क्या होगा यदि आप गलती से फफूंद खा लें तो?

Updated at: Aug 10, 2020
क्या होगा यदि आप गलती से फफूंद खा लें तो?

आप अपनी पसंद का कोई सैंडविच खा रहे हैं! लेकिन पहली ही बाइट में आपको महसूस होता है कि आपने गलती से फफूंद खा ली है। तब आपको कैसा महसूस होगा? आप चिंतित ह

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 10, 2020

वैसे तो अधिकांशतः हम सब लोग किसी भी चीज को खाने से पहले उसकी स्वच्छता और शुद्धता को पहले जांचते हैं। पर फिर भी कभी ना कभी, जाने अनजाने में हम ऐसा कुछ खा लेते हैं जो असल में शुद्ध नहीं होती और उसके कुछ हानिकारक प्रभाव भी हो सकते हैं। ऐसे ही एक हानिकारक तत्व फफूंद है। जिसे हम फंगस भी कहते हैं और इंग्लिश में हम बोलते हैं मोल्ड। इसके विषय में हम आज बात करेंगे।

सबसे पहला सवाल जो आपके जहन में उठ सकता है, कि आखिर फंगस किसी खाने की चीज पर लगती कैसे है? कोई सी भी चीज काफी समय तक उपयोग ना की जाए या उसके आसपास ज्यादा नमी हो, तो उस पर फफूंद लगने लगेगी। इस तरह की फफूंद अक्सर कई दिनों से रखी रोटी, ब्रेड, फल या अन्य किसी खाने की चीज पर लगी देखी होगी, खासकर ज्यादा ठंड या बरसात के दिनों में। 

healthy diet

पर एक हकीकत यह भी है कि लोग फंगस यानी फफूंद को गंभीरता से नहीं लेते हैं। शायद इसकी एक वजह पर्याप्त जानकारी की कमी भी हो सकती है। लेकिन क्या आप जानते हैं फफूंद लगी किसी चीज़ को खाना या उस हिस्से को अलग कर बाकी हिस्से को खाना आपके लिए कितना हानिकारक हो सकता है?  

दरअसल किसी भी खाने की चीज पर दिखाई देने वाली हरी-नीली सी फफूंद उस पर से हटाने के बाद भी उसका कुछ ना कुछ अंश खाद्य सामग्री पर रह जाता है। इसे माइसेलियम कहते हैं। हमें लगता है कि हमने पूरी तरह से फफूंद हटा दी और अब खाद्य चीज खाने में सुरक्षित है। जो कि सही नहीं है। यह किस किस तरह से शरीर के लिए नुकसानदायक है जानिए इस लेख के माध्यम से।

लीवर के लिए हानिकारक (Some mold can damage your liver)

फफूंद में कुछ ऐसे बैक्टीरिया होते हैं जो आप के लिए बहुत गंभीर समस्या खड़ी कर सकते हैं। इनसे लीवर डैमेज, हृदय रोग, उल्टियां या जी मिचलाना जैसे बीमारियां हो सकती हैं। लेकिन यह आपकी उम्र व आपके इम्यून सिस्टम पर निर्भर करता है कि आप को कोई बीमारी होगी या नहीं। फफूंद का सबसे भयानक कीटाणु कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का कारण भी बन सकता है। जो एफ्लाटॉक्सिन के रूप में जाना जाता है। यह ज्यादातर मूंगफली और मक्का के कुछ भागों में हो सकता है।

फूड पॉइजनिंग (The bacteria inside the mold can trigger food poisoning symptoms)

फफूंद अपने आप में खतरनाक नहीं होती है, लेकिन इसके साथ आने वाले कीटाणु हमारे लिए बहुत खतरनाक सिद्ध हो सकते हैं। हो सकता है फफूंद खाने से आप को फूड पॉइजनिंग हो जाए और आप को उल्टी, जी मिचलाना, डायरिया आदि लक्षण भी देखने को मिले। यह लक्षण कम या ज्यादा हो सकते हैं। साथ ही यह बैक्टीरिया के प्रकार और आपके द्वारा खाए जाने वाले भोजन की मात्रा पर भी निर्भर करता है। 

इसे भी पढ़ें: फोलिक एसिड और फोलेट के बीच अंतर करने में दिक्कत? जानें क्यों जरूरी हैं शरीर के लिए फोलिक एसिड-फोलेट और स्त्रोत

फफूंद खाने से एलर्जी (You might be allergic to mold)

कुछ लोग ऐसे होते हैं जिन्हें भोजन पर पाए जाने वाले फफूंद से एलर्जी होती है। यदि आप अधिक संवेदनशील हैं, तो इससे दूर रहना बेहतर है और यदि आप गलती से इसे खाते हैं, तो तुरंत अपने डॉक्टर को फोन करें। इसको गल्ती से खा लेने पर आपको खुजली और आँखों में पानी, पित्ती या दानें, घरघराहट, बहती या भरी हुई नाक आदि समस्याएं हो सकतीं हैं।

कुछ पदार्थो को हम फफूंद के साथ भी खा सकते हैं (There are foods with mold that our bodies can digest easily)

ये ऐसी चीज़ें हैं जिन्हें हमारी बॉडी फफूंद के साथ भी पचा लेती है जैसे कि चीज़। चीज़ बनता ही फफूंद के प्रयोग करने से है। कई प्रकार की चीज़ बनाने के लिए हमें फफूंद का सहारा लेना पड़ता है। परंतु यदि आप को एलर्जी होती है, तो हो सकता है आप के लिए इस प्रकार की फफूंद भी हानिकारक हो। 

इसे भी पढ़ें: स्वाद-स्वाद में जंक फूड्स और ऑयली फूड्स खा लिया तो न हों परेशान, इन 5 टिप्स से दिनभर में करें बॉडी डिटॉक्स

कुछ चीजें ऐसी भी हैं जिन्हें फफूंद को हटा कर खा सकते हैं (Foods that are safe to eat after scraping off mold)

लेकिन सवाल उठता है कि क्या यह सुरक्षित है? कुछ चीजें यदि हम उन्हें फफूंद हटा कर खाते हैं तो हमारे लिए सुरक्षित होती हैं, जैसे सब्जियां व फल या चीज़ या फिर मीट जैसे कि हेम। इन सबको एक इंच की मोटाई तक काट कर प्रयोग किया जा सकता है। लेकिन कुछ ऐसी भी चींजें हैं जिन पर से फफूंद को हटा कर नहीं खाना चाहिए। जैसे हॉट डॉग व बैकन, पास्ता या अनाज, दही व सौस, क्रीम, नट्स या पीनट बटर, जैम, जैलीज़, ब्रेड आदि।

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK