सांस लेने में हो रही परेशानियों को दूर करेंगी ये 5 अलग तरह की एक्सरसाइज, जानें क्या है करने का तरीका

Updated at: Jul 21, 2020
सांस लेने में हो रही परेशानियों को दूर करेंगी ये 5 अलग तरह की एक्सरसाइज, जानें क्या है करने का तरीका

अगर आपको भी सांस लेने में कठिनाई हो रही है तो आज से ही इन 5 एक्सरसाइज को अपनाएं, जानें किस तरह करनी चाहिए। 

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Jul 21, 2020

सांस लेने की समस्या होने का मतलब है कि आप पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं, ऐसे में आप जबरदस्ती सांस लेने की कोशिश करते हैं। नाक बंद होने या सांस लेने में परेशानी होती है तो इससे तुरंत राहत पाना बहुत जरूरी होता है। कोरोना जैसी महामारी से अपना बचाव करने के लिए सही तरीके से सांस लेना बहुत जरूरी है जिससे आप खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। हम सांस कैसे लेते हैं, यह हमें सेलुलर स्तर पर प्रभावित करता है। शोध से पता चलता है कि जिस तरह से हम सांस लेते हैं वह वजन, एथलेटिक प्रदर्शन, एलर्जी, अस्थमा, खर्राटे, मूड, तनाव, ध्यान लगाने को प्रभावित कर सकता है। इसके लिए आप बेहतर तरीके से सांस लेना सीख सकते हैं और इसका अभ्यास कर सकते हैं। 

breathing exercise

गहरी सांसें लें (Take A Deep Breaths)

फेफड़ों के नीचे जेलिफ़िश के आकार की मांसपेशी मुख्य रूप से श्वसन के लिए जिम्मेदार होते हैं। ऐसे में अगर आप सांस लेने में परेशानी महसूस कर रहे हैं तो आप इसके लिए गहरी सांस लेनी शुरु कर दें। गहरी सांस आपके फेफड़ों को सही तरीके से खोलने का काम करती है और आपको आसानी से सांस लेने में मदद करती है। 

बेली ब्रीथिंग (Belly Breathing)

बेली ब्रीथिंग आपको नई तरह की ब्रीथिंग एक्सरसाइज लग सकती है लेकिन ये काफी कारगर हो सकती है। इस एक्सरसाइज को शुरू करने के लिए आप सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं। अब अपनी छाती पर एक हाथ रखें और दूसरा हाथ अपने पेट पर रखें। फिर आप धीरे-धीरे नाक से सांस लेने की कोशिश करें, ताकि आपका पेट आपके हाथ के खिलाफ फैल जाए। अच्छी तरह सांस भरने के बाद आप धीरे-धीरे मुंह या नाक से सांस छोड़ना शुरु करें। इस प्रक्रिया को आप 5 से 10 मिनट के लिए दोहराएं। इस एक्सरसाइज की मदद से अस्थमा जैसे गंभीर रोग के लक्षण भी कम होने में मदद मिलती है। 

इसे भी पढ़ें: गलत तरीके से सांस लेने से घटती है उम्र, जानें क्या है सही तरीका

पैक्टोरल रोल (Pectoral Roll)

पैक्टोरल रोल एक्सरसाइज आपको आपके लिए ये थोड़ा अटपटा सा होगा, लेकिन ये आपको सांस लेने की प्रक्रिया को बेहतर बनाने में आपकी मदद करेगा। इसके लिए आप एक टेनिस या मालिश गेंद के साथ ऊपरी शरीर की मालिश करें। ये मसाज आपकी मांसपेशियों को ढीला, लंबा और राहत देने में काफी अहम भूमिका निभाता है। इसके लिए आप एक दीवार का सामने खड़े हो जाएं और अपने कॉलरबोन के नीचे मसाज बॉल को रखें। अब आप दीवार के को ओर झुकते हुए धीरे-धीरे गेंद को आगे और पीछे की तरफ घुमाएं। इस प्रक्रिया को करीब 5 मिनट से 10 मिनट तक दोहराएं। ये सांस की प्रक्रिया को तो बेहतर बनाता ही है साथ ही ये आपके कॉलरबोन के दर्द को भी कम करता है।

इंटरकोस्टल रोल (Intercostal Roll)

इंटरकोसल रोल को करने के लिए आप दीवार के साथ थोड़ी दूर पर खड़े हो जाएं, अब आप अपने दीवार के साथ वाले हाथ को ऊपर की ओर उठाएं और हथेली को दीवार पर रखें। अब आप अपनी पसलियों के ऊपर की ओर हाथ के नीचे गेंद रखें। अब आप गेंद को दबाव देते हुए दीवार में झुक जाओ। इसके बाद आप धीरे से आगे पीछे हिलाओ। ये आपकी सांस लेने की स्थिति को बेहतर बनाने का काम करती है और आपको राहत पहुंचाने में मदद करती है। 

इसे भी पढ़ें: सोते समय बेचैनी और सांस लेने में तकलीफ इन 8 रोगों का हो सकता है संकेत, जानें इस समस्या का क्या है इलाज?

स्पिनल ट्विस्ट (Spinal Twist)

स्पिनल ट्विस्ट के लिए आप जमीन पर पीठ के बल सीधे लेट जाएं अब अपने दोनों हाथों को सिर के पास बगल में फैला लें। अब अपने दाहिने पैर के कूल्हों को मोड़ते हुए दूसरे पैर के ऊपर ले आएं, जितना हो सके आप अपने दाहिने पैर को ऊपर की ओर ऊठाएं। ध्यान रहे इस स्थिति में आपको बिलकुल सीधे रहना है। इसके बाद आप धीरे-धीरे गहरी सांस लेने की कोशिश करें और धीरे-धीरे छोड़ते रहें। इस प्रक्रिया को आप करीब 5 से 10 मिनट तक करें और ऐसा ही दूसरे पैर के साथ करें। 

सांस लेने की परेशानी कई गंभीर रोग के लक्षण के तौर पर जानी जाती है, इससे बचने के लिए जरूरी है कि आप अपनी सांस लेने की प्रक्रिया को बेहतर बनाए रखें और स्वस्थ रहें। 

Read More Article On Other Diseases In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK