वर्कआउट करने के बाद जरूर करें ये 'कूल डाउन एक्सरसाइज', जल्द होगी बॉडी की रिकवरी

Updated at: Aug 06, 2020
वर्कआउट करने के बाद जरूर करें ये 'कूल डाउन एक्सरसाइज', जल्द होगी बॉडी की रिकवरी

अगर आप भी रोजाना बहुत ज्यादा वर्कआउट करते हो तो अपनी फिटनेस रूटीन में जरूर शामिल करें ये कूल डाउन एक्सरसाइज, बॉडी रहेगी फिट।

Vishal Singh
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 06, 2020

बहुत ज्यादा वर्कआउट या मेहनत करने के बाद थकावट महसूस होना एक आम बात है, लेकिन कई बार ये थकावट आपको और आपके शरीर को बुरी तरह से प्रभावित करती है। इसलिए जरूरी होता है कि आप हमेशा ज्यादा वर्कआउट करने के बाद खुद को खुशहाल और स्वस्थ रखना बहुत जरूरी है। यानी आपको कड़ी मेहनत करने के बाद खुद को कूल डाउन कराना बहुत जरूरी होता है। ये आपको स्वस्थ रखने में अहम भूमिका निभाता है। अक्सर लोग एक्सरसाइज करने के बाद कुछ खास नहीं करते जिससे उनकी बॉडी को रिलैक्स मिल सके और वो तनावमुक्त हो जाएं। जबकि आपको ऐसे अभ्यास करने चाहिए जो आपके शरीर को तनावमुक्त कर आपको आराम दें। हम आपको इस लेख में बताएंगे कि आप बहुत ज्यादा वर्कआउट करने के बाद कैसे खुद को खुशहाल रख सकते हैं और अपनी बॉडी को आराम देते हैं। 

वर्कआउट के बाद पसीने की बदबू के बाद सिर्फ 5 से 10 मिनट स्ट्रेचिंग या कोमल गतिशीलता का अभ्यास करके, आप अपने शरीर को वापस अपनी प्राकृतिक अवस्था में लाने की अनुमति दे सकते हैं। यह आपको अगले दिन के लिए ठीक होने में मदद करेगा ताकि आप एक नई कसरत में खुद को एक्टिव रख सकें। 

fitness

कैट-कॉओ (Cat-Cow)

ये एक्सरसाइज आपको रोजाना के वर्कआउट के बाद जरूर करनी चाहिए, ये आपकी रीढ़, गर्दन, कूल्हों, पेट, और पीठ के लिए काफी अच्छी मानी जाती है साथ ही ये आपको वर्कआउट के दौरान चोट के खतरे से भी बचाती है। इसे करने के लिए आप अपने हथेलियों को जमीन पर रखें और अपने घुटनों को जमीन पर टिकाएं। जिसे एक आम भाषा मं गाय की स्थिति भी कहते हैं। इस स्थिति में आने के बाद आप कुछ सेकेंड रुकें, अब आप अपनी पीठ को गोल करें जैसे ही आप अपने हाथों को जमीन में धकेलते हैं। इसके बाद आप अपनी पीठ को ऊपर की ओर उठाने की कोशिश करें और गर्दन को नीचे की ओर झुकाएं। फिर अपनी छाती को नीचे की ओर झुकाएं और अपने सिर को ऊपर की ओर उठाने की कोशिश करें। इस प्रक्रिया को आप करीब 15 से 20 बार करें। 

इसे भी पढ़ें: कोर को मजबूत करने के लिए अपनाएं 'स्लाइडर एक्सरसाइज', जानें क्या है करने का तरीका

सीटेड ट्वीस्ट (Seated Twist)

सीटेड ट्वीस्ट व्यायाम आपकी स्पाइनल और लोअर बैक के लिए काफी अच्छा होता है, ये आपको नियमित रूप से करना चाहिए। इसे करने से आपका दर्द भी खत्म हो जाता है। इसे आम आसानी से जमीन पर बैठ कर सकते हैं। अपने पैरों को अपने सामने सीधा करके बैठें। अपने दाहिने पैर को अपनी बाईं ओर पार करें, और जैसा कि आप ऐसा करते हैं, उस दाहिने घुटने को मोड़ें ताकि दाहिना पैर जमीन पर सपाट रह सके। लंबा बैठो और अपने पीछे अपने दाहिने हाथ लंगर। अब आप श्वास लें और अपने बाएं हाथ को उठाएं। सांस धीरे-धीरे छोड़ते हुए और अपनी दाहिनी जांघ के ऊपर हाथ ले आएं। 

लोअर बैक रोटेशनल स्ट्रेच (Lower Back Rotational Stretch)

लोअर बैक के दर्द को खत्म करने और मांसपेशियों को हमेशा ठीक रखने के लिए आप इस एक्सरसाइज को नियमित रूप से करें। इसे करने के लिए आप सबसे पहले पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। अब आप अपने घुटनों को ऊपर लाएं और अपने पैरों को फर्श पर सपाट करें। फिर जब आप अपने कंधों को जमीन से चिपकाए रखते हैं, तो अपने घुटनों को दाईं ओर घुमाएं, जहां तक आप अपने कंधों को उठाए बिना नहीं रह सकते। कुछ पल के लिए रुकें फिर स्विच करें। ये एक्सरसाइज आपकी बॉडी को काफी आराम दे सकती है। 

इसे भी पढ़ें: इन 3 कारणों से महिलाओं को जरूर करनी चाहिए चेस्‍ट एक्‍सरसाइज, रहेंगी स्लिम और फिट

प्लैंक टू स्कॉर्पियन रीच (Plank to Scorpion Reach)

अपने कंधों, कमर, लोअर बॉडी और पीठ को ठीक रखने के लिए आपको रोजाना प्लैंक एक्सरसाइज करनी चाहिए। इसे करने के लिए आप सीधे हाथ की तख्त स्थिति में आ जाएं। श्वास लें और अपने दाहिने घुटने को अपनी बाईं कलाई तक जहाँ तक आप ले जा सकते हैं आकर्षित करें। अगला, सांस छोड़ते और उस दाहिने पैर को ऊपर और पीछे पीछे चलाएं, जैसे आप अपने सिर को अपनी बाहों के माध्यम से छोड़ते हैं। अपनी इच्छानुसार कई धीमे और नियंत्रित प्रतिनिधि करें, फिर इसे बाएं पैर पर दोहराएं।

बहुत ज्यादा वर्कआउट करने के बाद आपकी बॉडी को पर्याप्त आराम की जरूरत होती है, जिसके लिए आपको कुछ ऐसे व्यायाम करने जरूरी होते हैं जो आपको फिट रखने में मदद करें। 

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK