• shareIcon

Ringworm: दाद क्या है? जाने इसके प्रकार, लक्षण और इससे बचने के कुछ सरल उपाय

त्‍वचा की देखभाल By धीरज सिंह राणा , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 01, 2019
Ringworm: दाद क्या है? जाने इसके प्रकार, लक्षण और इससे बचने के कुछ सरल उपाय

दाद (Ringworm) एक प्रकार चर्म रोग है। जिसे डर्माटोफायोटासिस या टिनिया भी कहा जाता है। इसका अगर सही समय पर इलाज नहीं किया गया तो यह एग्जिमा का रूप ले लेती है। जो कि दाद से ज्यादा खतरनाक त्वचा से जुड़ी बीमारी है।

जब मौसम बदलते हैं तो आपको स्किन से जुड़ी कई तरह की समस्याएं होती हैं। जैसे कि खुजली, दाग और दाद। दाद जिसे रिंगवॉर्म भी कहा जाता है, ये एक प्रकार का फंगल संक्रमण है जो आपकी त्वचा की ऊपरी परत पर विकसित होता है। आमतौर पर यह तीन तरह की फंगस के कारण होता है – ट्राइकोफिटन, माइक्रोस्पोरम और एपिडर्मोफिटन। दाद आपके शरीर पर कहीं भी हो सकता है, जैसे चेहरे, हाथ, पैर, जांघ, पीठ, छाती, उंगली आदि। आइए जानते हैं इसके प्रकार, होने के कारण, लक्षण और रोकथाम के कुछ सरल उपाय।

दाद के प्रकार  (Types of Ringworm)

दाद के प्रकार अलग-अलग प्रकार के शरीर के अंगों पर भिन्न होते हैं।

टीनिया कॉर्पोरिस

यह संक्रमण पीठ, छाती और जांघ पर फैलता है और  प्रभावित करता है।

टिनिया फाचेई

यह फंगल संक्रमण आपके चेहरे पर दाद का कारण बनता है।

टिनिया अंगियम

यह संक्रमण आपके हाथ और पैर की उंगलियों को प्रभावित करता है।

टिनिया कैपिटिस

यह संक्रमण सिर (खोपड़ी) को प्रभावित करता है। इसे स्कैल्प दाद भी कहा जाता है।

टिनिया क्रुरिस

आपके गुप्तांग या जननांगों पर होने वाले दाद को टिनिया क्रुरिस कहा जाता है।

दाद के लक्षण (Symptoms of Ringworm)

दाद होने पर त्वचा के उपर लाल परतदार और उभरा हुआ दाग बन जाता है। यह चकत्ते जैसा हो जाता है, जिसमें काफी खुजली और जलन होती है। अगर इसका सही समय पर इलाज नही किया गया तो यह त्वचा पर फैलकर गंभीर त्वाचा रोग पैदा कर सकता है। इसमें दाग का बाहरी किनारा बिल्कुल लाल हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: त्वचा पर खुजली, चकत्ते और पपड़ी हैं डर्मेटाइटिस के लक्षण, जानें त्वचा के इंफेक्शन से बचने के घरेलू उपाय

दाद होने के कारण  (Causes of Ringworm)

दाद एक फंगल संक्रमण है जो फफूंद (Fungi) जैसे परजीवियों के कारण होता है यह आपकी त्वचा की बाहरी परत की कोशिकाओं को ज्यादातर प्रभावित करता है। इसे फैलने के कई कारण हो सकते हैं।

  • व्यक्ति से  - दाद अक्सर किसी संक्रमित व्यक्ति के साथ सीधे त्वचा के संपर्क में आने से फैलता है।
  • पशु से  - यह किसी संक्रमित जीव के संपर्क में आने से भी हो सकता है। संक्रमित कुत्ते या बिल्लियों को छूने से दाद फैल सकता है। इस प्रकार का संक्रमण गायों में काफी आम है।
  • वस्तु से - दाद उन वस्तुओं या सतहों के संपर्क में आने से फैल सकता है जो एक संक्रमित व्यक्ति या जानवर ने छुआ या रगड़ा हो जैसे कि कपड़े, तौलिया, बिस्तर, कंघी और ब्रश आदि।



आपको त्वाचा पर इस संक्रमण के फैलने का अधिक खतरा कब होता है।

  • ज्यादा गर्म जलवायु में रहने से।
  • किसी संक्रमित व्यक्ति या जानवर के साथ संपर्क में आने से।
  • किसी ऐसे व्यक्ति जिन्हें फंगल संक्रमण है उनके कपड़े, बिस्तर या तौलिया इस्तेमाल करने से।
  • ऐसे खेलों में भाग लेने से, जिनमें त्वचा से त्वचा का संपर्क हो, जैसे रेसलिंग।
  • अगर आपका प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर हो।

इसे भी पढ़ें: दमकती व स्‍वस्‍थ त्‍वचा पाने के लिए मानसून में ऐसे रखें अपनी त्वचा का खास ख्‍याल

दाद (Ringworm) से कैसे बचें? आइए जानते हैं इससे बचने के कुछ सरल उपाय

  • खुद को और दूसरों को ऐसे संक्रमणों के बारे में अच्छे से जानकारी दें और इसके बचाव के तरिके को एक-दूसरे से साझा करें। किसी संक्रमित लोगों या पालतू जानवरों से दाद के खतरे से हमेशा अवगत रहें।
  • अपने स्वच्छता पर विशेष ध्यान रखें। संक्रमण के प्रभाव से बचने के लिए अपने हाथों को हमेशा धोएं।
  • अपनी स्किन को सुखाकर रखें, हमेशा साफ-सुथरे और सूखे कपड़े पहनें।
  • अपना निजी सामान साझा न करें। आप इससे प्रभावित व्यक्ति के कपड़े, तौलिया, कंघी, ब्रश या अन्य व्यक्तिगत वस्तुओं का उपयोग कभी न करें।

Read more articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK