• shareIcon

    शोध: गर्भ से ही चेहरा पहचाने की कला सीखता है बच्‍चा!

    गर्भावस्‍था By Atul Modi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 14, 2017
    शोध: गर्भ से ही चेहरा पहचाने की कला सीखता है बच्‍चा!

    विशेषज्ञों ने देखा कि गर्भस्थ शिशु चेहरा पहचानने की कला सीखने लगता है। लैंकास्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 4डी स्कैन की मदद से यह अध्ययन किया है।

    बच्‍चा जन्‍म से पहले ही अपनी मां के गर्भ से कई चीजें सीखने लगता है। चेहरा पहचानने की कला भी वहीं रहकर सीखता है। एक नए रिसर्च के मुताबिक, विशेषज्ञों ने देखा कि गर्भस्थ शिशु चेहरा पहचानने की कला सीखने लगता है। लैंकास्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने 4डी स्कैन की मदद से यह अध्ययन किया है।

    इसे भी पढ़ें: ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली शाकाहारी मांओं के लिए वरदान हैं ये फूड!

    विशेषज्ञों ने गर्भ में पल रहे शिशु की रोशनी पर प्रतिक्रिया के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला है। उन्होंने देखा कि गर्भ से छन कर आ रही रोशनी में चेहरे की आकृति बनने पर शिशु की भाव-भंगिमाएं अलग तरह की थीं। चेहरे की आकृति नहीं बनने पर उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस अध्ययन से भ्रूण के दृष्टि विकास का क्रम समझने में आसानी होगी। शोध के दौरान विशेषज्ञों ने रोशनी की मदद से 34 हफ्ते के भ्रूण को मां के गर्भ में बिंदुओं की मदद से आंखें या चेहरे की आकृति दिखाने का प्रयास किया। उन्होंने देखा कि चेहरे की आकृति बनने पर भ्रूण ने सिर हिलाया और उस आकृति पर गौर किया।

     

    कोई अन्य आकृति बनने पर शिशु की कोई प्रतिक्रिया नहीं थी। इस रिसर्च को करंट बायोलॉजी पत्रिका में प्रकाशित किया गया है। वैज्ञानिकों की मानें तो भ्रूण का मस्तिष्क विकास चेहरे पहचानने की तर्ज पर होता है। इसलिए वह दूसरी तरह की आकृतियों पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देता है।

     

    ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

    Read More Articles On Pragnancy In Hindi

     

     
    Disclaimer:

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।