तांबे के गिलास में पानी के सिवा इन 4 चीजों को पीना आपकी सेहत के लिए बन सकता है खतरा, होंगे चौंकाने वाले नुकसान

Updated at: Aug 14, 2020
तांबे के गिलास में पानी के सिवा इन 4 चीजों को पीना आपकी सेहत के लिए बन सकता है खतरा, होंगे चौंकाने वाले नुकसान

तांबे के गिलास में पानी पीने के फायदे के बारे में आपने सुना होगा लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन चीजों को पीने से आपकी सेहत बिगड़ सकती है। 

Jitendra Gupta
विविधWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Aug 14, 2020

आपने अपने बड़े-बुजुर्गों को कई बार ये कहते सुना होगा कि तांबे के बर्तन में रात भर पानी को रखकर सुबह उठने के बाद सबसे पहले पीना पर कई स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। शायद ऐसा पहले भी आपने किया हो और आपको उसका फायदा भी मिला । लेकिन आपने कभी सोचा है कि आपका दिमाग आपको भटकाने का काम कर सकता है। जी हां, आपके दिमाग में ये चीज आई होगी कि जब तांबे के बर्तन में पानी पीना इतना फायदेमंद है तो दूसरी चीजें पीने से कितना फायदा मिलता होगा। अगर आप भी ऐसा सोचते हैं तो जरा सावधान हो जाइए। तांबे के बर्तन में पानी पीना सेहत के लिए बहुत स्वास्थ्यवर्धक होता है लेकिन कुछ ऐसी भी चीजें हैं जिन्हें हमें तांबे के बर्तन में रखकर भूलकर भी नहीं पीनी चाहिए। आप नहीं जानते लेकिन खाने-पीने की कुछ ऐसी चीजें भी हैं, जिन्हें तांबे के बर्तन में रखकर सेवन करना आपकी सेहत के लिए किसी खतरे से कम नहीं है। इस लेख में हम आपको ऐसी 5 चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिन्हें कभी भी तांबे के बर्तन में रखकर नहीं पीना चाहिए। तो आइए जानते हैं कौन सी हैं ये चीजें।

tamba 

दूध, दही जैसे डेयरी उत्पाद

दूध, पनीर या फिर दही जैसे डेयरी उत्पाद आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद माने जाते हैं। यूं तो दही में पाए जाने वाले कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, विटामिन डी, विटामिन B12, विटामिन B6 और कोलेस्ट्रॉल जैसे फायदेमंद पोषक तत्व हमारे शरीर को बीमारियों से दूर रखने में मदद करते हैं। लेकिन शायद आप नहीं जानते होंगे कि अगर दही को तांबे के बर्तन में रखा जाए और इसका सेवन किया जाए तो ये आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। दही में पाए जाने वाले मिनरल्स और विटामिन्स तांबे के साथ प्रतिक्रिया करते हैं जिसके कारण आपक फूड पॉइजनिंग का शिकार हो सकते हैं। साथ ही आपको घबराहट या जी मचलाने जैसी समस्याएं भी हो सकती है।  इसलिए भूलकर भी दही से बनी चीजों को कभी भी तांबे के बर्तन में नहीं पीना चाहिए।

इसे भी पढ़ेंः शरीर में जब हो ये 2 दिक्कतें तो भूलकर भी रात को सोने से पहले न पिएं हल्दी वाला दूध! बिगड़ सकती है आपकी तबीयत

नींबू पानी

बहुत से लोग सुबह उठकर नींबू पानी पसंद करते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं नींबू पानी को कभी भी तांबे के बर्तन में नहीं पीना चाहिए। दरअसल नींबू पानी या फिर नींबू को किसी भी रूप में अगर आप तांबे के बर्तन में रखते हैं, तो इसमें मौजूद एसिड तांबे के साथ रिएक्ट करता है, जो आपकी सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। तांबे के बर्तन में नींबू पानी पीने से आपके पेट में गैस बनने, पेट में दर्द जैसी समस्या हो सकती है।

pani

अचार जैसी खट्टी चीजें

तांबे के बर्तन में आपको किसी भी तरह की खट्टी चीजों को रखने से बचना चाहिए। तांबे के बर्तन में अचार जैसी खट्टी चीजों को रखने के बाद इन चीजों को खाने से शरीर में कमजोरी और आलस जैसी परेशानियां होने लगती हैं। ध्यान रखें कि अगर आप लंबे समय तक तांबे में रखी चीजें खाते हैं तो ये आपकी सेहत के लिअ और भी ज्यादा हानिकारक हो सकती हैं और आपका शरीर अलग तरह की कमजोरी महसूस कर सकता है। तांबे के बर्तन में भूलकर भी सिरके वाला अचार नहीं रखना चाहिए क्योंकि ये मेटल के साथ रिएक्शन करता है, जिससे आपको कॉपर पॉइजनिंग हो सकती है ।

इसे भी पढ़ेंः 100 में से 90 लोग नहीं जानते होंगे 'हल्दी वाले दूध' की ये खास बात, एक्सपर्ट से जानें दूध पीने का सही तरीका

छाछ

खाना खाने के बाद छाछ पीना सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद माना जाता है लेकिन अगर आप तांबे के बर्तन में डालकर छाछ पीते हैं तो इसे आज ही बंद कर दें क्योंकि छाछ में ऐसे गुण होते हैं, जो तांबे के साथ मिलकर रिएक्ट करते हैं और सेहत के लिए हानिकारक होते हैं। तांबे के बर्तन में छाछ पीने से आप इसके सभी गुणों को खो सकते हैं। इसलिए ऐसा न करें।

Read more articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK