क्या है कैनबिडिओल ऑयल? डॉ. स्वाती बाथवाल से जानें आपकी सेहत के लिए कितना सुरक्षित है ये तेल

Updated at: Sep 23, 2020
क्या है कैनबिडिओल ऑयल? डॉ. स्वाती बाथवाल से जानें आपकी सेहत के लिए कितना सुरक्षित है ये तेल

अगर आप भी सीबीडी ऑयल के बारे में नहीं जानते हैं तो जान लें क्या है ये और इसका इस्तेमाल करने से आपकी सेहत पर क्या होता है असर।

Vishal Singh
विविधReviewed by: स्वाती बाथवाल, इंटरनैशनल स्पोर्ट्स डायटीशियनPublished at: Sep 23, 2020Written by: Vishal Singh

सीबीडी तेल की मांग में गिरावट देखी गई, जिसमें इस तेल पर खोज और स्वास्थ्य से जुड़े कई लाभ दिखाई दिए। एक खास स्वास्थ्य लाभ के कारण इस तेल की मांग बढ़ती नजर आई है, क्योंकि इसमें THC की मात्रा कम नहीं है। इसी पर मशहूर डायटिशियन डॉ. स्वाति बाथवाल आपको बताएंगी सीबीडी तेल के आसपास कुछ सामान्य मिथक को और इससे जुड़ी खास जानकारी। लेकिन आइए उससे पहले जानते हैं कि ये सीबीडी ऑयल है क्या और इसके स्वास्थ्य लाभ क्या हैं। 

CBD oil

सीबीडी तेल क्या है (What Is CBD Oil In Hindi)

कैनबिडिओल (CBD)भांग के पौधे का एक घटक है, जिसमें से निकाले गए तेल को सीबीडी ऑयल कहा जाता है। आपको बता दें कि ये तेल औषधीय मारिजुआना के घटक के रूप में है और ये ऑयल फूलों, पत्तियों और तनों से निकाला जाता है। जबकि भांग के बीज का तेल भांग के पौधे के बीजों से निकाला जाता है। पिछले कई सालों से ये कई स्वास्थ्य स्थितियों के लिए एक लोकप्रिय वैकल्पिक चिकित्सा बन गया है। जिसमें ये दर्द, चिंता के विकार और नींद संबंधी विकारों को दूर करने में इस्तेमाल किया जाता है। 

क्या सीबीडी तेल एक मनोवैज्ञानिक दवा है? (Is CBD Oil A Psychiatric Drug)

गांजा बीज और सीबीडी तेलों वाले उत्पादों का आमतौर पर मनोवैज्ञानिक प्रभाव नहीं पड़ता है, अगर होता भी है तो बहुत कम हो या अनुपस्थित होता है। ये एक प्रकार से टीएचसी है जो कैनबिस मुख्य मनो-सक्रिय यौगिक है जो काफी तेज और भारी सनसनी पैदा करता है। टीएचसी भांग का प्रमुख मनोवैज्ञानिक केंद्र है।

इसे भी पढ़ें: दिमाग को ठंडा रखता है पुदीने का तेल, बालों की ग्रोध बढ़ाने के लिए ऐसे करें पिपरमिंट ऑयल का इस्तेमाल

कितना सुरक्षित है सीबीडी का इस्तेमाल (How Safe Is The Use Of CBD Oil)

आपको बता दें कि सीबीडी ऑयल में 0.3 प्रतिशत टीएचसी से कम का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन भारत में अभी भी इसके इस्तेमाल कर रोक है और इसे अवैध माना जाता है। इसके साथ ही गर्भावस्था के दौरान और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका इस्तेमाल बिलकुल नहीं किया जाता चाहिए। ये किसी दवा विनियामक मानकों के अधीन नहीं हैं जो अक्सर विनिर्माण प्रथाओं और गुणवत्ता में असंगति पैदा कर सकते हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल थोड़ा खतरनाक हो सकता है। 

क्या एथलीट कर सकते हैं इस तेल का इस्तेमाल? (Can Athletes Use This Oil)

वर्ल्ड एंटिडोपिंग एसोसिएशन (World Antidoping Association) के अनुसार, सीबीडी तेल का इस्तेमाल एथलीटों द्वारा करना अवैध है इसके सआथ ही इसका इस्तेमाल करने से एथलीटों को गंभीर परिणाम का भी सामना करना पड़ सकता है। आपको बता दें कि आमतौर पर एथलीट या फिटनेस फ्रीक लोग अपने प्रदर्शन को बेहतर करने के लिए इस तरह के बूस्टर की मांग करते हैं, लेकिन इस तरह के बूस्टर आपके लिए कितने सही है ये जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। 

CBD oil

इसे भी पढ़ें: स्ट्रेस और एंग्जायटी में बहुत फायदेमंद होता है अश्वगंधा एसेंशियल ऑयल, जानें इसके अन्य फायदे

सीबीडी तेल के स्वास्थ्य फायदे (Health Benefits of CBD Oil)

सीबीडी तेल एक औषधीय उत्पाद है जिसमें कई खास गुण और एंटीऑक्सिडेंट तत्व होते हैं। इस तेल का इस्तेमाल मिर्गी का इलाज, चिंता के विकार को कम करने, दर्द और सूजन से राहत पाने के लिए किया जाता है। ये पुराने गठिया के इलाज में भी आपकी मदद करता है। इसके साथ ही सीबीडी तेल मल्टीपल स्केलेरोसिस में कुछ फायदे देता है। 

जरूरी बात

सीबीडी तेल का इस्तेमाल भारत में पूरी तरह से प्रतिबंध है और किसी भी परिस्थिति में इसका सेवन करना अवैध माना जाता है। वहीं, सीबीडी उत्पाद काउंटर पर स्वतंत्र रूप से उपलब्ध हैं और कई देशों में फूड सप्लीमेंट या वेलनेस उत्पादों के रूप में इसे इस्तेमाल किया जाता है। 

 

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK