Post Holi Detox Tips: होली के जश्‍न के बाद इन 5 तरीकों से करें शरीर को डिटॉक्‍स और रहें फिट

Updated at: Mar 11, 2020
Post Holi Detox Tips: होली के जश्‍न के बाद इन 5 तरीकों से करें शरीर को डिटॉक्‍स और रहें फिट

Post Holi Detox Tips: फेस्टिवल मोड से वापस अपनी हेल्‍थ को ट्रेक पर कैसे लाएं, उसके लिए यहां कुछ जरूरी टिप्‍स बताए हैं।  

स्वाती बाथवाल
तन मनWritten by: स्वाती बाथवालPublished at: Mar 11, 2020

चाहे वह होली हो या देश भर में कोई अन्य त्योहार, हर त्‍योहार प्‍यार और मेल-मिलाप का त्‍योहार होता है। स्‍वादिष्‍ट खानपान और ड्रिंक्‍स के बिना त्‍योहारों को अधूरा माना जाता है। होली के त्‍योहार पर देशभर में लोग ठंडाई, गुजिया, खीर, कुल्फी, पकोड़े, पानी पूरी, चाट और भांग के साथ मिठाइयों को नहीं भूलते हैं। नाच-गाने और बहुत सारी मस्ती के साथ, हम इन खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों को याद करते हैं। होली में अक्सर ठंडाई का सेवन किया जाता है, क्योंकि सौंफ के बीज, खसखस अपच को कम करते हैं और गुलाब की पंखुड़ियों के शरबत से शरीर का तापमान कम होता है, वहीं पुदीना और दालचीनी प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है और यह स्वास्थ्य के लिए एक अमृत समान हैं।

इसलिए अब जब हमने ठंडाई के कई लाभों के बारे में सुना है, तो हम ठंडाई के साथ या रंगों के साथ खेलते हुए विभिन्न स्नैक्स भी खाते हैं। जिसके लिए अगले दिन शरीर को डिटॉक्स करना बहुत जरूरी हो जाता है। डिटॉक्‍स न केवल वजन कम करने में मदद करता है, बल्कि यह आपके शरीर की मरम्मत करने का एक शानदार तरीका है।

होली के बाद फास्टिंग 

Post Holi Detox Tips

जब हम फास्टिंग या उपवास करते हैं, तो हमारा शरीर डिटॉक्स होता है। हमारा पाचन तंत्र इस दौरान अधिक आराम से रहता है और शरीर हीलिंग के लिए ऊर्जा का उपयोग करता है। यह एक व्यक्ति पर निर्भर है कि वे कैसे उपवास करना चाहता है। कुछ लोग इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हैं - जहाँ वे अपने अंतिम भोजन से 12-16 घंटे तक कुछ भी नहीं खाते हैं, सिवाय पान या फिर बिना पानी के। जब वे अपने अंतिम भोजन से 12- 20 घंटे तक पानी और भोजन का सेवन नहीं करते हैं, या कुछ लोग फास्टिंग को फल और सब्जियां खाने और उपवास के दौरान नमक न खाने के साथ करते हैं। उपवास का मतलब साबूदाना, कटलेट, तले हुए आलू जैसे तले हुए खाद्य पदार्थ खाने से नहीं है। आप एक सप्‍ताह में - 1 दिन उपवास या महीने में 4 दिन उपवास कर सकते हैं, जो कि सबसे बेस्‍ट है। 

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए पानी पिएं 

शरीर को डिटॉक्‍स करने के लिए पानी एक बेहतरीन माध्यम है, यह शरीर के विषाक्त पदार्थों को हमारे सिस्टम से बाहर निकालने में मदद करता है। खासकर पसीने और मूत्र के माध्यम से। यदि आप कुछ जड़ी-बूटियों और फलों के साथ अपने पानी में फ्लेवर जोड़ते हैं, तो वह न केवल पानी में स्वाद बढ़ाते हैं, बल्कि पोषक तत्वों को भी जोड़ने में मदद करते हैं। मैं अक्सर ऑरेंज स्‍लाइस को एक चुटकी श्रीलंकाई सीलोन दालचीनी या पुदीने की पत्तियों, ताजी धनिया पत्ती, चुकंदर या पालक के पत्तों के साथ पानी में मिलाती हूं।

इसे भी पढें: डॉक्टर स्वाति बाथवाल से जानें ऑस्टियोअर्थराइटिस से राहत पाने के लिए कैसा हो खान-पान

ऑयल पुलिंग 

Coconut Oil Pulling

हमारे पूर्वज भी तेल का कुल्‍ला करने की सलाह देते हैं। जिसमें प्राकृतिक तेलों जैसे तिल का तेल या शुद्ध नारियल तेल का उपयोग एक माउथ क्लींजर के रूप में किया जा सकता है। सुबह जल्दी से उठकर इन तेल के साथ एक चम्मच तेल का उपयोग करें। आप अपने मुंह में तेल को लगभग 5 मिनट से 20 मिनट के लिए पूरे मुंह के अंदर घुमाकर कुल्‍ला करें। ध्‍यान रखें तेल का सेवन न करें। यह अभ्यास हमारे शरीर में रातों-रात बनने वाले विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है और हमारे पेट को भी स्वस्थ रखने के साथ-साथ मौखिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाता है। 

स्वाति बथवाल, मान्यता प्राप्त स्‍पोर्ट्स डाइटीशियन एक्‍सपर्ट हैं। जैसा कि अगर आप हर दिन इस तकनीक का अभ्यास करते हैं, तो इससे आपको विषाक्त पदार्थों को निकालने के साथ-साथ आपकी त्वचा में भी सुधार होता है। 

फलों का सेवन करें 

शरीर को डिटॉक्स करने वाले दिनों के लिए आप अपने खाने में से एक मील में फलों को जोड़ें और एक क्रंच के लिए अपने फलों के सलाद में कुछ नट्स और हर्ब्स जोड़ें। मैं हमेशा एक सेब, अमरूद और स्ट्रॉबेरी के साथ एक क्रंच के लिए कुछ अखरोट या बादाम जोड़ती हूं।

इसे भी पढें:  दिल से लेकर लिवर को स्‍वस्‍थ रखता है पहाड़ी बुरांश का जूस, जानें 5 फायदे

ताजा सब्जियों का जूस 

Vegetable Juice

फलों के रस का उपयोग करने के बजाय, जो फ्रुक्टोज और शुगर में हाई होते हैं, उनकी जगह आप सब्जियों के रस का सेवन करें। मैं उन्हें कच्चा खाना पसंद करती हूं, लेकिन सब्‍जियों का जूस नाश्ते के रूप में आश्चर्यचकित करता है। मैं अक्सर गाजर और चुकंदर को अदरक या हल्दी जैसी जड़ी-बूटी के साथ मिलाकर इस्तेमाल करती हूं। अदरक या काली मिर्च जोड़ने से जूस को बेहतर तरीके से पचाने में मदद मिलती है।

इसके अलावा, कोई भी वेजिटेबल स्मूथी आप चुन सकते हैं। 

अच्छी नींद लें  सो

क्या आप जानते हैं कि जब आप सोते हैं, तो आपका शरीर कोशिकाओं की मरम्मत करता है। यह आपके सोने की घंटों पर निर्भर नहीं है, यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी नींद कितनी अच्छी है। जब हम अच्छी नींद लेते हैं, तो हमारा शरीर बहुत सारे विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देता है। जब हम सोते हैं, तो हमारा लिवर पुनर्जीवित होता है और हमारा लसीका तंत्र विषाक्त पदार्थों को निकालने में कुशलता से काम करता है। इतना ही नहीं यह हमारी त्वचा की भी मरम्मत करता है और हमारे बालों के विकास में भी सहायक है। लगभग 6.5 घंटे - 7 घंटे की नींद इस प्रक्रिया के लिए पर्याप्त है।

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए आप दिन में आराम करें। ह मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए जरूरी है और कुछ योगासन, प्राणायाम करें। इसी के साथ आप सभी को होली की शुभकामनाएं और ग्रीष्मकाल में आपका का स्वागत है।

Read More Article On Mind and Body In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK