Subscribe to Onlymyhealth Newsletter

मोटापा घटाना है तो बनें शाकाहारी

वज़न प्रबंधन
By अन्‍य , दैनिक जागरण / Aug 08, 2011
मोटापा घटाना है तो बनें शाकाहारी

मोटापा घटाने के लिए शाकाहारी बनना एक अच्छा विकल्प है। शाकाहारी भोजन मांसाहारी भोजन की अपेक्षा जल्दी पच जाता है।

Quick Bites
  • शाकाहारी भोजन पचने में आसान होता है।
  • हरी सब्जियों व फलों के जूस से वजन कम होता है।
  • शाकाहारी भोजन करने वालों में स्तन कैंसर का खतरा कम होता है।
  • शाकाहारी भोजन में फाइबर की मात्रा अधिक होती है।

ज्यादातर लोगों का मानना है कि मांसाहारी लोग शाकाहारियों के मुकाबले ज्यादा मजबूत होते हैं लेकिन यह धारणा बिल्कुल गलत है। शाकाहारी होना बिल्कुल हानिकारक नहीं है। मांसाहारियों को जो तत्व मांस से मिलते हैं, वे ही तत्व शाकाहारियों को कई प्रकार के शाक से मिलते हैं।

motapa ghatana hai to bane shakahari

प्रोटीन जो कि मछली, मांस और अंडे से प्राप्त होता है, वहीं वनस्पति से भी प्राप्त होता है। मानव शरीर के कार्य करने के लिए ऐसा कोई पौष्टिक तत्व नहीं है, जो वनस्पतियों से प्राप्त नहीं किया जा सकता। हाल ही में हुए शोध में भी यह बात साबित हुई है। शोधकर्ताओं ने 87 पूर्ववर्ती अध्ययनों के आधार पर एक नई आकलन रिपोर्ट तैयार की है। इसमें कहा गया है कि शाकाहारी आहार लेने से मोटापे से मुक्ति मिल सकती है। अगर संतुलित शाकाहारी आहार लें तो मोटे व्यक्ति प्रति सप्ताह करीब एक पौंड तक अपना वजन घटा सकते हैं।साथ ही इससे व्यक्ति को फिट रहने में भी मदद मिलती है। आइए जानें किस प्रकार शाकाहारी बनकर वजन कम कर सकते हैं-

 

  • अगर आप अपने आहार में हरी सब्जियों, फलों का जूस को शामिल करेंगे तो निश्चित ही मोटापा कम कर पाएंगे। 
  • शोधकर्ताओं के मुताबिक शाकाहारी व्यंजन लेने वाले लोग सामान्य तौर पर मांसाहारी व्यंजन लेने वाले लोगों की तुलना में अधिक छरहरे होते हैं।
  • शाकाहारी व्यंजन लेने वाले लोगों में हृदय रोग का खतरा भी मांसाहारी व्यंजन लेने वाले लोगों की तुलना में कम होता है।
  • मांसाहारी व्यंजन हृदय रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप आदि खतरनाक बीमारियों को आमंत्रित करता है।
  • मोटापे की एक प्रमुख वजह इन्हीं आहारों को माना गया है।
  • जहां शाकाहारियों के बीच मोटे लोगों की संख्या कम है, वहीं मांसाहारियों के बीच इनकी संख्या गुणात्मक रूप से अधिक है।
  • शोध के मुताबिक शाकाहारियों के बीच मोटापे की दर अधिकतम छह फीसदी तक है जबकि मांसाहारियों के बीच यह दर कई गुना अधिक है।
  • शाकाहारी भोजन पचनें में आसान होता है। यह आपके मस्तिष्क को सचेत रखते हुए आपको बुद्धिमान बनाता है। इसके विपरीत मांसाहारी भोजन को पचने में कम से कम 36-60 घंटे लगते हैं।
  • सब्जियों में प्रोटीन, कार्बोहाईड्रेट और वसा के साथ-साथ और भी बहुत से आवश्यक तत्व होते हैं। विटामिन, एंटीऑक्सीडेन्ट, अमीनो एसिड आदि जैसे तत्व भी शामिल होते हैं, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी के बचाव में सहायक होते हैं।
  • शाकाहारी भोजन में फायबर भी अधिक मात्रा में होते हैं जो पाचन क्रिया में सहायक होते हैं।
  • ऐसा कहा जाता है कि शाकाहारी भोजन, सही मात्रा में कैलोरीज नहीं प्रदान करता लेकिन यह सही नहीं है। अगर शाकाहारी भोजन में सभी जरूरी पदार्थ शामिल हों तो सही मात्रा में कैलोरीज भी मिल जाती हैं।

 

Written by
अन्‍य
Source: दैनिक जागरणAug 08, 2011

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Trending Topics
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK