खाना पकाने का सबसे हेल्दी तरीका क्या है? जानें किस तरीके से खाना पकाकर आप रह सकते हैं स्वस्थ

Updated at: Sep 20, 2020
खाना पकाने का सबसे हेल्दी तरीका क्या है? जानें किस तरीके से खाना पकाकर आप रह सकते हैं स्वस्थ

खाना पकाने के दौरान बहुत सारे पोषक तत्व आग, पानी, हवा और तापमान की वजह से नष्ट हो जाते हैं। जानें खाना पकाने का सबसे हेल्दी तरीका कौन सा है।

Anurag Anubhav
स्वस्थ आहारWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Sep 20, 2020

स्वस्थ रहने के लिए हम न जाने कितनी चीजें खाते हैं। तमाम तरह के फलों, सब्जियों, नट्स, अनाजों, मीट, अंडों आदि में ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। लेकिन इनमें से ज्यादातर फूड्स को हम सीधे उनके प्राकृतिक स्वरूप में नहीं खाते हैं, बल्कि उन्हें पकाकर खाते हैं। भोजन को पकाने के कई तरीके हैं, जैसे- फ्राई करना, भूनना, भाप में पकाना, ओवन में पकाना या भट्ठी में पकाना आदि। पकाने के दौरान भोजन के कई पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। ये आपके खाना पकाने के तरीके पर निर्भर करता है कि उसके कितने पोषक तत्व नष्ट हो जाएंगे। अब सवाल ये उठता है कि अगर ऐसी बात है, तो खाना पकाने का सबसे हेल्दी तरीका क्या है, जिससे ज्यादा से ज्यादा पोषक तत्वों को नष्ट होने से बचाया जा सके, ताकि खाना हेल्दी रहे। इस आर्टिकल में हम आपको इसी बारे में बता रहे हैं।

most healthy cooking method

खाना पकाने का सबसे हेल्दी तरीका क्या है?

खाना पकाने के सबसे हेल्दी तरीके का मतलब है कि ऐसा तरीका, जिससे खाना पक जाने के बाद भी उसमें मौजूद ज्यादातर पोषक तत्व नष्ट न हों और खाने वाला उसका लाभ उभा पाए। इस दृष्टि से देखें तो अलग-अलग फूड्स को पकाने के सबसे हेल्दी तरीके अलग-अलग हो सकते हैं। इस संदर्भ में International Journal of Gastronomy and Food Science ने 2016 में एक अध्ययन किया था, जिसमें बताया गया है कि सब्जियों को तेल में फ्राई करने, बेक करने या रोस्ट करके खाने के बजाय भाप में पकाकर खाना सबसे हेल्दी माना जाता है। इस स्टडी के मुताबिक स्टीम (भाप) में पकाने से सब्जियों में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स, कैरोटेनॉइड्स, फॉलेट और साइटोकेमिकल्स आदि सुरक्षित रहते हैं, जबकि दूसरे कुकिंग मेथड्स में इनमें से कई पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं।

इसे भी पढ़ें: सब्जियों के पोषक तत्व बचाने के लिए खाना बनाते समय करें ये 5 काम

वैज्ञानिकों ने बताई खाना पकाने के संदर्भ में ये जरूरी बातें

  • प्याज को पकाकर या बेक करके खाने से उसमें फ्लैवोनॉल्स कंटेंट में बढ़ोत्तरी होती है।
  • बीन्स और मटर को पानी में भिगोकर पकाने के से उसमें मौजूद कई एंटी-न्यूट्रिएंट्स निकल जाते हैं।
  • मटर को उबालने से उसमें फॉलेट कंटेंट सबसे अच्छा रहता है।
  • सब्जियों को नमक पानी में थोड़ी देर भिगोकर रखने और फिर ताजे पानी से स्टीम करके पकाकर खाने से पकाने का समय भी बचता है और प्रोटीन कंटेंट भी बढ़ता है। ये पेट में गैस संबंधी समस्याओं को भी कम कर देता है।

खाना पकाने का कौन सा तरीका है सबसे खराब?

दुनियाभर में खाना पकाने के जिस तरीके को सबसे ज्यादा अनहेल्दी माना जाता है, वो है डीप फ्राइंग यानी तेल में खाने को देर तक तलना। भारत में डीप फ्राई चीजे खाने का चलन बहुत ज्यादा है, खासकर स्नैक्स में, इसलिए भारतीय खानपान में कुछ चीजें बहुत अनहेल्दी मानी जा सकती हैं जैसे- पूरी, कचौड़ी, पकौड़ी, पकौड़ा, समोसा, टिक्की, गोलगप्पे, मट्ठी, पापड़, चिप्स, दही-वड़ा, जलेबी, नमकीन आदि। कुल मिलाकर खाने की चीजों को तेज आंच में गर्म तेल में फ्राई करने से इसमें मौजूद ज्यादातर पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं और फूड कोलेस्ट्रॉल और फैट से भर जाता है, जिसके कारण ये बहुत ज्यादा अनहेल्दी हो जाता है। तेज आंच में फूड्स को पकाने, खासकर तेल में फ्राई करने से कैंसर का खतरा भी बढ़ता है।

worst cooking method

खाना पकाने के अन्य तरीके हेल्दी हैं या अनहेल्दी?

  • सब्जियों के लिहाज से देखें तो स्टीम कुकिंग यानी भाप में पकाकर खाना खाना सबसे ज्यादा हेल्दी है।
  • सब्जियों को पानी में उबालकर खाना भी हेल्दी है, खासकर तब जब आप बेहद कम पानी में उन्हें उबालें और अतिरिक्त पानी को फेकें नहीं।
  • ओवन में हल्की आंच में फूड्स को पकाना भी हेल्दी है। लेकिन बहुत तेज आंच में फूड्स को रोस्ट या ग्रिल करने से फूड्स अनहेल्दी हो जाते हैं।

खाने को हेल्दी बनाने में कुकिंग के अलावा भी कई चीजें हैं महत्वपूर्ण

खाने को हेल्दी बनाने के लिए सिर्फ कुकिंग का तरीका ही महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि कई और चीजें भी शामिल हैं, जैसे- आप खाने की चीजों को कैसे काटते हैं, कैसे पानी में बनाते हैं, कौन सा तेल इस्तेमाल करते हैं या कितने तापमान पर पकाते हैं... आदि। इसलिए हेल्दी कुकिंग के लिए आपको इन सभी बातों का ध्यान रखना चाहिए कि खाना पकाने का तेल हेल्दी होना चाहिए, आंच बहुत तेज नहीं होनी चाहिए, सब्जियां बहुत छोटे टुकड़ों में नहीं कटी होनी चाहिए और खाना सफाई से बनाया जाना चाहिए।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK