• shareIcon

बारिश में बीमारियों से बचाएंगी ये आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

आयुर्वेद By Atul Modi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 20, 2017
बारिश में बीमारियों से बचाएंगी ये आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां

इस दौरान आपको फ्लू, सर्दी, बुखार, एलर्जी और इन्फेक्शन का अधिक खतरा होता है। मानसून में स्वस्थ रहने के लिए आप जड़ी बूटियों का उपयोग कैसे कर सकते हैं

बारिश के मौसम में बीमारियां न फैले ऐसा हो ही नहीं सकता है। मानसून में तेज हवा और बारिश अपने साथ कई बीमारियां लेकर आती हैं। जलवायु परिवर्तन से आपका इम्युनिटी सिस्टम सबसे ज्यादा प्रभावित होता है। इस दौरान आपको फ्लू, सर्दी, बुखार, एलर्जी और इन्फेक्शन का अधिक खतरा होता है। मानसून में स्वस्थ रहने के लिए आप जड़ी बूटियों का उपयोग कर सकते हैं।

त्रिफला

यह आंवला, बहेडा और हरड़ तीन जड़ी बूटियों का मिश्रण है। यह पाचन में सुधार करता है। इसके अलावा आंवला विटामिन सी का बेहतर स्रोत है, जो ठंड की गंभीरता को कम करता है और इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है। बहेडा खांसी के इलाज में सहायक है और छाती को साफ करता है। यह लूज मोशन को कंट्रोल करता है। हरड़ के पाउडर से गरारे करने से गले को आराम मिलता है। ये पाचन को भी बेहतर करता है।

तुलसी

तुलसी के पत्ते बलगम को हटाने और खांसी को कम करने में मदद करते हैं। यह फेफड़ों में वायुमार्ग को फैलाकर सीने की बेचैनी को कम करते हैं। इससे सांस की बीमारी से भी जल्दी राहत मिलती है। इसके अलावा यह इम्युनिटी सिस्टम को भी मजबूत बनाते हैं। इसके लिए आपको रोजाना दो कप तुलसी की चाय पीनी चाहिए। इसके एंटी-बैक्टीरियल तत्व आपके शरीर को वायरस से बचाते हैं। तुलसी का इस्तेमाल बॉडी को नैचुरली डिटॉक्सीफाई करने के लिए भी किया जाता है।

गुडूची (गिलोय)

इसे इम्युनिटी मजबूत करने के लिए जाना जाता है। यह इन्फेक्शन से लड़ने के लिए वाइट ब्लड सेल्स की प्रभावशीलता को बढ़ाने में सहायक है। इससे आपको बीमारियों से जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है।

अश्वगंधा

यह इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत बनाता है। इसके अलावा यह शरीर में ऊर्जा और सहनशक्ति को बढ़ावा देता है। यह तंत्रिका तंत्र को शांत करता है और नींद की गुणवत्ता में सुधार करता है। इतना ही नहीं यह कोलेस्ट्रॉल और ब्लड शुगर को कम करता है। इसे एंटी-मलेरीअल गुणों की वजह से भी जाना जाता है।

 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Herbs In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।