पैरों में संक्रमण पैदा कर सकता है बारिश का पानी, इन 7 तरीकों से करें बचाव

Updated at: Jul 07, 2018
पैरों में संक्रमण पैदा कर सकता है बारिश का पानी, इन 7 तरीकों से करें बचाव

बरसात के मौसम में अपने पैरों को ठीक रखने के लिए कुछ एहतियात बरतनी जरूरी हैं। इस मौसम में थोड़ा सा समय अपने पैरों को देंगे, तो आपके पैर खूबसूरत बने रहेंगे।

Atul Modi
फैशन और सौंदर्यWritten by: Atul ModiPublished at: Jul 07, 2018

बारिश की रिमझिम फुहारें जहां तपती गर्मी से निजात दिलाती हैं, वहीं यह मौसम अपने साथ कई परेशानियां भी लेकर आता है। इस मौसम में त्वचा संबंधी कई छोटी-मोटी तकलीफें हो सकती हैं। इनमें से एक आम समस्या है पैरों में संक्रमण होना। बरसात के मौसम में अपने पैरों को ठीक रखने के लिए कुछ एहतियात बरतनी जरूरी हैं। इस मौसम में थोड़ा सा समय अपने पैरों को देंगे, तो आपके पैर खूबसूरत बने रहेंगे।

Monsoon in Hindi

पैरों से जुड़ी समस्याएं

  • बरसात में भीगने के कारण आपके पैरों की उंगलियों में फंगस इन्फेक्शन भी हो सकता है।
  • बारिश में जगह-जगह पानी जमा हो जाता है और कई बार चाहे-अनचाहे आपको उसमें पैदल चलना पड़ता है। ऐसे में आपके पैरों में पत्थर या अन्य किसी नुकीली चीज से चोट लगने की संभावना बनी रहती है।
  • बारिश के दिनों में कीड़े भी बाहर निकल आते हैं, जिनकी वजह से आपके पैरों में संक्रमण सकता है।

पैरों का बचाव

  • बरसात में अपने पैरों की सफाई का खास ख्याल रखें। पैरों को साबुन और पानी से अच्छे से धोएं और पानी में डेटॉल या सेवलॉन जरूर मिलाएं।
  • पैरों को धोने के बाद तौलिए से अच्छे से सुखाकर उन पर पॉउडर छिड़कें और उसके बाद ही जूते या चप्पल पहनें।
  • पैरों को हमेशा सूखा रखें।
  • बारिश के समय नंगे पांव बिल्कुल ना चलें। इससे पैरों में किसी भी तरह का घाव नहीं होगा। साथ ही वायरस व बैक्टीरिया से भी बचाव होगा।
  • बरसात में अपने मोजों को रोजाना बदले। जहां तक हो सके, सूती मोजे ही पहने। गीले मोजों को बदलने में देरी ना करें। 
  • बरसात के मौसम में अगर पैर में चोट लग जाए, तो डॉक्टरी सलाह लेने में कोताही न बरतें। अगर आपके पैर में पहले से भी कोई जख्म है तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं।
  • ऐसे मौसम में खुले जूते पहनें या ऐसी चप्पलें पहनें जो आसानी से सूख जायें।

Foot in Monsoon in Hindi

पैडीक्योर कैसे करें

पैडीक्योर करने के लिए सबसे पहले पानी को हल्का गरम कर लें।  इसमें आधा चम्मच हाइड्रोजन परऑक्साइड या ब्लीच एक्टीवीटर मिलाएं। इसे अच्छी तरह मिलाकर 5 से 6 मिनट तक इसमें पैरों को डूबा कर रखें। इसके बाद पैरों को अच्छी तरह पोछ लें। पैर पर स्क्रब लगा कर 5 मिनट के लिए छोड़ दें। नाखून में अच्छी तरह कोल्ड क्रीम लगाएँ और क्यूटीकल ब्रश की सहायता से साफ करें। इसके बाद नाखून काट कर फाइल कर लें। अब पैरों से स्क्रब को अच्छी तरह रगड़ कर साफ करें। अब पैरों पर कोई भी कोल्ड क्रीम लगाकर 3 से 5 मिनट मालिश करें। आखिर में फ्रूट पैक लगा लें।

इसे भी पढ़ें:  3 तत्‍वों से बना मास्‍क त्‍वचा पर उम्र के असर को करेगा बेअसर

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles on Feet Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK