• shareIcon

4 फूड और 45 मिनट की हल्की एक्सरसाइज नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर से दिला सकती है छुटकारा, जानें एक्सपर्ट से

Updated at: Jan 29, 2020
अन्य़ बीमारियां
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Jan 29, 2020
4 फूड और 45 मिनट की हल्की एक्सरसाइज नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर से दिला सकती है छुटकारा, जानें एक्सपर्ट से

शराब न पीने वाले लोग नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग (NAFLD) का शिकार हो जाते हैं। एक्सपर्ट से जानें छुटकारा पाने का तरीका।

लिवर में सूजन जिसे अंग्रेजी भाषा या यूं कहें कि चिकित्सीय भाषा में फैटी लिवर (Fatty liver) कहते हैं मौजूदा वक्त में एक बड़ी बीमारी के रूप में सामने आया है। फैटी लिवर एक ऐसी स्थिति है, जिसमें किसी व्यक्ति के लिवर में फैट जमा हो जाता है। यह समस्या शराब के सेवन और शराब न पीने पर भी हो सकती है। शराब न पीने वाले लोग भी नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग (NAFLD) का शिकार हो जाते हैं । इस स्थिति में भी शराब न पीने वाले लोगों के लिवर पर फैट जमा हो जाता है, जिसके लिए स्पष्ट कारणों का पता नहीं चल पाता। इस लेख में न्यूट्रिशन कोच कनन रमन आपको नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग से जुड़ी कुछ जानकारी और इस स्थिति से निजात पाने का तरीका बता रहे हैं। कनन रमन का कहना है कि नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग का मुख्य कारण शरीर पर जमा जरूरत से ज्यादा फैट होना है, जो लिवर के आस-पास भी जमा हो जाता है।

liver

न्यूट्रिशन कोच कनन रमन का कहना है कि इस स्थिति को जितना जल्द हो सके ठीक किया जाना चाहिए क्योंकि समय के साथ ये एक गंभीर समस्या बन जाता है। फैटी लिवर का सही समय पर उपचार नहीं हो पाने से लिवर की गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

कनन के मुताबिक, फैटी लिवर धीरे-धीरे भारत में डायबिटीज जैसी एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है। यही कारण है लिवर और बहुत से बेरिएट्रिक समस्याओं के लिए नए स्पेशायिलिटी अस्पताल खुल रहे हैं। उनके मुताबिक, इस स्थिति को रोकने के लिए किसी विशेष प्रकार का कोई फूड नहीं है। ये समस्या आपके लिवर पर जमा जरूरत से ज्यादा फैट हो जाने की है, इसलिए आपको जरूरत है कि इस फैट को जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी कम करें।

नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग (NAFLD) से निजात पाने का सबसे प्रभावी समाधान है वजन कम करना। लेकिन इसे करने के लिए सबसे जरूरी चीज है कि वजन को वैज्ञानिक तरीके से कम किया जाए और साथ ही आपकी बॉडी को जरूरी पोषण भी प्राप्त हो।

इसे भी पढ़ेंः  लिवर में जमा फैट और सूजन से छुटकारा दिलाते हैं ये 5 फूड, जरूर करें सेवन

न्यूट्रिशन कोच कनन रमन का कहना है कि प्लीज किसी भी ऐसी फैड डाइट के चक्कर में न पड़ें, जो तेजी से वजन कम करने का वादा या फिर दावा करती है। अच्छी डाइट के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि आपकी डाइट में ये चीजें शामिल होना बहुत जरूरी हैः 

  • ढेर सारी सब्जियां।
  • कुछ फल।
  • सामान्य प्रोटीन।
  • कुछ फैट और कार्बाोहाइड्रेट।
  • पर्याप्त पानी।

इसके साथ ही आपको जंक और प्रोसेस्ड फूड से बचना चाहिए।

liver

न्यूट्रिशन कोच कनन रमन  का कहना है कि नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग से निपटने के लिए किसी भी व्यक्ति को रोजाना कम से कम 45 मिनट की हल्की या फिर सामान्य एक्सरसाइज करनी चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः फैटी लिवर के संकेत हैं हर समय थकान और कमजोरी, इससे बचने के लिए डाइट में ये 4 बदलाव

उन्होंने बताया कि अगर आप ऊपर लिखे गए टिप्स को फॉलो करते हैं तो कुछ फूड आपको अतिरिक्त फायदे देने में मदद कर सकते हैं। ध्यान रखें कि ये आपको फैट कम करने और बेहतर परिणाम देने में मदद कर सकते हैं न कि ये कोई चमत्कारी उपाय है। कनन रमन ने फैटी लिवर से छुटकारा दिलाने में कुछ फूड को फायदेमंद बताया है, जो कि इस प्रकार हैः

  • फिश ऑयल। 
  • स्पिरूलिना। 
  • वेट प्रोटीन।
  • करक्युमिन ( हल्दी का अर्क)

कनन रमन ने बताया कि इनमें से किसी भी चीज का प्रयोग जरूरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए। इन चीजों का जरूरत से ज्यादा प्रयोग आपकी स्थिति को बिगाड़ सकता है। उन्होंने कहा कि नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग की स्थिति में आपको किसी भी चमत्कार के लिए इंतजार नहीं करना चाहिए क्योंकि ऐसा कोई चमत्कारी फूड है ही नहीं, जो आपको इस स्थिति से छुटकारा दिला सके। अपने स्वास्थ्य की खातिर जरूरी टिप्स को फॉलो करना शुरू कर देना चाहिए। आप बहुत से लोगों के मुंह से इस बात को नहीं सुनेंगे क्योंकि व्यापार के इस दौर में हर कोई अपना सामान बेचने में लगा हुआ है।

(Source: QUORA WALL OF Kannan Raman, Co-founder and Nutrition Coach at Daily9 Wellness )

Read More Article On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK