• shareIcon

दिल के लिए फायदेमंद है टमाटर

हृदय स्‍वास्‍थ्‍य By अन्‍य , दैनिक जागरण / Sep 14, 2011
दिल के लिए फायदेमंद है टमाटर

टमाटर के बारे में इस परंपरागत ज्ञान को अब वैज्ञानिक आधार भी मिलने लगा है और एक के बाद एक शोधों से इसके औषधीय गुणों के बारे में पता चल रहा है। टमाटर के नियमित सेवन से हार्ट अटैक व स्ट्रोक का खतरा कम हो जाता है।

हो सकता है कि आपके घर में भी किसी बड़े-बुजुर्ग ने यह बताया हो कि टमाटर खाने से चेहरे पर लाली आती है। टमाटर के बारे में इस परंपरागत ज्ञान को अब वैज्ञानिक आधार भी मिलने लगा है और एक के बाद एक शोधों से इसके औषधीय गुणों के बारे में पता चल रहा है। भारतीय मूल के एक शोधकर्ता ने ताजा शोध में बताया है कि टमाटर के बीजों से तैयार रस रक्तवाहिनियों में थक्का जमने से रोकता है। इससे हार्ट अटैक (हृदयाघात) एवं स्ट्रोक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

tomato healthy for heart


रक्तवाहिनियों में बनने वाला खून का थक्का रक्त के बहाव में रुकावट पैदा करता है जिससे हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा पैदा होता है। शोधकर्ताओं के मुताबिक एस्पिरिन की अपेक्षा टमाटर के बीजों का रस इन बीमारियों की रोकथाम में ज्यादा कारगर साबित होता है। खून को पतला बनाने के लिए लाखों लोग एस्पिरिन का सेवन करते हैं। एस्पिरिन से आंतरिक रक्तस्राव का खतरा बढ़ जाता है। हाल ही में किए गए शोध के मुताबिक 'टमाटर के बीजों का रस का सेवन आंतरिक रक्तस्राव के खतरे को काफी कम कर देता है।'


टमाटर के इस्तेमाल का जहां महज 18 घंटे में असर दिखाता है वहीं एस्पिरिन से ठीक होने में 10 दिन लगते हैं। टमाटर व एस्पिरिन दोनों प्लेटलेट्स को नियंत्रित करते हैं। खून का थक्का जमने के लिए प्लेटलेट्स ही जिम्मेदार होती हैं। धूम्रपान, खून में कोलेस्ट्राल के उच्च स्तर और तनाव के कारण प्लेटलेट्स के आकार में ऐसे बदलाव आते हैं, जिनकी वजह से थक्के जमने की आशंका बढ़ जाती है। एस्पिरिन थक्का जमने के प्रभाव को कुछ हद तक कम कर देती है लेकिन टमाटर के बीजों का रस थक्का जमने की प्रक्रिया को एस्पिरिन के मुकाबले ज्यादा धीमा करता है।

 

tomato and heart


एबरडीन (स्काटलैंड) के रोवेट इंस्टीट्यूट आफ न्यूट्रीशन एंड हेल्थ में प्रो. असीम दत्ताराय ने टमाटर के बीजों से पड़ने वाले प्रभाव की खोज की है। दत्ताराय पौधों में प्रभावकारी थक्कारोधी रसायन की खोज कर रहे थे।

 

Image Courtesy- Getty Images

 

Read More Articles on Diet and Nutrition in Hindi

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK