• shareIcon

स्तन कैंसर के खात्मे के लिए वैक्सीन

लेटेस्ट By अन्‍य , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Feb 04, 2012
स्तन कैंसर के खात्मे के लिए वैक्सीन

महिलाओं के लिए जानलेवा स्तर कैंसर शायद अपने आखिरी दिन गिन रहा है।

Stan cancer ke khatme ke liye vaccine

लंदन, एजेंसी : महिलाओं के लिए जानलेवा स्तर कैंसर शायद अपने आखिरी दिन गिन रहा है। एक अहम चिकित्सीय सफलता में वैज्ञानिकों ने स्तन कैंसर के इलाज के लिए एक वैक्सीन तैयार करने का दावा किया है। उनका दावा है कि इसकी मदद से स्तन कैंसर जड़ से खत्म किया जा सकेगा। इस वैक्सीन में मरीजों की कोशिकाओं का इस्तेमाल किया जाएगा। वैज्ञानिकों की एक अंतरराष्ट्रीय टीम ने कहा कि महिलाओं पर हुई जांच में उनके हाथ उत्साहित करने वाले परिणाम लगे। रोग के सबसे आम प्रकार डकटल कार्सिनोमा इन सिटू ग्रस्त मरीजों में से 85 फीसदी में परीक्षण में चार सालों तक की सुरक्षा पाई गई।

 

यूनिवर्सिटी ऑफ पेंसिल्वेनिया के वैज्ञानिकों की अगुवाई में अध्ययन दल ने 27 महिला रोगियों पर परीक्षण किया। वैज्ञानिकों ने उनकी श्वेत कोशिकाओं को अलग कर उन्हें कैंसर सेल से निपटने के लिए तैयार किया। सभी रोगियों को उनकी ही कोशिकाओं से तैयार वैक्सीन की खुराक चार हफ्तों तक दी गई। कैंसर का दुश्मन टमाटर लंदन : यह कहावत तो सबने सुनी ही होगी कि प्रतिदिन अगर एक सेब खाया जाए तो डॉक्टर हमेशा इंसान से दूर रहता है। अब यही कहावत टमाटर पर भी चरितार्थ होने वाली है।

 

वैज्ञानिकों का कहना है कि अगर हमें कैंसर से दूर रहना है तो ढेर सारे पके टमाटर खाने चाहिए। भारतीय मूल की एक अनुसंधानकर्ता की अगुवाई में वैज्ञानिकों की एक टीम ने दावा किया है कि पके टमाटर में एक ऐसा पौष्टिक तत्व पाया जाता है जो प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि को न केवल कम करता है बल्कि उन्हें मार भी डालता है। डेली टेलीग्राफ की खबर में बताया गया कि यूनिवर्सिटी ऑफ पोट्समाउथ की डॉ. मृदुला चोपड़ा और उनके सहयोगियों ने प्रयोगशाला में पौष्टिक तत्व लाइकोपिन के प्रभावों की जांच की। उन्होंने पाया कि लाइकोपिन प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के खिलाफ काम कर रहा है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK