जानिए लव हार्मोन यानी ऑक्सीटोसिन को बढ़ाने के कुछ तरीके और इसके फायदे

Updated at: Oct 19, 2020
जानिए लव हार्मोन यानी ऑक्सीटोसिन को बढ़ाने के कुछ तरीके और इसके फायदे

वैसे तो ऑक्सीटोसिन हार्मोन आप के शरीर में प्राकृतिक रूप से पाया जाता है। परन्तु यदि आप इसे बढ़ाना चाहते हैं तो इन टिप्स को फॉलो करें।

Monika Agarwal
तन मनWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 08, 2020

क्या आप जानते हैं कि हमारे शरीर में कुछ ऐसे हार्मोन भी होते हैं जो हमारे मन और शरीर को रिलैक्स करते हैं। दरअसल हमारे शरीर में ऐसे ही एक हार्मोन जिससे लव हार्मोन के नाम से भी जाना जाता है ऑक्सीटॉसिन रिलीज करता है ताकि हमारा मन और शरीर शांत रहे। ऑक्सीटॉसिन के रिलीज होने से हमारा मन और मस्तिष्क पर असर पड़ता है व मूड अच्छा। इसलिए ऑक्सीटोसिन हार्मोन आप की किसी अन्य व्यक्ति के साथ बॉन्डिंग बनाने में एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यही नहीं यह सेक्स इंटिमेसी  वाले हार्मोन के रूप में भी जाना जाता है। 

नियमित कसरत करें

कसरत करने से आप के जीवन में कई सारे लाभ होते हैं जिनमें से एक है ऑक्सीटोसिन का बढ़ना। यदि आप नियमित रूप से कसरत या मेडिटेशन करेंगे तो आप को एंग्जाइटी व स्ट्रेस से राहत मिलेगी। आप को अच्छी नींद आयेगी। जिस से आप का शरीर और मन शांत रहेगा। व आप के शरीर में ऑक्सीटोसिन हार्मोन का लेवल बढ़ेगा।

;ove hormone  

गुनगुनायें

मन को खुश रखने के लिए गुनगुनाएं और यदि संगीत  सुनना पसंद करते हैं तो संगीत सुनें। असल में यह क्रियायें  आप के मूड को पहले से बेहतर बना, फोकस और प्रेरणा में सुधार करतीं हैं। यदि आप का मूड बेहतर होगा तो आप चिंता या स्ट्रेस कम लेंगे। जिसकी वजह से आप की बॉडी रिलैक्स रहेगी और आप के अंदर ऑक्सीटोसिन हार्मोन का उत्पादन अधिक होगा। साथ ही आप सकारात्मक महसूस करेंगे और अधिक ऊर्जा के साथ अपने कार्य में मन लगा पाएंगे। 

बॉडी को रिलैक्स करें

ऑक्सीटॉसिन का लेवल बनाने के लिए जरूरी है मन और शरीर का रिलैक्स रहना। पूरे शरीर को रिलैक्स करने के लिए बाॅडी की कुछ मिनट की  मसाज, न केवल आपके शरीर को रिलैक्स करती है बल्कि आप के शरीर में ऑक्सीटोसिन के लेवल को भी बढ़ाने में सहायता करती है। अतः कभी कभार आप को भी बॉडी मसाज करा लेनी चाहिए या खुद कर लेनी चाहिए। जरूरी नहीं कि आप किसी एक्सपर्ट से ही मालिश कराएं। आप घर के किसी सदस्य से भी मालिश करा सकतीं हैं। इससे आपके शरीर का दर्द,तनाव कम होता है। 

इसे भी पढ़ें: अल्‍जाइमर के इलाज में मददगार साबित हो सकता है लव हार्मोन ऑक्सीटोसिन: शोध

प्यार और स्नेह साझा करें 

यदि आप जिस व्यक्ति से प्रेम करते हैं उन को यह एहसास दिलाएं कि वह आप के लिए क्या हैं और आप उनकी कितनी केयर करते हैं। दूसरों के साथ अपने भावनात्मक संबंध को मजबूत करना चाहते हैं तो उन्हें बताएं कि आप उनके लिए कैसा महसूस करते हैं।उन लोगों के साथ अपने प्यार और स्नेह को सांझा करना जो आपके लिए सबसे अधिक मायने रखते हैं, कुछ तरीकों से ऑक्सीटोसिन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

love with friends

अकेलापन दूर करें

यदि अकेलापन या स्ट्रेस व चिंता को दूर करने में आप अपने दोस्तो और करीबियों के साथ कुछ समय बिताते हैं, तो आप को इमोशनल रूप से मजबूत बनने में मदद मिलेगी। इससे आप को अकेलापन महसूस नहीं होगा। आपके दोस्तों के साथ आपकी  भावनाएं, आपको अधिक सकारात्मक महसूस करने में मदद कर सकती हैं।जिसकी मदद से आप के शरीर का ऑक्सीटोसिन लेवेल बढ़ सकता है। 

रिश्ते मजबूत करें 

जिसके प्रति आप बहुत ईमानदार व जिसकी आप केयर करते हैं, उनके साथ कभी खाना बना कर या खाकर देखें। साथ खाना बनाना व खाना आप के प्रेम को और अधिक बढ़ाने में सहायता करेगा। आपको गुड फील होगा और आपका ऑक्सीटॉसिन लेवल बढ़ेगा।  दोस्तों या साथी के साथ भोजन तैयार करना मन को सुकून और आनंद देता  है। इस बहाने से आप उन लोगों के साथ समय बिता पाते हैं जिन्हें आप पसंद करते हैं। यह सेतु का कार्य कर आपके रिश्ते को मजबूत बनायेगा। 

इसे भी पढ़ें: अच्छे मूड, अच्छी सेहत और फिट बॉडी के लिए महत्वपूर्ण हैं ये 6 हार्मोन, जानें इन्हें बूस्ट करने का तरीका

थैंक्स बोलें

जिस व्यक्ति से आप प्रेम करते हैं उन को समय समय पर धन्यवाद कहें। ताकि उन्हें आप के प्रेम का एहसास हो। ऐसा करने से आप दोनों के बीच बॉन्डिंग और भी मजबूत बन सकती है। शारीरिक अंतरंगता के बहुत से रूप हैं लेकिन हाथ पकड़ना और मानमुहार करना आपके रिश्ते को मजबूत बनाएगा। अपने साथी, बच्चे, या यहाँ तक कि अपने पालतू जानवर के साथ बिताए कुछ प्यार भरे पल, ऑक्सीटॉसिन लेवल बढ़ाने के लिए काफी होते हैं।   

Read More Articles on Mind and Body in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK