• shareIcon

ये 3 संकेत पहचानकर ही शुरू करें शिशु को ठोस आहार देना, वजन घटना और दांत दिखना नहीं है संकेत

नवजात की देखभाल By धीरज सिंह राणा , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 12, 2019
ये 3 संकेत पहचानकर ही शुरू करें शिशु को ठोस आहार देना, वजन घटना और दांत दिखना नहीं है संकेत

जन्म के बाद बच्चों का पहला साल बहुत महत्वपूर्ण होता है। अधिकांश स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि शिशुओं को लगभग 6 महीने की उम्र में ठोस भोजन खिलाना शुरू कर देना चाहिए।

सभी माता पिता पहली बार अपने शिशु को ठोस आहार खिलाने के लिए बहुत उत्साहित रहते हैं। शिशु को अक्सर छह महीने के बाद ठोस चीजें देने की सिफारिश की जाती है क्योंकि इस समय बच्चे को केवल मां के दूध से पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिल पाते हैं। शिशु के विकास के लिए आयरन, जिंक, विटामिन ए और विटामिन डी की भी आवश्यकता होती है जो केवल ठोस आहारों से ही प्राप्त हो सकती है। इसलिए, आपको धीरे-धीरे अपने शिशु को ठोस आहार देना शुरु कर देनी चाहिए। लेकिन क्या आप जानते हैं बच्चे को ठोस आहार देने का सही समय क्या है? इसकी शुरुआत करने से पहले यह अवश्य सुनिश्चित कर लें कि आपका शिशु ठोस आहार के लिए तैयार है या नहीं। इसलिए, इससे पहले कि आप इस तरह का कोई भी कदम उठाएं, आइए जानते हैं ये 3 संकेत हैं जिनसे आपको सावधान रहना चाहिए।

वजन बढ़ना

बहुत लोग ऐसा सोचते हैं कि अगर बच्चे का वजन जन्म के समय वजन से दोगुना हो गया है, तो उसे ठोस पदार्थ खिलाने का समय हो गया है। लेकिन ऐसा करना आपके शिशु के स्वसथ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। कई बच्चे केवल 3 से 4 माह में ही अपने जन्म के वजन से दोगुना हो जाते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे ठोस आहार लेने के लिए तैयार हैं। इसलिए, वजन का बढ़ना भोजन के सेवन से कोई लेना-देना नहीं है। इसके सेवन का सबसे अच्छा समय 6 महीने के बाद होता है।

वजन का घटना

शिशु का वजन आमतौर पर शुरुआती महीनों में तेजी से बढ़ता है, उसके बाद उनका वजन थोड़ा कम हो जाता है। यह बहुत से माता-पिता के लिए चिंता का विषय बन जाता है और उन्हें लगता है कि शिशु को पोषण की कमी के कारण वजन कम हो रहा है और वे अपने शिशु को बहुत जल्द ही ठोस आहार खिलाना शुरू का देते हैं। शिशु का वजन 2 से 3 महीने के बाद थोड़ा कम होना सामान्य है और माता-पिता को इसके बारे में ज्यादा चिंता नही करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: ये हैं शिशुओं में ओवरफीडिंग के 5 लक्षण, स्तनपान के दौरान बरतें सावधानी

शुरुआती दांतों का दिखना

कभी-कभी माता-पिता को सलाह दी जाती है कि यदि बच्चे का शुरुआती दांत दिखने लगता है, तो उन्हें ठोस भोजन का सेवन करना उचित होता है। लेकिन दांतों का दिखना इस बात का संकेत नहीं है कि आपका शिशु ठोस भोजन के लिए तैयार है। कुछ बच्चों के दांत जल्दी निकल जाते हैं, जबकि कुछ बच्चों के दांत बहुत देर से निकलते हैं। इसलिए शुरुआती दांतो का दिखना ठोस आहार के सेवन का असली संकेत नहीं है।

इसे भी पढ़ें: क्या आपके बच्चे को रात में आते है बुरे सपने, तो इन 6 आसान टिप्स से दिलाएं उसे छुटकारा

शिशु को ठोस भोजन देने के सही संकेत कुछ इस प्रकार हैं।

  • अगर बच्चा लगभग छह महीने का हो।
  • अगर बच्चा बिना किसी सहारे के बैठ सकता हो।
  • अगर बच्चा अपनी टंग-थ्रस्ट रिफ्लेक्स (Tongue- Thrust Reflex) खो चुका हो।

Read more articles on Parenting in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK