बच्चों को सूरज की हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाने के लिए 6 जरूरी टिप्स

बच्चों के लिए धूप फायदेमंद है मगर ज्यादा देर धूप में रहने से सूरज की हानिकारक किरणें उसकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं। जानें बचाव के लिए टिप्स

Monika Agarwal
परवरिश के तरीकेWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jun 20, 2021
Updated at: Jun 20, 2021
बच्चों को सूरज की हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणों से बचाने के लिए 6 जरूरी टिप्स

बच्चे मस्त मौला और बेफिक्र स्वभाव के होते हैं। उनको नहीं मालूम होता कि क्या चीज उनके लिए फायदेमंद है और क्या नुकसान दायक। ऐसे में वे अपने दोस्तों के साथ पूरा दिन भी बाहर खेल सकते हैं वह भी बिना बाहर के मौसम की परवाह किये। चाहे ये मौसम कड़ाके की ठंड या बहुत अधिक गर्मी वाला ही क्यों न हो। माना सूर्य की रोशनी हम सबके शरीर के लिए फायदेमंद होती है क्योंकि इससे विटामिन डी की पूर्ति होती है। लेकिन यह भी सच है कि अगर बच्चे अधिक समय तक बाहर रहते हैं तो सूरज की हानिकारक अल्ट्रावॉयलेट किरणें उनकी नाजुक त्वचा को नुकसान भी पहुंचा सकती हैं। यूवी किरणें बच्चों की स्किन के लिए बहुत हानिकारक हो सकती हैं इसलिए इससे बच्चों का बचाव करना बहुत जरूरी है। 

 

बच्चों की त्वचा कोमल होती है इसलिए तेज धूप से सनबर्न हो सकता है। दरअसल जब तेज धूप त्वचा से टकराती है, तो इससे बचाव के लिए स्किन मेलेनिन नामक पिगमेंट निकालने लगता है। अधिक देर तक सूरज की रोशनी में रहने पर मेलेनिन का अधिक बनने के कारण त्वचा झुलसी हुई और काली दिखाई देने लगती है। यही सनटैन कहलाता है। जब बच्चे जरूरत से ज्यादा सूरज की रोशनी (Sun) में खेलते हैं या रहते हैं तब उनका शरीर इन किरणों से लड़ने के लिए सक्षम नहीं रह पाता तभी सनबर्न होता है। इसलिए आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि अगर आपका बच्चा बाहर खेल रहा है तो, वह सूर्य की किरणों से सुरक्षित रहे। तो हम आपको बता रहे हैं बच्चों को धूप की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए 6 टिप्स।

इसे भी पढ़ें- गर्मियों में बच्चों को न पहनाएं इस तरह के कपड़े, वरना हो सकती हैं समस्याएं

1. सन ग्लासेस पहनाएं (Sunglasses)

अगर आप अपने बच्चों को सन ग्लासेस पहनाती हैं तो उनसे न केवल वह स्टाइलिश और ट्रेंडी लगेंगे बल्कि उनकी आंखों की सूर्य की खतरनाक किरणों से सुरक्षा भी ही जायेगी। जब भी आप सन ग्लासेस खरीदने जाती हैं तो थोड़ी रिसर्च करें और केवल उन्हीं ग्लासेस को खरीदें जिन पर यूवी लेबल का टैग लगा हो और जो 99% सूर्य किरणों से आंखों को सुरक्षित कर पाए।

2. पूरे शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनाएं (UV-Protective Clothing)

अगर आपके बच्चे सूर्य की रोशनी में जाते हैं तो आपको उन्हें ऐसे कपड़े पहनाने चाहिएं जो उन्हें पूरी तरह से ढक रहे हों । इसके लिए आप उन्हें पूरी बाजू वाली शर्ट और निक्कर या शॉर्ट्स की जगह पैंट पहना सकती हैं। जब कपड़े खरीदने जाती हैं तो आपको यूवी प्रूफ कपड़े ही सिलेक्ट करने चाहिए। ताकि आपके बच्चे अधिक सुरक्षित रह पाएं।

3. सनस्क्रीन लगाएं (Sunscreen Cream)

जब आपका बच्चा बाहर निकले तब उसके शरीर के जिन हिस्सों पर सूर्य की रोशनी पड़ रही है चाहे वह हाथ हो, पैर हो या मुंह, आपको अपने बच्चे के उन सभी हिस्सों पर सन स्क्रीन का प्रयोग जरुर करना चाहिए। यह आपके बच्चों को यूवी किरणों से बचा कर रखेगा और बाहर निकलने से आधा घंटा पहले सनस्क्रीन लगा दें। आप जो भी सनस्क्रीन क्रीम लें वह कम से कम 15 एसपीएफ वाली हो।

इसे भी पढ़ें- अपने 5 साल से बड़े बच्चों को जरूर सिखाएं बॉडी सेफ्टी के ये 5 जरूरी नियम

4. उन्हें छाया में रहने का सुझाव दें (Finding shade)

अपने बच्चों को यह सुझाव दें कि उन्हें अधिक से अधिक छाया में रहना है और कम से कम ही धूप में जाएं। अगर उन्हें छाया कहीं नहीं मिल रही है तो वह पेड़ के नीचे भी खेल सकते हैं। उन्हें बताएं कि किस प्रकार सूर्य उनकी स्किन को नुकसान पहुंचा सकता है इसलिए उन्हें धूप में नहीं बल्कि छाया में खेलना चाहिए।

5. दिन में बाहर न जाने दें (Avoid Sun)

धूप का मुख्य समय दोपहर होता है और कोशिश करें कि आप अपने बच्चों को इस समय बाहर बिल्कुल भी न जाने दें। अगर वह ज्यादा जिद करते हैं तो उन्हें केवल या तो सुबह सुबह या फिर शाम को धूप जाने के बाद खेलने दें।

इसे भी पढ़ें- ऑनलाइन क्लास में ठीक से पढ़ाई नहीं कर रहा बच्चा, तो इन 5 तरीकों से मोटिवेट करें पेरेंट्स

6. हैट या कैप जरूर पहनाएं (Hats and Caps)

अगर आप अपने बच्चों को हैट या कैप पहना देती हैं तो यह एक अच्छा विकल्प है क्योंकि कैप आपके बच्चे के सिर को तो धूप से बचाता ही है, साथ में वह धूप की किरणों को शरीर के निचले हिस्से में आने से भी रोकती है। जिससे पूरा शरीर सुरक्षित रहता है।

इसे भी पढ़ें- कोरोना महामारी में बच्चों में बढ़ रहा है तनाव, जानें बच्चों में स्ट्रेस कम करने के तरीके

आपके बच्चे आपको देख देख कर ही सीखते हैं। इसलिए उन्हें सिखाने के लिए पहले आपको खुद सूर्य से बचने के टिप्स का बाहर निकलने से पहले प्रयोग करना चाहिए ताकि आपके बच्चे भी आपको देखकर सीख सकें। उन्हें सूर्य की यूवी किरणों से होने वाले नुकसान के बारे में भी जरूर बताएं ताकि वह खुद ही बाहर जाने से बचें।

Read More Articles on Parenting in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK