क्या एसिडिटी से निजात दिला सकता है एक्सरसाइज? जानें एसिडिटी में कौन सा एक्सरसाइज करना है ज्यादा फायदेमंद

Updated at: Sep 22, 2020
क्या एसिडिटी से निजात दिला सकता है एक्सरसाइज? जानें एसिडिटी में कौन सा एक्सरसाइज करना है ज्यादा फायदेमंद

तेज गति वाले एक्सरसाइज करने से भी आपकी एसिडिटी बढ़ सकती है। इसलिए एसिडिटी को कम करने के लिए इन तीन चीजों को धीमी गति से करें।

Pallavi Kumari
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Pallavi KumariPublished at: Sep 22, 2020

गैस और एसिडिटी ऐसी चीजें हैं, जो आमतौर पर सभी को परेशान करती है। वहीं ये ऐसा भी नहीं है, जिसे आप सह सकें क्योंकि मुंह में लगातार आ रही खट्टी डकार और सीने में जलन को नजरअंदाज करना आसान नहीं होता है। ऐसे में अक्सर हम लोग तुरंत कोई घरेलू  उपचार की मदद लेते हैं या कोई दवा खा लेते हैं। पर आपने कभी एसिडिटी में एक्सरसाइज या वर्कआउट करने के बारे में सोचा है? नहीं न! आमतौर पर लोग सोचते भी नहीं है। हम में से ज्यादातर लोग ऐसे वक्त में इतने परेशान होते हैं कि एक्सरसाइज करना तो दूर की बात, अपनी जरूरी काम तक ठीक से नहीं कर पाते हैं। पर आज हम आपको कुछ एक्सरसाइज के प्रकारों के बारे में भी बताएंगे, जिसे करने से आप एसिडिटी से आराम पा सकते हैं।

insidewalk

एसिडिटी और एक्सरसाइज (Exercise in acidity)

आपके वर्कआउट रिजीम के आधार पर, व्यायाम आपके एसिड रिफ्लक्स को कम भी कर सकता है और बढ़ा भी सकता है। यह सब उस व्यायाम के प्रकार पर निर्भर करता है, जो आप कर रहे हैं और इस बात पर कि आप अपने वर्कआउट से पहले और बाद में अपने शरीर की देखभाल कैसे करते हैं। चिकित्सकीय रूप से गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स बीमारी के रूप में जाना जाता है, एसिड रिफ्लक्स तब होता है जब पेट की अम्लीय सामग्री अन्नप्रणाली में वापस आ जाती है। आमतौर पर, एसिड रिफ्लक्स में छाती में दर्दनाक जलन होती है। हालांकि इनके विभिन्न प्रकार होते हैं, लेकिन कुछ एक्सरसाइज रिफ्लक्स के एक प्रकरण को ट्रिगर कर सकते हैं। जैसे कि हाई इंटेंसिटी वाले एक्सरसाइज।

इसे भी पढ़ें : Ayurvedic Remedies: बच्चे हों या बूढ़े, पेट के गैस से तुरंत निजात पाने के लिए आजमाएं ये आयुर्वेदिक नुस्खा

गैस होने पर करें ये 3 चीजें

1.घर में साइकिलिंग करें

साइकिल चलाना एसिडिटी को कम कर सकता है। दरअसल साइकिल चलाते समय, एक स्थिर बाइक चुनें जो आपको एक ईमानदार स्थिति में रहने की अनुमति देता है। जब बाहर साइकिल चलाते हैं, तो ऊबड़-खाबड़ इलाकों से बचें क्योंकि ऊपर-नीचे जगहों पर साइकल चलाने से गैस की परेशानी हो सकती है। वहीं बहुत तेज साइकिल चलाने से भी बचें। यह स्थिति पेट पर अतिरिक्त तनाव डालती है, जो कि गैस की परेशानी को और बढ़ा सकती है। वहीं कुछ न हो तो धीमे-धीमे पैदल या सीधे चलें।

insidecycling

2.योग और पिलेट्स

योग और पिलेट्स को अक्सर एसिडिटी को करने में मदद कर सकता है। हालांकि, इस प्रकरण को ट्रिगर करने से बचने के लिए दिनचर्या में बदलाव करें। वहीं योग के उन पोज से बचें जिनमें आपको लेटने की जरूरत हो, कमर पर आगे झुकना पड़े या अपने शरीर को उल्टा करना हो। हालांकि ऐसा लग सकता है कि ये प्रतिबंध सभी योग और पिलेट्स पोज को नियंत्रित करते हैं, फिर भी कई पोज हैं जिन्हें आप आज़मा सकते हैं। उदाहरण के कुछ सीधे व्यायाम करें। पिलाट्स सेशन के दौरान, प्लैंक, सॉ, साइड लेग किक्स और कैट पोज के साथ अपना वर्कआउट करें।

इसे भी पढ़ें: सुबह-शाम 1 दिन में व्यक्ति को कितना चलना चाहिए? जानें 6-60 साल के लोगों के लिए चलने का फिटनेस प्लान

3.चलना

चलना एसिड रिफ्लेक्स वाले लोगों के लिए एक उत्कृष्ट व्यायाम है। साइकिल चलाने के साथ, आप घर के अंदर या बाहर चल सकते हैं। चाहे आप एक ट्रेडमिल पर चलें, एक ट्रैक के आसपास चलें, समुद्र तट पर चलें या फुटपाथ पर चलते हैं इससे एसिडिटी की परेशानी कम हो सकती है। बस ध्यान रखें कि तेज गति वाला कुछ काम न करें। अगर आपको अधिक चुनौतीपूर्ण वर्कआउट की आवश्यकता है, तो भी गैस होने पर इसे करने से बचें। यह आपको डिहाईड्रेट कर सकता है। वहीं चलने के दौरान बहुत अधिक पानी पीने से बचें क्योंकि चलने से पेट की सामग्री थोड़ी धीमी हो जाएगी। 

इस तरह आप इन तीन चीजों को करके एसिडिटी से बच सकते हैं। वहीं उन व्यायाम से बचें, जिससे आपके पेट में हलचल मच जाती है। वहीं उन व्यायामों से बचें जिनके लिए आपको आगे झुकना या कूदना पड़ता है। इन अभ्यासों में जॉगिंग, उच्च तीव्रता वाले खेल, बैठना और क्रंच शामिल हो सकते हैं। वहीं कभी भी एक्सरसाइज से पहले ज्यादा भारी कुछ खा कर न जाएं। वहीं एक अच्छी जीवनशैली का पालन करें, जिससे कि आपको एसिडिटी की परेशानी बार-बार न हो।

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK