क्या हर समय फोन में लगे रहने से मानसिक सेहत पर पड़ता है असर? जानें फोन की आदत से होने वाली परेशानियां

Updated at: Aug 25, 2020
क्या हर समय फोन में लगे रहने से मानसिक सेहत पर पड़ता है असर? जानें फोन की आदत से होने वाली परेशानियां

क्या आप भी हर समय अपने फोन में लगे रहते हैं? हर समय ऑनलाइन रहने से आप के मानसिक स्वास्थ्य व आंखो पर बहुत प्रभाव पड़ सकता है। कैसे? जानते हैं!

Monika Agarwal
विविधWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 25, 2020

मीम्स या मैसेज आपके चेहरे पर मुस्कुराहट तो ला सकते हैं, लेकिन अधिक स्क्रीन समय से आपकी सेहत पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है। ऐसा नहीं है कि सिर्फ बच्चे ही अपना ज्यादा वक्त स्क्रीन के साथ बिता रहे हैं। यदि आंकड़ों की मानें तो वयस्कों का भी अधिकतर समय ऑनलाइन ही बीत रहा है। हर समय फोन में लगे रहने से बच्चों का ब्रेन डैमेज भी हो सकता है। पिछले दशक में स्मार्ट फोन्स की बिक्री बहुत अधिक हुई है। और फोन का प्रयोग करने वाले अधिकतर युवा ही हैं। 2011 में केवल 35 प्रतिशत लोगों के पास मोबाइल था परन्तु 2019 में यह संख्या 81 प्रतिशत हो गई है। अब हर किसी के हाथ में फोन देखने को मिलता है।

talking on phone

सोशल मीडिया पर लोगों की बढ़ोतरी (A surge in screens)

पिछले 15 वर्षों में फेसबुक पर 69 प्रतिशत वयस्कों की संख्या बढ़ गई है। यह अच्छी बात है कि हम जब भी बोर होते हैं तो अपने स्मार्ट फोन से अपना टाइम पास कर लेते हैं। परंतु यदि आप घंटो फोन में लगे रहते हैं, तो यह आप के लिए बहुत ही खतरनाक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: मोबाइल फोन के इस्तेमाल से बढ़ रहे हैं ब्रेन ट्यूमर के मामले, बेहद सामान्य हैं लक्षण

डिप्रेशन और अकेलापन (Screen time and depression)

यदि आप हर समय अकेला महसूस करते हैं तो अकेलापन दूर करने के लिए आप को एक निजी दोस्त या पार्टनर की जरूरत है न कि स्मार्टफोन यस सोशल मीडिया की जो कि आपके डिप्रेशन की जड़ बन सकता है। शोध बताते हैं कि  जो लोग एक दिन में 6 घंटे से ज्यादा फोन या कंप्यूटर या टीवी का प्रयोग करते हैं, वह डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं।

रात में फोन का प्रयोग (Screens at bedtime)

क्या रात को सोते समय स्क्रीन के प्रयोग के खतरों से आप अनभिज्ञ हैं। रिसर्च के मुताबिक ज्यादा देर स्क्रीन का प्रयोग आपके शरीर से निकलने वाले तत्व मेलाटोनिन को पूरी तरह से बनने नहीं देता। जिसकी वजह से आपको एक हेल्दी नींद नहीं आ पाती और नींद ना आने की वजह से सैकड़ों मानसिक और शारीरिक परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं।

using mobile phone

स्क्रीन के साथ स्वस्थ रहें (Get empowered around screens)

कई वयस्क सप्ताह में 5 दिन प्रति दिन 8 या अधिक घंटे काम के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। हम कैसे सुनिश्चित कर सकते हैं कि हमारा स्क्रीन टाइम हमारे स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर कर रहा है, या बहुत कम। जरूरी है कि नकारात्मक प्रभावों को कम करने की दिशा में कदम बढ़ायें। एक्सपर्ट्स के अनुसार सारे दिन काम के दौरान छोटे-छोटे ब्रेक लेने से आपके स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता।

इसे भी पढ़ें: सावधान! आपका मोबाइल फोन आपको दे सकता है ये 5 गंभीर बीमारियां

गरदन का दर्द ( Neck pain)

यदि आप हर समय फोन या लैपटॉप या फिर किसी अन्य गैजेट पर लगे रहते हैं तो जैसे ही आप अपनी गरदन अपने गैजेट की ओर झुकाते हैं तो आप की स्पाइन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। यदि आप इस के आदी हैं तो हो सकता है आप पूरा दिन ही अपनी गरदन नीचे की ओर झुका कर रखते हों। परंतु कुछ समय के लिए अपनी गरदन को उपर की ओर भी रखें ताकि उसे थोड़ा खिंचाव महसूस हो।

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK