• shareIcon

डॉक्टर की ये 5 सलाह, हर महिला को रखेगी हमेशा फिट और हिट

महिला स्‍वास्थ्‍य By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Mar 06, 2019
डॉक्टर की ये 5 सलाह, हर महिला को रखेगी हमेशा फिट और हिट

दिन भर के दौरान यहां तक कि सप्ताहों तथा महिनों तक विभिन्न भूमिकाओं को निभाते हुए महिआएं अक्सर अपनी सेहत और स्वास्थ्य के साथ समझौता कर लेती हैं। व्यस्त कार्यक्रम जब जिम्मेदारियों के साथ मिलते हैं तो अक्सर भोजन छूट जाता है, तनाव बढ जाता है और थकान औ

दिन भर के दौरान यहां तक कि सप्ताहों तथा महिनों तक विभिन्न भूमिकाओं को निभाते हुए महिआएं अक्सर अपनी सेहत और स्वास्थ्य के साथ समझौता कर लेती हैं। व्यस्त कार्यक्रम जब जिम्मेदारियों के साथ मिलते हैं तो अक्सर भोजन छूट जाता है, तनाव बढ जाता है और थकान और बिमारियां बढ़ जाती हैं। आज की नारी विश्वास से ओतप्रोत, खुद पर भरोसा रखने वाली और हर चीज में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार है। अंतर्राष्टीय महिला दिवस पर नारीत्व का जश्न मनाते हुए अभिनेत्री प्रियंका चोपडा की मां मधु चोपडा ने टिप्स दिए कि किस प्रकार महिला दिवस और प्रत्येक दिन पर हमें स्वस्थ रहने को प्राथमिकता देनी चाहिए। 

प्रत्येक आहार महत्वपूर्ण है

डॉक्टर मधु चोपड़ा के विश्लेषण के अनुसार, महिलाओं के रूप में, हम हमेशा अपने आप के सबसे अंत में रखते हैं। कोई फर्क नहीं पडता कि हम कितने व्यस्त हैं, भोजन छोडना कभी भी उचित नहीं है क्योंकि प्रत्येक भोजन आपके पोषण और कल्याण के लिए महत्वपूर्ण है। एक कामकाजी महिला और दो बच्चों की मां के रूप में, मैंने यह निधार्रित किया है कि दिन भर स्वास्थ्यवर्धक और पौष्टिक भोजन लिया जाये। मैं सुनिश्चित करती हूॅ कि मैं हमेशा मुठ्ठी भर बादाम का डिब्बा अपने साथ रखूॅ। ये मेरी तेज भूख को शांत कर मेरी भूख को तृप्त करते हैं। हमारे चोपडा हाउस में यह नियम है कि किसी को भी, किसी भी समय भोजन को छोडना या संतुलित आहार के अतिरिक्त अन्य किसी चीज का सेवन नहीं करना चाहिए। इसी प्रकार, किसी के स्वास्थ्य को व्यवस्थित करने और ऊर्जावान रहने के लिए पहला कदम यह है कि प्रत्येक भोजन और नाश्ता पौष्टिक और स्वस्थ होना चाहिए। 

समय पर भोजन करना महत्वपूर्ण है

अनुशासन एक स्वस्थ जीवन जीने की कुंजी है। इसके हिस्से के रूप में, यह आवश्यक है कि ना सिर्फ खाना खाये बल्कि यह भी जरूरी है कि समय पर खाना खाया जाये। अव्यवस्थित दिनचर्या के चलते अक्सर महिलाएं बेसमय खाने और बाद में थकान का अनुभव होने की स्थिति में आ जाती हैं। अनुशासन हम सबके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। डा मधु चोपडा ने कहा, ‘‘हमारे शरीर को नियमित और समय समय पर पोषण की आवश्यकता होती है इसलिए समय पर भोजन करना महत्वपूर्ण हैं। डॉ चोपडा के स्वास्थ्य सलाहों को आगे बढाते हुए पोषणविद् रीतिका समद्दर ने कहा कि प्रतिदिन 23 बादामों का सेवन मोनोअनसैचुरेटेड वसा लेने की अनुमति देता है जो आपके हृदय को अधिक स्वस्थ बनाते हैं। वे आपके अच्छे कोलेस्ट्रॉल स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं और सबसे अच्छी बात यह है कि वे कम कैलोरी उपचार भी करते हैं। तो अगली बार जब आप अपने बिस्किट के डिब्बे की ओर पहुॅचे तो खुद को रोकें और स्वस्थ विकल्पों को प्राथमिकता दें।

इसे भी पढ़ें : किट से प्रेग्नेंसी चेक करते समय रखें ये 5 सावधानियां, मिलेगा सही रिजल्ट

स्मार्ट तरीके से नाश्ता करें और दोहरा खाने से बचें

काम पर लंबा दिन हो या नाश्ते के लिए एक मजबूत लालसा, अस्वास्थ्यकर और कैलोरी घने खाद्य पदार्थों का सेवन करना नियमित रूप से दिनचर्या का हिस्सा बन जाता है। डा मधु चोपडा ने कहा कि मैं अक्सर देखती हॅू कि लोग बोरियत से जूझते हैं या जब उन्हें तनाव होता है। पोषण विशेषज्ञों की बात पर ध्यान दे कि जब आपको लगता है आपने कुछ अस्वास्थ्यकर खाया है तो आपको पानी की एक बोतल बाहर निकाल ले। मैं साधारण नाश्ता पसंद करती हूॅ जैसे गुड या अपनी पसंदीदा हर्ब्स में बादामों को मिला कर खाना। मुझे बादामों को अपने सलाद का हिस्सा बनाना भी अच्छा लगता है। ये ना सिर्फ मुझे एक प्यारा कुरकुरापन देते है बल्कि मेरी भूख को भी शान्त करते हैं।

सैर करना भी है जरूरी

एक फिट शरीर और सक्रिय दिमाग अच्छे स्वास्थ्य का प्रतीक है। अपनेे प्रियजनों के स्वास्थ्य की भलाई सुनिश्चित करने की यात्रा में, खुद के अपने स्वास्थ्य पर ध्यान केन्द्रित करना आवश्क है। डॉ मधु चोपडा ने कहा कि आपको फिटनेस सुनिश्चत करने के लिए आहार या कठिन कसरत की दिनचर्या की आवश्यकता नहीं है। शारीरिक गतिविधि के लिए हर दिन कुछ समय निकाले। यदि आप एक अच्छी चुनौती के लिए तैयार है तो टेनिस या तैराकी जैसे खेल को अपनाएं। न केवल आप फिटर बॉडी बनाए रखेंगें, आपको खुशी भी महसूस होगी।

अपने लिए कुछ समय निकालें

प्रत्येक महिला को दिन में एक बार अपने लिए समय निकाल कर आराम करने और अपने शौक के लिए समय निकालना चाहिए। एक विस्तृत नियोजित छुट्टियां या किताबों की दुकान पर जाने से रोजाना के जीवन की मारामारी से राहत पाई जा सकती है। अच्छे समय के बारे में बताते हुए डॉ मधु चोपडा ने कहा कि अपने दैनिक कार्यक्रम के लिए कुछ समय निकालिए। अपने गैरेज में रखे पेंट के डिब्बे की धूल झंडे, मैराथन में दौडे, लडकियों के साथ छुट्टी पर जाएं, विकल्प अनेक है। आप बहुत प्यार के लायक है। आखिरकार अपनी व्यस्त जीवनशैली से एक ब्रेक ले और खुद पर ध्यान दें।

अपने से छोटों को अच्छी सेहत का उपहार दें

अपने बच्चों को परिपक्व होते देखना, वयस्क बनने की यात्रा का एक हिस्सा है। जैसे-जैस बच्चे बडे होते हैं, समय के साथ उनकी प्रतिबद्वताओं और पोषण संबंधी आवश्यकतओं की सूची बढती जाती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Women Health In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK