• shareIcon

Vitamin C For Blood Pressure: घटता-बढ़ता रहता है ब्लड प्रेशर तो खाएं विटामिन-सी, बीमारियों से रहेंगे कोसो दूर

अन्य़ बीमारियां By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 24, 2012
Vitamin C For Blood Pressure: घटता-बढ़ता रहता है ब्लड प्रेशर तो खाएं विटामिन-सी, बीमारियों से रहेंगे कोसो दूर

भागमभाग और तनाव भरी जिंदगी में लोगों के अंदर ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) की समस्या बढ़ रही है। जितना घातक हाई ब्लड प्रेशर होता है उतना ही नुकसानदेह लो ब्लड प्रेशर। लो ब्लड प्रेशर की स्थिति वह होती है कि जिसमें रक्तवाहिनियों में खून का दबाव काफी कम हो जा

भागमभाग और तनाव भरी जिंदगी में लोगों के अंदर ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) की समस्या बढ़ रही है। जितना घातक हाई ब्लड प्रेशर होता है उतना ही नुकसानदेह लो ब्लड प्रेशर। लो ब्लड प्रेशर की स्थिति वह होती है कि जिसमें रक्तवाहिनियों में खून का दबाव काफी कम हो जाता है। सामान्य रूप से 90/60 एमएम एचजी को लो ब्लड प्रेशर की स्थिति माना जाता है। दरअसल हम जो भी खाते-पीते हैं, उसका प्रभाव हमारे दिल, दिमाग और शरीर के अन्य सभी अंगों पर पड़ता है। गलत जीवनशैली और अशुद्ध आहार के कारण बहुत सी बीमारियों का खतरा बढ़ गया है। इनमें से एक है ब्लड प्रेशर की समस्या, जो कि कई गंभीर बीमारियों का कारण बनती है। अशुद्ध और अस्वस्थ आहार के कारण हार्ट अटैक और हार्ट फेल्योर जैसी बीमारियों का जोखिम बढ़ गया है। विटामिन सी को अपने आहार में शामिल करने से दिल की बीमारियों की संभावना बहुत हद तक घट जाती है। इसलिए आज हम आपको बता रहे हैं कि विटामिन सी वाले पदार्थों को आप अपने आहार में कैसे शामिल कर सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर का खतरा आजकल के जीवन में बहुत आम हो चुका है। चुपके-चुपके यह रोग आपके शरीर में कब अपना घर बना लेता है, इसकी भनक तक नहीं लगती। डॉक्टरों का मानना है कि जीवनशैली में आ रहे बदलाव के कारण प्राय: हर घर में एक न एक व्यक्ति को इसकी शिकायत देखने को मिल रही है। लेकिन हाल में किए गए एक शोध के मुताबिक महिलाओं में विटामिन सी का उच्च स्तर ब्लड प्रेशर (रक्तचाप) को कम रखने में मददगार साबित होता है।

क्‍या है ब्‍लड प्रेशर

रक्त नलिकाओं पर पड़नेवाले खून के दबाव को ब्लड प्रेशर कहते हैं। शरीर में, दिल, धमनियों के माध्यम से पूरे शरीर में ब्‍लड का सर्कुलेशन लगातार होता रहता है। हाई ब्लड प्रेशर का प्रमुख कारण धमनियों की दीवारों का अपने सामान्य आकार से मोटा और संकुचित हो जाना है। इस कारण शरीर में ब्‍लड सर्कुलेशन सहज गति से नहीं हो पाता और दिल को रक्त पंप करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है।

विटामिन सी से भरे ये खाद्य पदार्थ अपनी डाइट में करें शामिल

नींबू का रस

विटामिन सी का सबसे बेहतर और सस्ता स्रोत है नींबू। एक नींबू में पाई जाने वाली विटामिन सी की मात्रा आपकी दैनिक जरूरत का लगभग आधा हिस्सा पूरा कर देता है। अगर आप रोज सुबह खाली पेट नींबू पानी पीएंगे तो आपका वजन के साथ-साथ दिल और ब्लड प्रेशर दोनों ही नियंत्रण में रहेगा।

इसे भी पढ़ेंः  सोते वक्त पादने की समस्या से हो चुके हैं परेशान तो अपनाएं ये 4 उपाय, मिलेगा आराम

संतरा

संतरा, विटामिन सी का अच्छा स्रोत है साथ ही ये स्वादिष्ट भी होता है। ये इम्युनिटी बढ़ाने के साथ साथ आपको 51.1 मिलीग्राम विटामिन सी प्रदान करता है।

आंवला

एक आंवले में लगभग तीन संतरे के बराबर विटामिन-सी होता है इसलिए अगर आप रोज सिर्फ दो आंवला खा लेते हैं तो आपके शरीर में विटामिन सी की कभी कमी नहीं होगी।

शिमला मिर्च का प्रयोग

शिमला मिर्च में ढेर सारे एंटीऑक्सिडेंट्स मौजूद होते हैं और इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो दिमाग के स्ट्रेस को दूर करता है और इससे शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा भी कम होती है।

इसे भी पढ़ेंः दाईं किडनी में अक्सर दर्द रहने के पीछे हो सकते हैं ये 4 कारण, ऐसे पहचानें इसके लक्षण

अंगूर 

अंगूर स्वादिष्ट और सेहतमंद दोनों होता है। अंगूर में कैलोरी, फाइबर के साथ-साथ विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन के भरपूर मात्रा में होता है। अंगूर के रोजाना सेवन से उम्र भी बढ़ती है।

शोध की मानें तो

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी के प्रमुख शोधकर्ता डा. ग्लेडिस ब्लाक विटामिन सी की उच्च मात्रा को ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में कारगर बताते हैं। पूर्व में किए गए शोधों में भी विटामिन सी (एस्कार्बिक एसिड) में मौजूद प्लाज्मा के उच्च स्तर को अधेड़ व वृद्ध महिलाओं में ब्लड प्रेशर को कम करने में कारगर पाया गया है। एस्कार्बिक एसिड विटामिन सी का एक मुख्य स्रोत होता है।

शोध के परिणाम

वैज्ञानिकों ने प्रयोग में 18 से 21 साल की 242 श्वेत व अश्वेत लड़कियों को शामिल किया। जब इन्हें शोध में शामिल किया गया तब इनकी उम्र 8 साल थी। लगभग 10 साल तक चले शोध के बाद विटामिन सी में प्लाज्मा का स्तर व ब्लड प्रेशर की जांच की गई।

जिन महिलाओं में विटामिन सी का उच्च स्तर पाया गया उनमें सिस्टोलिक (हृदय में संकुचन) ब्लड प्रेशर में 4.66 मिली व डायस्टोलिक (हृदय में फैलाव) में 6.04 मिली की कमी देखी गई। अध्ययन में सामान्य से ज्यादा फलों, सब्जियों या मल्टीविटामिन (विटामिन सी सप्लीमेंट्स) लेने पर एस्कार्बिक एसिड का स्तर ज्यादा पाया गया। संतरा, अंगूर, टमाटर, आलू व फूल गोभी (ब्रोकली) इसके प्रमुख स्रोत माने जाते हैं।

अन्‍य उपाय

  • हाई ब्लड प्रेशर में कैल्यिशम जरूरी है, इसलिए कम से कम 800 मिलीग्राम कैल्शियम अवश्य लें। यह तीन कप दूध से प्राप्त हो जाता है।
  • लहसुन की 3-4 कलियां प्रतिदिन लेने से भी ब्लड प्रेशर ठीक रहता है।
  • प्रतिदिन 20 ग्राम फाइबर लेने से कोलेस्ट्रॉल में भी कमी आती है और बीपी भी घटता है। आहार में फाइबर, चोकर वाले आटे की रोटी, दाल, फल जैसे सेब, आम, केले, आडू इत्यादि तथा ओटमील दलिया कॉर्न से प्राप्त हो सकता है।

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK