• shareIcon

व्‍यायाम की ये आदतें भी आपको कर सकती हैं बीमार

एक्सरसाइज और फिटनेस By आहना भटनागर , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 06, 2016
व्‍यायाम की ये आदतें भी आपको कर सकती हैं बीमार

हर कोइ चाहता है कि वो फिट रहे और अच्छा दिखे। ऐसे में जिम जॉइन करना सबसे आम विकल्प दिखता है। शरीर को आकार में लाने का यह पहला कदम हो सकता है पर ज़रा सम्भलकर, क्योंकि आजकल निरंतर जिम में कसरत, युवाओं में बढ़ रही दुर्घटनाओं का कारण बन गयी है।

हर कोइ चाहता है कि वो फिट रहे और अच्छा दिखे। ऐसे में जिम जॉइन करना सबसे आम विकल्प दिखता है। शरीर को आकार में लाने का यह पहला कदम हो सकता है पर ज़रा सम्भलकर, क्योंकि आजकल निरंतर जिम में कसरत, युवाओं में बढ़ रही दुर्घटनाओं का कारण बन गयी है। हालांकि ऐसे कईं असुरक्षित व्यायाम हैं जिनसे फिटनेस ट्रेनर आपको अभ्यास के दौरान बचने की सलाह देते हैं। हो सकता है जो कसरत आपके लिये सुरक्षित हो वो किसी अन्य व्यक्ति को नुकसान पहुचाये। इसलिये आपका यह जानना भी महत्वपूर्ण है कि किस प्रकार का व्यायाम आपके लिये सुरक्षित या हानिकारक है।

  • आमतौर पर जिस व्यायाम में ज़्यादा जोखिम होता है उसको करने लिये अधिक फिटनेस और कौशलता की आवश्यकता होती है। शुरुआती ट्रेनिंग के दौरान अगर सीमित कौशल या फिटनेस के साथ व्यायाम किया जाये तो उससे चोट लगने की सम्भावना बढ़ जाती है।

  • सही कसरत और व्यायाम को पहचानने का सबसे अच्छा तरीका है किसी प्रोफेशनल से उसके बारे में जनना। पर आप स्वयं जान सकते हैं कि आपके लिये किस प्रकार का अभ्यास सही है या गलत। ज़रूरत है अपने फिटनेस के स्तर को पहचानने की। संदेह की स्थिति में अपने शरीर की सुनें और उस व्यायाम विशेष से पीछे हट जायें जिससे आपको परेशानी होती है। आप अपनी अगली कसरत के दौरान अपनी तीव्रता को बढ़ा सकते हैं।
  • दर्द आपके शरीर के बताने का एक तरीका है की कहीं कुछ परेशानी ज़रूर है। इस बात को अनसुना कर देना आपके लिये नुकसानदायक हो सकता है। हालांकि अगर आप दर्द महसूस करते हैं तो यह स्पष्ट हो जाता है की आपको व्यायाम बंद कर देना चाहिये, पर कईं एथलीट दर्द के साथ अभ्यास करते रहते हैं जिससे गम्भीर चोट होने की सम्भावना बढ़ जाती है।
  • किसी भी व्यायाम दिनचर्या में आराम की कमी संभावित रूप से असुरक्षित है। कईं चोटें सिर्फ अधिक व्यायाम करने से होती हैं। चोटों से बचने के लिए व्यायाम और आराम का संतुलन बनायें। शरीर को प्रशिक्षण की थकान से उबरने के लिए आराम चाहिये होता है।
  • व्यायाम करने की तीव्रता को धीरे-धीरे बढ़ाना ही एक सुरक्षित कसरत का आदर्श तरीका है। पर अपने शरीर पर अधिक व्यायाम को न थोपें। जल्दबाज़ी का अंत पीड़ादायक हो सकता है। अपनी क्षमता के स्तर को पहचाने और यथार्थवादी मानसिकता बनाये रखें।
  • जब आप व्यायाम करना सीख रहे हैं और एक नई दिनचर्या अपना रहे हैं, तो आपके लिये उसके सही तरीके को जानना महत्वपूर्ण है। अधिकांश लोगों को शुरुआत में एक प्रोफेशनल प्रशिक्षण लेना चाहिये। ध्यान रखें कि हम सभी एक दूसरे से अलग हैं, एक प्रशिक्षक की मदद से आप अपनी ज़रूरत के अनुसार व्यायाम सीख सकते हैं। पर गलत तकनीकों के प्रयोग से बचें।


किसी भी प्रकार का अभ्यास जो कि वज़न के साथ किया जाता है आपके लिए जोखिम भरा हो सकता है। अगर आप वज़न को उचित रूप से नहीं उठा पा रहे हैं तो समझ जाइये कि वे आपके लिये भारी है और आपको नुकसान पहुँचा सकता है।

 

Image Source-getty

Read More Article on Sports and Fitness in Hindi
 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK