• shareIcon

टेलीविज़न का शौक़ हो सकता है सेहत के लिए ख़तरा

एक्सरसाइज और फिटनेस By Rahul Sharma , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 31, 2011
टेलीविज़न का शौक़ हो सकता है सेहत के लिए ख़तरा

टेलीविजन का शौक आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जोखिम पैदा कर सकता हैं। कई सारे रिसर्च बताते हैं कि कई बीमारियां जैसे- डायबिटीज, मोटापा और हृदय रोग आदि का कारण बन सकता है।

टीवी देखना किसे पसंद नहीं, लेकिन क्या आप जानते हैं ये टेलीविजन आपके स्वास्‍थ्‍य के लिए खतरनाक हो सकता हैं। लंबे समय तक टेलीविजन देखते रहने से कई बीमारियां जैसे- डायबिटीज, मोटापा और हृदय रोग हो सकते हैं। इतना ही नहीं टेलीविजन का शौक आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए जोखिम पैदा कर सकता हैं। आइए जानें टेलीविजन का शौक सेहत के लिए क्यों हा खतरनाक।

 

 

 

Watching Television

 

 

 

 

शोध के चौंका देने वाले परिणाम

यदि आप बहुत ज्यादा टेलीविजन देखते हैं तो आपके लिए यह जोखिम भरा साबित हो सकता है। एक रिसर्च के माध्यम से यह बात सामने आई है। ऑस्ट्रेलियाई अनुसंधानकर्ताओं के नेतृत्व में एक अंतरराष्ट्रीय टीम द्वारा किये गए अध्ययन में यह बात सामने आई थी कि टीवी देखकर गुजारा गये दिन का हर घंटा दिल की बीमारी से होने वाली मौत का जोखिम बढ़ा सकता है। अपने इस अनुसंधान में टीम ने यह भी पाया था कि दिन में दो घंटे से कम समय तक टीवी देखने वालों की तुलना में चार घंटे से अधिक समय तक टेलीविजन देखने वालों को दिल की बीमारी से मौत का खतरा 80 प्रतिशत तक अधिक था।

 

 

 

Watching Television

 

 

 

 

अध्ययन के अनुसार न केवल टीवी देखने से बल्कि वे सभी काम जिनमें लगातार बैठे रहना पड़ता है, स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकते हैं। इनमें कम्प्यूटर के सामने लगातार बैठे रहना भी शामिल है। दरअसल ऑस्ट्रेलियाई शोधकर्ताओं ने इस अपने इस अध्ययन के लिए 8,800 लोगों पर शोध किया था। इनमें 3,846 पुरुष और 4,954 महिलाएं शामिल थीं। सभी प्रतिभागियों की आयु 25 वर्ष से अधिक थी और इनमें से किसी को भी प्रतिभागी को दिल की बीमारी नहीं थी।

 

 

शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों की टेलीविजन देखने की आदतों के आधार पर उन्हें तीन श्रेणियों में बंटा था। इनमें दो घंटे से कम समय तक टीवी देखने वाले, दो से चार घंटे तक टीवी देखने वाले और चार घंटे से अधिक टीवी देखने वाले लोगों की श्रेणियां बनाई गयी थीं। अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि अगले छह वर्षो के दौरान इनमें से 284 प्रतिभागियों की मौत हो गई, जिनमें से 87 की दिल की बीमारी से और 125 की कैंसर के कारण मौत हुई थी।

 

 

 

कुछ अन्य तथ्य

 

 

  • हाल ही में हुए शोधों से ये खुलासा हुआ है कि लंबे समय तक टीवी देखने से हृदय रोग और डायबिटीज जैसी बीमारियां हो सकती हैं। यानी दो घंटे से अधिक टीवी जहां लगभग 20 फीसदी आपमें डायबिटीज वहीं 15 फीसदी हृदय रोग होने की संभावना बढ़ा देता हैं।
  • टीवी देखने के दौरान यदि आप बीच-बीच में गैप देंगे तो आप डायबिटीज और हृदय रोगों से खतरों से बच सकते हैं।
  • हालांकि टीवी देखने में कोई समस्या नहीं हैं, लेकिन जो लोग लगातार टीवी देखने रहते हैं वे शारीरिक रूप से निष्क्रिय रहते हैं जिससे उनका मोटापा बढ़ने की संभावना रहती हैं। आंखों में दर्द होना या इससे संबंधित बीमारियां होने का खतरा बना रहता हैं।
  • इतना ही नहीं लगातार टीवी देखने से आपकी मौत का खतरा भी बढ़ जाता हैं। दरअसल लगातार टीवी देखते-देखते यदि टीवी में कोई ऐसी घटना या सीन आए जो आपको मानसिक रूप से प्रभावित करे तो आपको हार्ट अटैक आने का खतरा भी बढ़ जाता हैं जो कि मौत का कारण बन सकता हैं।
  • सिर्फ टीवी देखना ही नहीं बल्कि लगातार कंप्यूटर पर बैठकर गेम्स खेलना, इंटरनेट पर सर्फिंग करना या ऐसा कोई भी कार्य जो आपकी गतिविधियों को निष्क्रिय बना देता हैं, वह आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक होता है।

  • ध्यान रहें एकाध बार या कभी-कभी लगातार टीवी देखना नुकसानदायक नहीं बल्कि प्रतिदिन ऐसा करने से आपके स्‍वास्‍थ्‍य को हानि पहुंचती हैं।
  • आंकड़ों पर गौर करें तो प्रतिदन दो घंटे या उससे अधिक टीवी देखने से एक लाख में से 38 लोगों के दिल की बीमारी से मरने और 176 लोगों के डायबिटीज़ होने का खतरा बढ़ जाता हैं।

 

 

 

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि शरीर का गतिशील रहना कितना जरूरी हैं इतना ही नहीं आपको दिनभर में लगातार दो घंटे तक टीवी नहीं देखना चाहिए। साथ ही आपको प्रतिदिन व्यायाम को भी अपनी दिनचर्या में शामिल करना चाहिए।

 

 

 

Read More Articles On Sports & Fitness in Hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK