• shareIcon

बच्‍चों के दांतों को सड़ने से बचाने के लिए अपनाएं ये 4 आसान उपाय, दांत हमेशा रहेंगे मजबूत

परवरिश के तरीके By अतुल मोदी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 03, 2019
बच्‍चों के दांतों को सड़ने से बचाने के लिए अपनाएं ये 4 आसान उपाय, दांत हमेशा रहेंगे मजबूत

दांतों का संक्रमण वयस्कों और बच्चों दोनों को प्रभावित कर सकता है। बच्चों और वयस्कों में दांतों की सड़न के विभिन्न कारण और जटिलताएं हैं। लेकिन दांत दर्द, खाने-पीने में दिक्कत, कैविटीज़ और दांतों में सड़न दांतों के संक्रमण का एक परिणाम हो सकता है। आ

दांतों का संक्रमण वयस्कों और बच्चों दोनों को प्रभावित कर सकता है। बच्चों और वयस्कों में दांतों की सड़न के विभिन्न कारण और जटिलताएं हैं। लेकिन दांत दर्द, खाने-पीने में दिक्कत, कैविटीज़ और दांतों में सड़न दांतों के संक्रमण का एक परिणाम हो सकता है। आमतौर पर, यह स्थिति बच्चों में चीनी और चीनी से भरे उत्पादों के बहुत अधिक सेवन के कारण होती है। मिठाई, कैंडी, चॉकलेट, कुकीज़ या डेसर्ट हर बच्चे के पसंदीदा हैं, बच्‍चे ज्‍यादातर इन चीजों को खाने में व्‍यस्‍त रहते हैं। इस तरह के मीठे आहार के सेवन से दांत सड़ने लग जाते हैं। यहां बच्चों में दांतों के संक्रमण के लक्षण और इससे बचाव के तरीके बताए गए हैं।

  • बच्चों में दांतों के संक्रमण के लक्षण
  • दांत दर्द
  • दांत के रंग में बदलाव
  • कुछ खाते या पीते समय दर्द
  • सांसों की बदबू
  • कड़वा स्वाद
  • परिपूर्णता की अनुभूति
  • वजन कम होना
  • बुखार

ये लक्षण आपको बच्चों में दांतों के संक्रमण की पहचान करने में मदद कर सकते हैं। यदि आपको ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं तो आपको जल्द से जल्द अपने डेंटिस्ट के पास जाना चाहिए क्योंकि बच्चों में दांतों की सड़न के पीछे खराब खान-पान ही एकमात्र कारण नहीं है। यह किसी गंभीर बीमारी का शुरुआती लक्षण भी हो सकता है।

Buy Online: Mee Mee Foldable Infant to Toddler Toothbrush (Green) Pack of 3, MRP: 499/- and Offer Price: 237/-

इसे भी पढ़ेः पेरेंट्स की ये 5 बुरी आदतें बच्‍चों के स्‍वास्‍थ्‍य को करती हैं प्रभावित, जानें कैसे दें बच्‍चों को सही परवरिश

बच्चों में दंत समस्याओं को कैसे रोकें?

बच्चों में दांतों के संक्रमण की संभावना हमेशा बनी रहती है क्योंकि वे हमेशा कुछ न कुछ खाते रहते हैं, खासकर चीनी से भरी हुई चीजें। बच्चों में दांतों की सड़न या कैविटी जैसी दंत समस्याओं के इलाज के लिए आपको कुछ घरेलू उपाय नहीं आजमाने चाहिए। इस तरह की चीजों पर दंत चिकित्सक द्वारा ही नजर रखी जानी चाहिए। बच्चों को कुछ भी खाते या पीते समय कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है जो सीधे बच्चे के आहार को प्रभावित करेगा और बच्चे को सभी आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त नहीं होंगे। यदि समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो संक्रमण कुछ गंभीर जटिलताओं को भी जन्म दे सकता है। प्रारंभिक वर्षों के दौरान, अपने बच्चे के दंत स्वास्थ्य की देखभाल करना उनके आगे के जीवन के लिए दांत के समुचित विकास के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़ेंः गर्मी की छुट्टियों में बच्चों को दिलाएं ये 6 ट्रेनिंग, जिंदगी भर आएंगी काम

आपको बच्चों में दंत समस्याओं को रोकने के लिए कुछ बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है।

  • अपने बच्चों को दिन में दो बार ब्रश करने के लिए प्रोत्साहित करें। 
  • अपने बच्चों को भोजन करने के बाद अपना मुंह कुल्ला करने के लिए कहें।
  • अपने बच्चों को बहुत अधिक मीठा खाने की अनुमति न दें। 
  • अपने बच्चों के लिए नाश्ता, दोपहर का भोजन, रात का खाना और नाश्ते का समय ठीक करें।
Read More Articles On Tips For Parents in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK