• shareIcon

Stomach Pain: पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द हो सकता है खतरनाक संकेत, इन 6 मामलों में कभी न बरतें लापरवाही

अन्य़ बीमारियां By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 19, 2019
Stomach Pain: पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द हो सकता है खतरनाक संकेत, इन 6 मामलों में कभी न बरतें लापरवाही

Stomach Pain Warning Signs: पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के साथ ये 6 स्थितियां दिखें, तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। दरअस पेट में इस तरह का दर्द कई खतरनाक समस्याओं का संकेत हो सकता है, जिन्हें नजरअंदाज करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

अगर आपको अचानक या कभी-कभार पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द महसूस हो, तो इसके कई कारण हो सकते हैं। आमतौर पर ऐसे किसी भी पेट दर्द को लोग सामान्य समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। हालांकि पेट के ऊपरी हिस्से में होने वाला दर्द कई बार गंभीर बीमारियों का संकेत होता है और मेडिकल इमरजेन्सी की स्थिति हो सकती है। ऐसे में अगर सही समय पर व्यक्ति को इलाज न मिले, तो उसकी स्थिति नाजुक हो सकती है। आइए आपको बताते हैं कब नहीं नजरअंदाज करना चाहिए पेट के ऊपरी हिस्से में होने वाले दर्द को।

पेट दर्द के साथ पसीना आना

अगर आपको शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द के साथ पसीना आ रहा है, तो ये हमेशा गंभीर संकेत होता है। आमतौर पर दर्द के साथ पसीना तभी आता है, जब शरीर बहुत ज्यादा स्ट्रेस में होता है। पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के साथ पसीना आने की समस्या को कभी भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। कई बार ये हार्ट अटैक, हार्ट फेल्योर, कार्डियक अरेस्ट, मायोकार्डियल इंफार्क्शन आदि का संकेत हो सकता है। इसलिए ऐसी स्थिति में जितनी जल्दी हो सके, मरीज को डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें:- हार्ट अटैक आने या इसके लक्षण महसूस होने पर तुरंत करें ये 7 काम, बच जाएगी आपकी जान

पेट दर्द के साथ लगातार उल्टी

तेज पेट दर्द के साथ अगर आपको लगातार उल्टी हो रही है, तो इस स्थिति को भी फूड प्वायजनिंग या कोई सामान्य समस्या समझकर नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। कई बार उल्टी के साथ होने वाला पेट दर्द इंटेस्टाइनल ब्लॉकेज (Intestinal Blockage) का संकेत हो सकता है। ऐसी स्थिति में देर करने पर मरीज की आंत फट सकती है और उसकी जान भी जा सकती है।

इसी तरह अगर पेट दर्द के साथ खून की उल्टी हो रही है, तो भी आपको सावधान हो जाना चाहिए। उल्टी या मल के साथ लाल या काले रंग का खून आना मेडिकल इमरजेन्सी की स्थिति है, इसलिए ऐसे में तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए।

पेट के साथ गर्दन, सीने, जबड़े, कंधों आदि में दर्द

अगर आपको किसी एक जगह के बजाय शरीर के अलग-अलग हिस्सों जैसे- पेट, गर्दन, सीने, जबड़े, कंधे आदि में दर्द हो रहा है, तो ये काफी गंभीर संकेत हो सकता है। आमतौर पर ऐसा दर्द हार्ट अटैक का संकेत होता है। ऐसा दर्द होने पर अपने आसपास मौजूद लोगों से मदद मांगिए और उन्हें कहिए कि वे जल्द से जल्द आपको नजदीकी अस्पताल पहुंचाएं।

इसे भी पढ़ें:- हार्ट अटैक नहीं है सीने में होने वाला हर दर्द, ये भी हो सकती है वजह

पेट दर्द के साथ बुखार आना

पेट दर्द के साथ आने वाला बुखार पेट के इंफेक्शन का संकेत हो सकता है। आमतौर पर पेट में इंफेक्शन वायरस और बैक्टीरिया के कारण होता है। कई बार ये वायरस खतरनाक हो सकते हैं, जो 1-2 दिन में ही व्यक्ति के मस्तिष्क में पहुंचकर उसकी जान ले सकते हैं, जबकि कुछ वायरस कम खतरनाक होते हैं और शरीर की इम्यूनिटी खुद ही इन्हें ठीक कर लेती है। लेकिन आप लक्षणों के बढ़ने का इंतजार नहीं कर सकते हैं इसलिए अगर आपको पेट दर्द के साथ बुखार की समस्या हो, तो आप तुरंत डॉक्टर से मिलें।

पेट दर्द के साथ सांस लेने में परेशानी

सांस लेने में परेशानी होना अपने आप में खतरनाक संकेत है। इस पर पेट दर्द भी हो, तो आपको सावधान हो जाना चाहिए। ऐसी स्थिति तभी होती है, जब फेफड़ों से दिल तक के रास्ते में खून ब्लॉक हो जाए। यानी पेट दर्द के साथ सांस लेने में परेशानी होना, कार्डियक समस्या का संकेत है। इस स्थिति में सबसे पहले तो पंप का प्रयोग करें, ताकि आपकी सांस स्थिर हो सके और फिर डॉक्टर से मिलें।

चीरता हुआ दर्द महसूस हो

दर्द कई प्रकार से महसूस होते हैं। अगर आपको दर्द इतना तेज महसूस हो, जैसे ये आपके शरीर को चीर रहा है (Tearing Pain), तो ये खतरे का संकेत है। खासकर अगर दर्द आपके पेट से शुरू हो और धीरे-धीरे पीठ के हिस्से में पहुंच जाए, तो ये 'एओरटिक डिस्सेक्शन' का संकेत हो सकता है। ये ऐसा दर्द है जो तब महसूस होता है, जब कोई बड़ी धमनी फट जाती है। इस स्थिति में कई बार तुरंत इलाज न हो पाए, तो व्यक्ति की जान चली जाती है।

Read more articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK