्याप्त मात्रा में फल या सब्जियों को अपनी डाइट में शामिल नहीं कर पाते हैं। वहीं शरीर में क्लॉटिंग प्रक्रिया के लिए विटामिन के एक महत्वपूर्ण तत्व है, इसमें जब विटामिन के की कमी हो जाती है तो मसूड़ों से खून आना शुरू हो जाता है और विटामिन सी की कमी से भी मसूड़ों में दर्द सूजन पैदा होती है इस कारण खून बहने लगता है।
3- कैंसर के कारण
ल्यूकेमिया यह कैंसर का एक प्रकार होता है जो जिसके कारण भी मशहूर से खून बहना शुरू हो जाता है।
4- टेढ़ें दांतों के कारण
टेढ़ें दांतों के कारण दांतों की सफाई अच्छे से नहीं हो पाती, जिसकी वजह से आहार दांतों में फस जाता है और सूजन आ जाती है और खून भी आ जाता है।
5- मुंह में सफाई ना रखने के कारण
जब लोग दांतों की सफाई सही से नहीं करते हैं तो उनके मसूड़ों में सूजन आ जाती है, जिसके कारण खून निकलने लगता है। इसके कारण मसूड़ों में समस्या पैदा हो जाती है और वह लाल हो जाते हैं और दर्द भी महसूस होता है।
6- महिलाओं में हार्मोन परिवर्तन के कारण
गर्भावस्था के दौरान आमतौर पर महिलाओं को दूसरे या तीसरे महीने से 8वें महीने तक हॉर्मोन परिवर्तन होते हैं, जिसके कारण मसूड़ों में दर्द, सूजन और खून आदि दिखने लगते हैं।
7- मसूड़ों में चोट लगने के कारण
जब ब्रश को अधिक दबाव के साथ  किया जाता है तो इससे मसूड़ों पर अधिक जोर पड़ता है और मसूड़े जख्मी हो जाते हैं ऐसे में कठोर ब्रश का इस्तेमाल करने से या मसूड़ों को रगड़ने से खून की समस्या शुरू हो जाती है।

मसूड़ों से खून आने के बचाव (prevention of bleeding gums)

मसूड़ों से खून से बचाव के लिए आप नीचे दिए सुझावों को अपना सकते हैं-
अपनी टूथब्रश की करें जांच
अगर आपके मसूड़े से खून आता है तो सबसे पहले अपने टूथब्रश को बदलें। अगर आपका टूथब्रश कठोर है तो उसके जगह पर आप नरम बालों वाले टूटब्रश का प्रयोग कर सकते हैं।
संतुलित आहार के माध्यम से
संतुलित आहार जैसे कि विटामिन सी, कैल्शियम, विटामिन के आदि को अपनी डाइट में जोड़ें। ऐसा करने से संबंधित समस्याएं दूर हो सकती हैं। 
आराम करने से
मानसिक तनाव के कारण कोर्टिसोल का स्तर बढ़ जाता है, जिससे शरीर के अन्य हिस्से में सूजन आ जाती है मसूड़ों में सूजन आने का कारण भी यही होता है।
तंबाकू उत्पादों का सेवन ना करने से
यदि आप धूम्रपान करते हैं या तंबाकू उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें तुरंत छोड़ दें। क्योंकि इससे भी मसूड़ों को नुकसान पहुंचता है साथ ही 
कम पानी पीने से
जो लोग सही मात्रा में पानी पीते हैं उनके मसूड़े हमेशा तंदुरुस्त रहते हैं। भरपूर मात्रा में पानी पीने से दांतो के बीच में भोजन नहीं पचता है और बैक्टीरिया मसूड़ों को नुकसान नहीं पहुंचा पाते हैं।

डॉक्टर से कब संपर्क करें 

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि मसूड़ों से ब्लड आना आम समस्या है लेकिन ये गंभीर तब हो जाती है जब खून बहना बंद नहीं होता। ऐसे में अगर आप के मसूड़े में लंबे समय से खून आ रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। ये सुनिश्चित करना भी आपका ही फर्ज है कि इलाज के बाद भी मसूड़ों से खून आ रहा है या नहीं। अगर उपचार के बाद खून निकल रहा है तो हो सकता है कि आप की दवाइयों से ये परेशानी हो। ऐसे में डॉक्टर को दिखा कर अपनी दवाइयों का बदलाव करें। खुद से दवाईयों को बदलने की कोशिश ना करें। सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लें उसके बाद ही अपनी दवाइयों में बदलाव करें।
नोट-
अपने आहार में विटामिन सी की कमी को पूरा करने के लिए टमाटर, स्ट्रॉबेरी, खट्टे फल रस आदि को जोड़ें। इसके अलावा विटामिन के की कमी के कारण ही मसूड़ों से खून आता है ऐसे में आप सोयाबीन, जैतून का तेल, पालक, सलाद पत्ते आदि को अपनी डाइट में जोड़ सकते हैं। संतुलित आहार से भी आप इस समस्या को काफी हद तक कम कर सकते हैं।
Read More Articles on Other diseases in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK