Tata CRISPR: टाटा ग्रुप ने लांच की देश की पहली कोरोना जांच किट, सस्‍ती होने के साथ कम समय में देगी रिजल्‍ट

Updated at: Sep 21, 2020
Tata CRISPR: टाटा ग्रुप ने लांच की देश की पहली कोरोना जांच किट, सस्‍ती होने के साथ कम समय में देगी रिजल्‍ट

भारत में Tata Group की Corona Crispr test किट लॉन्‍च हुई है। यह किट काफी कम समय में कोरोना वायरस की जांच कर रिपोर्ट बता देगी।   

Atul Modi
लेटेस्टWritten by: Atul ModiPublished at: Sep 21, 2020

कोरोना वायरस के खतरे को कम करने के लिए लगातार देश और दुनिय के वैज्ञानिक शोधकार्य में जुटे हैं। हालांकि, कोरोना को खत्‍म करने या उसके संक्रमण को रोकने का अभी तक उपाय ढूंढा नहीं जा सका है। मगर एक खबर ने कोरोना से जारी जंग को आसान बनाने का काम किया है। दरअसल, देश की सबसे भरोसेमंद कंपनी टाटा ग्रुप ने भारत की पहली कोरोना की जांच किट बनाई है। कंपनी के शोधकर्ताओं ने कोरोना क्रिस्पर टेस्‍ट (Corona CRISPR test) सिस्टम लॉन्च किया है। जिसे वैज्ञानिकों ने सीएसआईआर-इंस्‍टीट्यूट ऑफ जेनॉमिक्‍स एंड इंटिग्रेटिव बायोलॉजी (CSIR-IGIB) के साथा मिलकर बनाया है। वहीं, टाटा क्रिस्पर टेस्‍ट को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने इस नए कोविड-19 टेस्‍ट 'Feluda' के व्‍यवसायिक उपयोग की मंजूरी दे दी है।

Tata-CRISPR

टाटा ग्रुप के अधिकारियों की मानें तो क्रिस्पर टेस्‍ट (CRISPR test) अभी तक के सबसे ज्‍यादा भरोसेमंद RT-PCR टेस्‍ट के बराबर ही सटीक परिणाम देगा। एक और खासियत यह भी है कि क्रिस्‍पर टेस्‍ट की कीमत काफी कम होगी और जांच व परिणाम में काफी कम समय लगेगा। ये जांच प्रणाली SARS-CoV-2 वायरस के जेनॉमिक सीक्‍वेंस का पता लगाने के लिए स्वदेशी CRISPR तकनीक का प्रयोग करता है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस तकनीक का इस्‍तेमाल भविष्य में दूसरी महामारियों की जांच में वायरस का पता लगाने में भी किया जा सकेगा। 

टाटा समूह के मुताबिक, Tata CRISPR Test CAS-9 प्रोटीन का उपयोग करने दुनिया का पहला ऐसा टेस्‍ट है, जो सफलतापूर्वक कोरोनावायरस महामारी को फैलाने वाले वायरस की पहचान कर सकता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना काल में घर के बुजुर्गों का रखें खास ख्‍याल, एक्‍सपर्ट से जानिए उन्‍हें हेल्‍दी और फिट रखने के उपाय

क्‍या है स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का दावा

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय का दावा है कि टाटा ग्रुप ने CSIR-IGIB और ICMR के साथ मिलकर CRISPR test के रूप में 'मेड इन इंडिया' प्रोडक्‍ट विकसित किया है। यह जांच किट काफी सुरक्षित, सस्ती, सुलभ और विश्‍वसनीय है। टाटा मेडिकल एंड डायग्नोस्टिक्स लिमिटेड के सीईओ गिरीश कृष्णमूर्ति का कहना है कि COVID-19 महामारी से लड़ने के लिए Tata CRISPR टेस्ट काफी मददगार साबित होगी।  टाटा क्रिस्‍पर टेस्‍ट का व्यावसायीकरण देश में रिसर्च एंड डेवलपमेंट की प्रतिभा को प्रदर्शित करता है, जो ग्‍लोबल हेल्‍थकेयर सर्विस और साइंटिफिक रिसर्च की दुनिया में भारत के योगदान को बदलने में सहयोग कर सकता है।

Read More Health News In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK