पीरियड्स के दौरान ऐसे करें बढ़ते वजन को काबू

पीरियड्स के दौरान ऐसे करें बढ़ते वजन को काबू

पीरियड्स के दौरान कई महिलाओं को छाती में भारीपन भी महसूस होता है। आज हम आपको महिलाओं में पीरियड्स के दौरान वजन बढ़ने के कारण बता रहे हैं।

चाहे कोई महिला या फिर लड़की, पीरियड्स के दौरान हर किसी का थोड़ा बहुत वजन बढ़ना आम बात है। पीरियड्स के दौरान पेट दर्द, कमर दर्द, उल्टी आना और ब्लोटिंग जैसी समस्याओं के साथ ही हर महिला को पीरियड्स के दौरान बढ़ने वजन की समस्या से भी गुजरना पड़ता है। कई महिलाओं में पीरियड्स के द्धारा बढ़ा गया वजन महावारी के खत्म होते ही या उसके कुछ दिनों में सामान्य हो जाता है। पीरियड्स के दौरान कई महिलाओं को छाती में भारीपन भी महसूस होता है। आज हम आपको महिलाओं में पीरियड्स के दौरान वजन बढ़ने के कारण बता रहे हैं।

इसे भी पढ़ें, पीरियड्स में फायदेमंद है गाजर का जूस, जानें कैसे

ब्लोटिंग की समस्या के कारण

कई महिलाएं ऐसी होती हैं जिन्हें पीरियड्स शुरू होने के कुछ दिन पहले से ही अपने शरीर में भारीपन यानि कि वजन बढ़ने का एहसास होता है। इस प्रक्रिया को ही ब्लोटिंग या वॉटर रिटेंशन कहते है। यह प्रक्रिया कई महिलाओं को पीरियड्स होने के लगभग 10 दिन पहले ही महसूस होने लगती है। अगर आपके साथ भी ऐसा होता है तो यह कोई चिंता की बात नहीं है। क्योंकि शरीर में ये बदलाव हार्मोंस के चलते होते हैं। पीरियड्स से पहले शरीर में कुछ मात्रा में तरल पदार्थ जमा होने लगते हैं। यही वजह है कि बहुत सी महिलाओं को पीरियड्स से पहले उनका वजन बढ़ा हुआ महसूस होता है। साथ ही उन्हें इस समय ब्रेस्ट टेंडरनेस जैसी अन्य असुविधाएं भी महसूस होती हैं। जिन महिलाओं को निर्धारित समय से लेट पीरियड्स होते हैं उनमें भी यह समस्या देखी जाती है।

इसे भी पढ़ें, मेनोपॉज के बाद महिलाओं को ह्रदय रोग से बचाएंगे ये 5 टिप्‍स

गैस और डायरिया होने की समस्या


पीरियड्स के दौरान महिलाओं के शरीर में शारीरिक बदलावों के साथ ही कई अन्य बदलाव भी होते हैं। इस वक्त अक्सर महिलाओं का मूड चिड़चिड़ा रहता है। किस वक्त उनका मूड बदल जाए कोई नहीं जानता। ठीक ऐसा ही बदलाव महिलाओं के स्वाद में भी होता है। पीरियड के दौरान महिलाओं का मन मीठा खाने के बजाय नमकीन खाने का करता है। इस वक्त महिलाओं को ज्यादा नमकीन और स्पाइसी फूड खाने का करता है। जिसके चलते शरीर में तरल पदार्थ जमा होने लगते हैं, और आपका शरीर फूला हुआ या वजन बढ़ा हुआ महसूस होने लगता है। पेट में बनी गैस और डायरिया की वजह से आपका शरीर और फुला हुआ दिखाई पड़ता है। इस दौरान इमरजेंसी कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स लेने से आपके शरीर में और अधिक हार्मोनल बदलाव और ब्लोटिंग का कारण बनते हैं।

नमक खाने के चलते


जिन महिलाओं को पीरियड्स के वक्त या उसके आगे-पीछे वजन बढ़ने की शिकायत होती है उन्हें अपने खाने में नमक की मात्रा कम करनी पड़ेगी। अचार, ब्रेड, सोडियम से भरपूर चीजें और सोडा जैसी चीजों को इस दौरान बिल्कुल नहीं लेना चाहिए। पीरियड्स के वक्त जितना हो संतुलित डाइट लें और अधिक से अधिक फलों का सेवन करें।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Women Health In Health

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।