Food For Fertility: बेहतर प्रजनन क्षमता के लिए क्या खाएं और किससे करें परहेज, जानिए IVF एक्‍सपर्ट से

Updated at: Jul 20, 2020
Food For Fertility: बेहतर प्रजनन क्षमता के लिए क्या खाएं और किससे करें परहेज, जानिए IVF एक्‍सपर्ट से

सही आहार के साथ प्रजनन क्षमता को बेहतर किया जा सकता है। प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाए रखने के लिए क्या खाना चाहिए और किन चीजों से परहेज करना चाहिए।

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jul 20, 2020

आपने अक्सर लोगों को ये कहते सुना होगा कि हमारा स्वास्थ्य हमारी सबसे बड़ी पूंजी हैं और मां बनना जीवन का सबसे बड़ा सुख है। लेकिन आज बढ़ता तनाव, अनियमित पीरियड्स, अल्‍कोहल में मौजूद टॉक्सिन, हाई या लो बीएमआई जीवनशैली और आहार से जुड़े कुछ ऐसे कारक है जो प्रजनन क्षमता को बुरी तरह से प्रभावित कर रहे हैं। 

बांझपन हमारी जीवनशैली की आदतों पर निर्भर करता  है। प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देने के लिए फर्टिलिटी एक्‍सपर्टस भी हेल्‍दी डाइट लेने की सलाह देते हैं। एक हेल्दी डाइट का किस प्रकार हमारे स्वास्थ्यय पर असर पड़ता है और हेल्दी डाइट का सेवन कैसे करें मालूम होना चाहिए।

diet

प्रजनन क्षमता को बेहतर करने के लिए इन चीजों का सेवन करें:

फॉलिक एसिड (Folic Acid) 

फॉलिक एसिड युक्त पदार्थों को अपने खाने में शामिल करें। पत्तियों वाली सब्जी जैसे पालक, मैथी आदि को डाइट में शामिल करें। इनमें विटामिन बी के साथ ही फॉलिक एसिड भी होता है जो फर्टिलिटी को बेहतर बनाते हैं।

मैग्नीशियम और विटामिन बी (Magnesium and Vitamin B) 

हार्मोनल एक्टिविटी के सुधार के लिए ये दोनों ही चीजें बेहद जरूरी हैं।

जिंक (Zinc) 

इसका पर्याप्त मात्रा में सेवन प्रजनन क्षमता को बेहतर करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

विटामिन डी  (Vitamin D) 

इम्‍यून‍ सिस्‍टम के सही तरह से काम करने के लिए बेहद जरूरी होता है।

विटामिन ई (Vitamin E) 

ऑक्सीडेटिव तनाव को रोकने के लिए मददगार है।

हरी पत्तेदार  (Green Vegetables) 

सब्जियों का सेवन करने से प्रजनन क्षमता बेहतर होती है। हरी सब्जियों में मौजूद आयरन, फोलिक एसिड और एंटीऑक्सीडेंट महिला को कंसीव करने में मदद करते हैं।

सूखे मेवे (Dry Fruits) 

जल्दी गर्भधारण करने के लिए महिलाओं को अपनी डाइट में सूखे मेवों को शामिल करना बिल्कुल नहीं भूलना चाहिए। इनमें मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होता है। 

फल (Fruits) 

अगर आप जल्दी कंसीव करना चाहती हैं तो फलों में संतरा, स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरी और किवी फ्रूट जैसे फलों का रोजाना सेवन करें। इन फलों में मौजूद विटामिन सी फर्टिलिटी को बेहतर करता है।

रेशा युक्त आहार (Fibre Food) 

अपने भोजन में रेशा युक्त आहार जैसे साबुत अनाज, गेहूं की रोटियां, ब्राउन राइस और बींस को जरूर शामिल करें। ये पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के साथ फर्टिलिटी को भी बेहतर बनाता है।

इसे भी पढ़ें: पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए आहार

diet

प्रजनन क्षमता को बेहतर बनाए रखने के लिए इन चीजों के सेवन से परहेज करें:

कैफीन (Caffene)

जो लोग रोज पांच कप कॉफी के बराबर कैफीन का सेवन करते हैं, उन्हें कंसीव करने में ज्यादा समय लगता है।

धूम्रपानमारीजुआना (गांजा) और कोकेन (Smoking)- 

धूम्रपान कंसीव करने की क्षमता को खराब करता है और गर्भपात का खतरा बढ़ाता है। यह भी कहा जाता है कि सिगरेट के धुएं में जो रसायन होता है वह दंपत्तियों में कंसीव करने की क्षमता को खराब करता है।

शराब (Alcohol)

अधिक मात्रा में ली गई शराब बांझपन को बढ़ाने का काम करती है। शराब का सेवन शरीर में विटामिन बी की कमी कर देता है। विटामिन बी की कमी गर्भावस्था की संभावनाओं को कम करने का काम करती है। इसलिए शराब के सेवन से दूर रहें।

इसे भी पढ़ें: महिलाओं में फर्टिलिटी बढ़ाने में फायदेमंद हैं ये 5 प्रकार के आहार

ट्रांस फैट वाले फूड (Trans Fats)

इनफर्टिलिटी को बढ़ाने का काम करते हैं। कुछ फूड जैसे चिप्स, माइक्रोवेव पॉपकॉर्न, बेक्ड आइटम्स, फ्राइड फूड्स आदि इंफ्लामेशन बढ़ाने के साथ ही इंसुलिन रजिस्टेंस को भी बढ़ा देते हैं। इस कारण से इनफर्टिलिटी की संभावना बढ़ जाती है।

इसलिए ऐसे आहार से दूरी बनाएं जो वजन बढ़ाते हैं जैसे कि अधिक तेल मसाले वाला खाना, प्रॉसेस्ड फूड, पिज्जा-बर्गर आदि।

खराब वसा और अधिक कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) वाले खाने से परहेज़ करें।

Inputs: इंदिरा आईवीएफ हास्पिटलआईवीएफ एक्सपर्ट डॉ. सागरिका अग्रवाल से बातचीत पर आधारित।

Read More Articles On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK