• shareIcon

तीन मिनट का योग बनाये आपको फिट

योगा By Bharat Malhotra , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Mar 24, 2014
तीन मिनट का योग बनाये आपको फिट

योग आपकी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए आपको महज कुछ मिनटों की ही जरूरत होती है।

भागती दौड़ती जिंदगी में आपको अपने लिए वक्‍त नहीं मिलता और ऐसे में इसका खामियाजा आपकी सेहत को भुगतना पड़ सकता है। लेकिन, अगर आप से कहा जाए कि आप इस सबके बीच भी आप योग कर सकते हैं तो आपको हैरानी होगी। हालांकि, अधिकतर लोग यही सोचते हैं कि एक घंटे से कम समय के लिए योग करने का कोई फायदा नहीं। लेकिन, हकीकत में अगर आप केवल कुछ मिनट ही योग कर लें आपको काफी फायदा हो सकता है।

yog

सबसे अच्‍छी बात यह है कि कुछ समय के लिए ही योग करने से आपको काफी फायदा होता है। और इसे अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में फिट करने में कोई परेशानी भी नहीं होती। आप इसे कहीं भी कर सकते हैं। घर, दफ्तर या फिर सफर के दौरान भी योग कर आप इसका फायदा उठा सकते हैं। इससे आपकी सेहत को काफी लाभ मिलता है।

आप अपनी जिंदगी में योग को कभी भी शामिल कर सकते हैं। इसके कई तरीके होते हैं। सामान्‍य समझी जाने वाली स्‍ट्रेचिंग के जरिये भी आप सेहत बना सकते हैं। स्‍ट्रेचिंग भी योग का ही एक रूप है और इससे आपके शरीर को बेकार की जकड़न से छुटकारा मिलता है।

yog

अगर आप थके हुए हैं अथवा बहुत अधिक तनाव में हैं तो योग के एक दो आसान आपको इससे निजात दिला सकते हैं और साथ ही आपकी सेहत को एक बार फिर दुरुस्‍त कर सकते हैं। कुछ देर योग करने से ही आप पूरा दिन सेहतमंद और शांत रहते हैं। साथ ही आपकी ऊर्जा का स्‍तर भी काफी अधिक होता है। आपकी एकाग्रता बढ़ी है और आप चीजों को बेहतर तरीके से कर पाते हैं। इससे आपका दिल भी सेहतमंद रहता है और दिमाग की कार्यक्षमता में भी इजाफा होता है।

 


दो मिनट के योग
कुछ ही देर में जो योगासन आपकी सेहत को सुधार सकते हैं। आप इस दौरान सूर्य नमस्‍कार कर सकते हैं। सूर्य नमस्‍कार में 12 आसन होते हैं, जिनसे आपके पूरे शरीर का व्‍यायाम हो जाता है। इसके साथ ही आप कमर और कूल्‍हे की स्‍ट्रेचिंग भी कर सकते हैं। हालांकि सूर्य नमस्‍कार आप यात्रा के दौरान नहीं कर सकते हैं, लेकिन स्‍ट्रेचिंग तो की ही जा सकती है। ऑफिस और यात्रा के दौरान आपको लंबे समय तक एक ही जगह पर बैठना पड़ता है, ऐसे में मांसपेशियों में अकड़न आ जाती है। स्ट्रेचिंग से यह अकड़न दूर होती है और साथ ही साथ मांसपेशियों के चोटिल होने का खतरा भी कम हो जाता है।

 

 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK