टूथब्रश करते समय रखें इन बातों का ध्यान, बुढ़ापे तक दांत रहेंगे मजबूत

Updated at: Nov 30, 2017
टूथब्रश करते समय रखें इन बातों का ध्यान, बुढ़ापे तक दांत रहेंगे मजबूत

कई लोगों को लगता है कि दांत साफ करने से सिर्फ दांतों का पीलापन दूर होता है।

Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Nov 30, 2017

कई लोगों को लगता है कि दांत साफ करने से सिर्फ दांतों का पीलापन दूर होता है। फिर चाहे कैसे मर्जी ही ब्रश कर लो। जबकि ये सोच बहुत गलत है। क्योंकि सही तरीके से ब्रश न करने पर या फिर गलत ब्रश का चुनाव करने पर दांत संबंधी कई रोग हमें घेर लेते हैं। अगर सही तरीके से ब्रश न किया जाये तो दांतों में कैविटी, पायरिया, आदि की समस्‍या होना आम बात हो जाती है। इसलिए ब्रश करते वक्‍त सावधानी बरतें और इसमें जल्‍दबाजी न करें।

वैसे तो सभी लोग नियमित रूप से दांतों की सफाई करते हैं, लेकिन टूथब्रश करने का सही तरीका बहुत कम ही लोगों को मालूम होगा। असल में दांत साफ करने के लिए जो समय आदर्श माना जाता है वह 3 मिनट का होता है। एक शोध के अनुसार लेकिन आजकल बिजी लाइफस्टाइल के चलते लोग दांत साफ करने में भी खानापूर्ति करते हैं। जिसके चलते ब्रश का समय आजकल सिर्फ 1 मिनट रह गया है। आज हम आपको ऐसी कुछ बातें बता रहे हैं जिन्हें ब्रश करते वक्त आपको ध्यान रखनी चाहिए। आइए जानते हैं क्या हैं वो बातें—

इसे भी पढ़ें : स्‍वस्‍थ व मजबूत दांत पाने के लिये क्या करें

  • कई लोग बहुत जल्दी जल्दी दांत साफ करते हैं और साफ दांत के लालच में दिन में 3 से 4 बार भी ब्रश कर लेते हैं। लेकिन एक दिन में तीन बार से ज्‍यादा ब्रश करना, जलन के साथ दांतों की जड़ों को भी कमजोर करता है। इसलिए इसलिए दिन में दो बार ही ब्रश करें।
  • सस्ते ब्रश के चक्कर में अक्सर लोग कोई भी ब्रश उठा कर ले आते हैं। जिसके चलते ब्रश का आकार, उसके अक्खड़पन किसी का ध्यान नहीं जाता। जबकि ब्रश बड़ा और छोटा नहीं होना चाहिए, ब्रश मध्‍यम आकार का प्रयोग कीजिए। इसके अलावा ब्रश पकड़ने में भी सही और मुलायम होना चाहिए।
  • सही समय पर टूथब्रश के ना बदलने पर भी कई समस्याएं होने लगती हैं। जिसके चलते दांतों की सफाई सही तरीके से नहीं हो पाती और इनसे संक्रमण की आशंका भी अधिक रहती है। बीमारी से पी‍ड़ि‍त लोगों को तो शरीर में कीटाणुओं और जीवाणुओं के प्रवेश से बचने के लिए टूथब्रश की स्‍वच्‍छता पर बहुत ध्‍यान देना चाहिए।
  • अकसर लोगों का टूथब्रश खरीदते समय इस बात पर ध्‍यान ही नहीं जाता कि बहुत सख्‍त ब्रिसल्‍स वाले ब्रश मसूड़ों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए ‌मुलायम टूथब्रश ही लें। जो दांतों के बीच आसानी से जा सकें और जिनसे मसूड़ों के छिलने का डर भी न हो।
  • ब्रश करने के बाद कुल्ला करने के तरीके का भी हमारे दंत स्वास्थ्य पर काफी प्रभाव पड़ता है। क्‍योंकि ठीक से कुल्‍ला न करने के कारण दांतों में बैक्‍टीरिया विकसित होने लगते हैं। इसके अलावा टूथपेस्ट में फंसे हुए कणों से छुटकारा पाने के लिए अच्‍छी तरह से ब्रश को धोना भी बहुत जरूरी होता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Teeth Health

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK